होली 2024 पर ग्रहों का बन रहा है बड़ा महायोग - इन राशि वालों को मिलेगा बड़ा लाभ | Future Point

होली 2024 पर ग्रहों का बन रहा है बड़ा महायोग - इन राशि वालों को मिलेगा बड़ा लाभ

By: Acharya Rekha Kalpdev | 04-Mar-2024
Views : 1008
होली 2024 पर ग्रहों का बन रहा है बड़ा महायोग - इन राशि वालों को मिलेगा बड़ा लाभ

Holi 2024: इस वर्ष होली-धुलैंडी मार्च 25, 2024, सोमवार की रहेगी। इस पर्व को कई नामों से जाना जाता है। कुछ लोग इसे रंगों वाली होली, धुलेंडी, फगुआ, दोल भी इसे कई क्षेत्रों में कहा जाता है। होली पर्व फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है, रंगोत्सव मिलान, हर्षोउल्लास और उमंग का पर्व है। होली का पौराणिक महत्व है और मुगलकाल में भी होली मनाने के संदर्भ मिलते है। अकबर, जहांगीर, शाहजहां भी होली खेलते है। यहाँ तक कि अंतिम मुग़ल शासक बहादुर शाह जफ़र के द्वारा होली खेलने का वर्णन मिलता है। इस पर्व पर दरवाहों पर भी होली के गीतों का आयोजन किया जाता है। जहाँ श्रीमद्भागवत गीता में भगवान् श्रीकृष्ण और राधा, राधा की सखियों के साथ होली खेली थी। तब से ही होली का रंगोत्सव मनाये जाने का प्रचलन प्रारम्भ हुआ। वर्ष 2024 की होली पर ग्रह गोचर की विशेष स्थिति, योग, युति का निर्माण हो रही है।

25 मार्च 2024 पर ग्रह स्तिथि - गुरु मेष राशि, राहु-सूर्य-बुध युति योगं मीन राशि, शनि-मंगल-शुक्र कुम्भ राशि युति योग, चंद्र-केतु युति योग कन्या राशि। इस दिन नौ ग्रह चार भावों में सिमट आये है। जिसमें गुरु सिर्फ अकेले मेष राशि में गोचर करेंगे, बाकि मीन राशि में तीन ग्रह, कुम्भ राशि में तीन ग्रह और कन्या राशि में दो ग्रहों कि युति हो रही है।

बृहत् कुंडली में छिपा है, आपके जीवन का सारा राज, जानें ग्रहों की चाल का पूरा लेखा-जोखा

मेष राशि स्थित गुरु पर शनि की तीसरी दृष्टि

होली के दिन गुरु ग्रह मेष राशि में गोचर कर रहे होंगे, गुरु ग्रह पर शनि की तीसरी दृष्टि रहेगी, इससे मेष राशि वाले इस दिन बहुत प्रसन्न दिखाई नहीं दे रहे है। कुछ निराशा और ऊर्जा की कमी इस दिन बनी हुई है, होली के दिन शनि के साथ मंगल और शुक्र भी कुम्भ राशि में गोचर कर रहे होंगे। अत: शनि के प्रभाव में मंगल और शुक्र का प्रभाव भी रहेगा। मेष राशि वालों को चाहिए कि इस दिन निराशा, उदासी को उतर फेंके और उत्सव का आनंद लें। मेष राशि के लिए यह दिन दुःख को भुलाकर ख़ुशी मनाने का है। होली के दिन हनुमान जी के चरणों में लाल गुलाल लगाकर होली कि शुरुआत करें।

वृषभ राशि मंगल और केतु

आपकी राशि पर होली के दिन मंगल और केतु का प्रभाव बना हुआ है। मंगल की चतुर्थ दृष्टि और केतु की नवम दृष्टि आपकी जन्म राशि पर इस दिन आ रही है। दोनों के प्रभाव से इस दिन आप क्रोध से बचें। और वाणी का प्रयोग सावधानी के साथ करें। किसी को चुभने वाले शब्दों के प्रयोग से बचें। अन्य पक्ष से दिन शुभ बना हुआ है। पर्व की शुरुआत आप भगवन श्रीकृष्ण और माता लक्ष्मी जी को हरे रंग का गुलाल लगा कर करें।

मिथुन राशि

होली के दिन आपकी राशि पर किसी ग्रह का प्रभाव नहीं आ रहा है। आपका राशि स्वामी बुध अशुभ ग्रहों के अक्ष में गोचर कर रहा है, इसलिए इस दिन तनाव से बचें। प्रसन्न रहें, अपने स्नेहजनियों के साथ गीत संगीत के साथ होली का पर्व मनाएं। जीवन के अन्य पक्ष से दिन शुभ बना हुआ है। आप अपनी होली की शुरुआत भगवान् श्रीगणेश को हरे रंग का गुलाल लगाकर होली की शुरुआत करें।

