होली पर भूलकर भी न करें ये 11 काम - वरना लक्ष्मी रूठ जाएगी

By: Acharya Rekha Kalpdev | 15-Mar-2024
Views : 702
होली पर भूलकर भी न करें ये 11 काम - वरना लक्ष्मी रूठ जाएगी

होली का दिन करीब है। होलाष्टक 17 को है, बस इसी दिन से शुभ कामों पर रोक लग जाएगी। फिर रंग वाली होली तक नया काम, शादी, नामकरण, गृह-प्रवेश, मुंडन, संस्कार कार्यों पर प्रतिबन्ध रहेगा। होली पर नुकसान से बचना हो तो कुछ काम इस दिन कभी नहीं करने चाहिए। वरना सारा साल पछताना पड़ सकता है। होली पर अपने दोषों, अवगुणों और बुराइयों को होली की अग्नि में जला देना चाहिए। इस साल होलिका दहन 24 को है और होली के रंग 25 को बिखरेंगे। होली का मौका किस्मत को चमकाने का मौका होता है। होली पर क्या करना चाहिए और क्या बिल्कुल नहीं करना चाहिए? क्या आप जानते है कि होली पर भूलकर भी कुछ काम नहीं करने चाहिए, वरना सारी धन-समृद्धि होली के साथ चली जाती है। नहीं, जानते तो हम आपको आज बताते है -

बृहत् कुंडली में छिपा है, आपके जीवन का सारा राज, जानें ग्रहों की चाल का पूरा लेखा-जोखा

चौराहे के मध्य खड़े न हों

जहाँ होलिका दहन के लिए होली लगाई गई हो, जहां के चौराहे पर ग्रुप बनाकर गपशप नहीं करनी चाहिए। युवावर्ग को इससे बचना चाहिए। चौराहे पर इस दिन उपाय और टोटकों के वस्तुएं छोड़ी जाती है। जिनमें नकारात्मक शक्तियां होती है। इनसे बचना चाहिए। चौराहे के बीच निकलते बीच से न निकाल कर किनारे से निकलना सही रहता है।

मांस मदिरा का सेवन न करें

होली शुभ पर्व है। शुभ पर्व की शुभता खंडित न हो , इसलिए कभी भी होलिका पूजन के दिन मांस मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। होलिका को अग्नि के समय देवी देवता के जैसे भोग लगाया जाता है, इस दिन मीठा भोग बनाकर होलिका देवी को अर्पित करना चाहिए। उसी भोग को घर के सभी सदस्य मिलकर ग्रहण करें।

धन उधार न दें

सुख-समृद्धि के मौके पर धन उधार देने से बचें। उधार में धन देकर, अपने घर कि सुख समृद्धि को दान न करें। होलिका पर्व पर दिए गए उधार धन के साथ सारे साल का धन धन्य भी उधार देने वाले व्यक्ति के साथ चला जाता है। इस दिन भूलकर भी धन उधार में देने की गलती नहीं करनी चाहिए। होली पर पैसे उधार देने से लक्ष्मी रूठ जाती है।

Also Read: होली 2024 पर ग्रहों का बन रहा है बड़ा महायोग - इन राशि वालों को मिलेगा बड़ा लाभ

बुजुर्गों का अपमान न करें

घर के बड़े-बुजुर्ग घर की समृद्धि होते है। जिस घर में बड़ों का मान रखा जाता है, उस घर में लक्ष्मी बनी रहती है। घर परिवार आगे बढ़ता है, उन्नति के रास्ते खुलते है। बुजुर्गों के आशीर्वाद से सफलता के नए रास्ते सामने आते है। पर्व पर बुजुर्गों का आशीर्वाद जरूर लेना चाहिए। उनके अपमान से तो पर्व पर बचना ही चाहिए। होली पर बुजुर्गों का आशीर्वाद लें, उनकी सेवा करें, सौभाग्य दौड़ कर आएगा आपके पास।

दूसरों के घर भोजन न करें

पर्व पर थोड़ा बहुत किसी के यहाँ मेल मिलाप पर चाय नाश्ता खाया जा सकता है। पर होलिका की रात अपने घर रहना चाहिए और रात का खाना भी अपने घर पर परिवार के साथ ही करना चाहिए। इस दिन भूलकर भी घर से बाहर नहीं रहना चाहिए। दूसरों के घर इस पर्व पर रात का खाना खाना शुभ नहीं रहता। इससे रोग-शोक बढ़ते है, यदि आप होलिका दहन पर दूसरों के घर रात्रि भोजन करते है।