कर्क राशि राहु का प्रभाव

आपकी राशि पर राहु का प्रभाव आ रहा है। राहु के प्रभाव से आप में संदेह और भ्रम की स्थिति रहेगी। आप पर इस दिन अन्य किसी ग्रह का कोई प्रभाव नहीं आ रहा है, चंद्र का गोचर भी इस दिन आपके लिए शुभ बना हुआ है। होली का पर्व आपके लिए आनंददायक रहेगा। पर्व के दिन मित्रों और सगे-सम्बन्धियों से मेल मिलाप के योग इस दिन बने हुए है। भगवान् शिव को लाल, या सफ़ेद रंग का गुलाल लगाते हुए होली का पर्व बनाएं। होली के दिन अपने रिश्तेदारों के पास जाएँ, एक दूसरे को उपहार दें, और होली का त्यौहार मनाएं।

सिंह राशि शनि, मंगल और शुक्र की दृष्टि का प्रभाव

होली के दिन आपकी राशि पर शनि, मंगल और शुक्र की दृष्टि का प्रभाव रहेगा। शनि-मंगल का प्रभाव आपके व्यवहार में आवेश पर नियंत्रण रखें। ऊर्जा और आवेश के कारण रिश्ते बिगड़ सकते है। समझ बूझ से रिश्तों को संभाला जा सकता है। आर्थिक लाभ और नई खरीदारी के लिए दिन की शुभता बनी बनी हुई है। दिन को शुभ करने के लिए होली कि शुरुआत विष्णु जी को ऑरेंज रंग का गुलाल लगाएं।
कन्या राशि में चंद्र-केतु युति योग

इस होली पर कन्या राशि में चंद्र और केतु की युति का योग बन रहा है। इस युति पर पर राहु, सूर्य, बुध का सप्तम दृष्टि सम्बन्ध और मंगल का अष्टम दृष्टि का सम्बन्ध आ रहा है। इस दिन कन्या राशि पर छह ग्रहों का प्रभाव आ रहा है। इसलिए यह दिन कन्या राशि के लिए भी खास रहने वाला है। थोड़ा क्रोध, थोड़ी शरारत, ईगो, और बचपना इस दिन आपके स्वभाव में देखा जा सकता है। होली का पर्व है भी शरारत और बचपने का दिन। सारी दुनिया की बातों को भूलकर इस दिन खूब रंग खेले, और बीती हुई बातों को भूलकर इस दिन को जी भर कर जियें। होली कि शुरुआत भगवान् श्रीगणेश को हरे रंग का गुलाल लगाकर करें, इससे आप पर गणेश जी का आशीर्वाद बन रहेगा।

कुम्भ राशि में शनि-मंगल-शुक्र युति

होली के दिन कुम्भ राशि में शनि-मंगल और शुक्र तीन ग्रह युति योग बन रहा है, इसके प्रभाव से कुम्भ राशि वालों में क्रोध, फ़्रस्ट्रेशन, व्यवहार में शुष्कता का भाव रहेगा। शनि मंगल की युति के फल शुभ नहीं कहे गए है, इसलिए इस दिन क्रोध का त्याग करें, और विनम्रता के साथ सबसे साथ होली खेले। पर्व पर किसी भी तरह के विवाद से बचें। मेल मिलाप के लिए यह दिन अतिशुभ बना हुआ है। शुक्र-मंगल कि भी यहाँ युति हो रही है, अत: महिलाओं का इस दिन सम्मान करें,और अशिष्टता से दूर रहे। आप अपनी होली की शुरुआत शनिदेव को नीला गुलाब लगाकर करें, इससे शनि की शुभता आपको प्राप्त होगी।

मीन राशि में राहु, सूर्य और बुध की युति

इस बार होली का पर्व इसलिए भी खास रहने वाला है, इस दिन मीन राशि में राहु, सूर्य और बुध एक साथ गोचर करने वाले है। आपकी राशि से सातवें भाव पर भी केतु और चंद्र की युति इस दिन हो रही है। अत: आपकी राशि पर एक साथ पांच ग्रहों का प्रभाव आ रहा है। आप अपने स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहें। इस दिन बड़े फैसले लेने से बचना होगा। और होली पर्व पर अविश्वास और संदेह कर पर्व पर मन ख़राब करने से बचें। पर्व की शुरुआत आप बृहस्पति देव को पीले रंग का गुलाल लगा कर करें। यह साल भर कि शुभता को बढ़ाएगा।


Previous
नदी में सिक्का डालना नहीं है अंधविश्वास, इसके पीछे छिपा है गहरा साइंस

Next
हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) और उसकी चौपाइयां का पाठ – अचूक-अमोघ अस्त्र