नव-वरवधू जलती होली का दर्शन न करें

दाम्पत्य जीवन को सुखी चाहते है तो नवविवाहित वर-वधु कभी भी ससुराल में जलती होली का दर्शन न करें। नया नया वैवाहिक जीवन शुरू हुआ हो, और अभी विवाह को एक साल नहीं हुआ हो, तो वर को अपने ससुराल की जलती होली नहीं देखनी चाहिए, ऐसे ही वधू को भी इस दिन होली पर ससुराल में नहीं रहना चाहिए। वधु अपने ससुराल में जलती होली न देखे, इसलिए विवाह के बाद की पहली होली पर वधू के अपने ससुराल में रहने की परमार नहीं है। वैवाहिक जीवन में विघ्न और अशुभता से बचने के लिए यह जरुरी है।

Also Read: होली धुलेंडी पर्व 2024: गुलाल बनाने की विधि और महत्व

सिर ढक कर ही चौराहों से निकले

होलिका दहन के दिन किसी चौराहे से निकलना पड़े तो सिर किसी कपडे से ढक लें। इस दिन हवा में बुरी शक्तियां एक्टिव होते है। जो खुले सिर से शरीर में प्रवेश कर जाती है। भूत प्रेत और नेगेटिव शक्तियों से होली पर बचकर रहना चाहिए। यह दिन परा शक्तियों से बचने का दिन होता है। रात में किसी काम से बाहर जाना पड़े तो खुले सिर बाहर नहीं जाना चाहिए।

पुत्र संतान वाले होलिका दहन न करें

जिन दम्पतियों के घर पुत्र संतान हो चुकी हो, या पुत्र संतान के जन्म को एक साल नहीं हुआ है, उस पिता को भूलकर भी होलिका दहन नहीं करना चाहिए। ऐसा करना अशुभ होता है। होली पर ऐसे पिताओं को डांडा गाड़ने का काम जरूर करना चाहिए।

होलिका दहन पर होली मिलन नहीं करना चाहिए

होलिका दहन जिसे कुछ लोग छोटी होली भी कहते है, पर रंग उत्सव नहीं खेलना चाहिए। होलिका दहन के दिन होलिका मिलन करना अशुभ होता है। यह रिश्तों को ख़राब कर सकता है। होलिका दहन से एक दिन पहले या बाद में होली मिलन रंग खेले जा सकते है। होली मिलन के लिए एक दूसरे के घर भी जाया जा सकता है, बस छोटी होली पर जाने से बचना चाहिए।

Also Read: Kab Hai Holi 2024 - New Beginnings According To Your Zodiac Sign

शुभ काम शुरू करने से बचें

होली दहन के पर्व पर नए घर में प्रवेश, अन्नप्राशन, उपनयन और नए व्यापार शुरू नहीं करना चाहिए। १६ संस्कार और शुभ कार्य शुरू करने के लिए होलिका दहन का दिन शुभ नहीं होता है। होलिका दहन पर्व है पर शुभ कार्य के मुहूर्त का इस दिन में अभाव होता है। अशुभ मुहूर्त काल में नया शुरू करने से बचना चाहिए। अन्यथा काम से जुड़ा लक्ष्य अधूरा रहता है या उसमें बाधा आती है।

शमशान में जाने से बचें

होलिका पर्व उपाय और टोटकों का दिन होता है। इस दिन शमशान भूमि और सूनसान स्थान पर अकेले जाने से बचना चाहिए। इस दिन तंत्र और तांत्रिक क्रियाएं बहुत अधिक होती है। अशुभ शक्तियां भी एक्टिव होती है, इनके बचने के लिए सिर कवर कर रखे, और घर में रहें।


Previous
Navratri 2024: नवरात्रि पर देवी पूजन की उत्तम विधि क्या है? वर्ष 2024 में चैत्र नवरात्र पूजन मुहूर्त

Next
क्या ज्योतिषीय उपाय सचमुच काम करते हैं? जानिए ज्योतिष उपायों को लेकर सवाल - सवाब