चैत्र नवरात्रि के प्रत्येक दिन के लिए विशेष एक रंग ।

By: Future Point | 14-Mar-2023
Views : 13529
चैत्र नवरात्रि के प्रत्येक दिन के लिए विशेष एक रंग ।

यह चैत्र शुक्ल पक्ष प्रथमा से प्रारंभ होती है और रामनवमी को इसका समापन होता है। इस वर्ष चैत्र नवरात्र, 22 मार्च से प्रारंभ है और समापन 30 मार्च, 2023 को है। नवरात्रि में माँ भगवती के सभी नौ रूपों की उपासना की जाती है। इस समय आध्यात्मिक ऊर्जा ग्रहण करने के लिए लोग विशिष्ट अनुष्ठान करते हैं। इस अनुष्ठान में देवी के रूपों की साधना की जाती है।

नवरात्रि का त्यौहार नौ दिनों तक चलता है जिसमे प्रति दिन माँ दुर्गा जी के नौ स्वरूपो की पूजा अर्चना की जाती है मगर क्या आप जानते हैं कि नवरात्रि के नौ दिनों में रंगो के अनुसार कपड़े पहनने पर देवी माँ प्रसन्न होती हैं. यदि आपने नवरात्रि के शुरुआती दिनों में इन रंगो के कपड़े नही पहने हैं तो आखिरी दिनों में भी ऐसे वस्त्र धारण कर सकते हैं जिससे देवी माँ की कृपा आप पर बनी रह सकती है. प्रत्येक वर्ष नवरात्रि के पहले दिन से आखिरी दिन तक का रंग निर्धारण किया जाता है इसके बाद बाकि आठ दिनों के रंगो के क्रम का चक्र चलता है. नवरात्रि के दौरान हर रंग का अलग अलग महत्व होता है.

नवरात्रि के नौ दिनों के नौ विशेष रंग –

प्रत्येक दिन के अनुसार रंगो की सूची

नवरात्रि का प्रथम दिवस –

प्रतिपदा इस दिन पर घटस्थापना, चंद्र दर्शन और माँ शैलपुत्री की विशेष पूजा की जाती है अतः इस दिन हरे रंग के कपडे पहनने चाहिए ।


Perform Dasha Mahavidya Puja for Childless Problem Solution at Navratri

नवरात्रि का दूसरा दिवस –

नवरात्रि का दूसरा दिन सिंधारा दौज और माता ब्रह्मचारिणी की विशेष पूजा की जाती है अतः इस दिन नीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए ।

नवरात्रि का तीसरा दिवस –

नवरात्रि के तीसरे दिन गौरी तीज या सौजन्य तीज के रूप में मनाया जाता है और इस दिन का मुख्य अनुष्ठान माँ चन्द्रघण्टा की पूजा है अतः इस दिन लाल रंग के कपड़े पहनने चाहिए ।

नवरात्रि का चौथा दिवस –

नवरात्रि का चौथा दिन वरद विनायक चौथ के रूप में भी जाना जाता है इस दिन का मुख्य अनुष्ठान माँ कुष्मांडा की पूजा है अतः इस दिन नारंगी रंग के कपड़े पहनने चाहिए ।

नवरात्रि का पांचवा दिवस –

नवरात्रि के पांचवे दिन को लक्ष्मी पंचमी कहा जाता है और इस दिन का मुख्य अनुष्ठान नाग पूजा और स्कंदमाता की पूजा की जाती है अतः इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए ।

नवरात्रि का छठा दिवस –

नवरात्रि के छठे दिन यमुना छट या स्कन्द सष्ठी के रूप में जाना जाता है और इस दिन का मुख्य अनुष्ठान माँ कात्यायनी की पूजा की जाती है अतः इस दिन नीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए ।

नवरात्रि का सातवां दिवस –

नवरात्रि के सातवें दिन को महा सप्तमी के रूप में मनाया जाता है और देवी माँ का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए माँ कालरात्रि की पूजा की जाती है अतः इस दिन बैंगनी रंग के कपड़े पहनने चाहिए ।

नवरात्रि का आठवां दिवस –

नवरात्रि के आठवें दिन को अष्टमी के रूप में भी मनाया जाता है और इसे अन्न पूर्णा अष्टमी भी कहा जाता है इस दिन विशेष माँ महागौरी की पूजा और संधि पूजा की जाती है अतः इस दिन गुलाबी रंग के कपड़े पहनने चाहिए ।

नवरात्रि का नौंवा दिवस –

नवरात्रि उत्सव का अंतिम दिन राम नवमी के रूप में मनाया जाता है और इस दिन विशेष माँ सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है अतः इस दिन सुनहरे रंग के कपड़े पहनने चाहिए।


We hope that you get to benefit from this Free Transit Reading and eliminate all the problems from your life. For a detailed analysis of your Horoscope, you can also Talk to Astrologer Online on phone and get rid of your problems.


Previous
9 Planets & 9 Astro Remedies for all Health Problems

Next
उगादी 2019 तेलगु नव वर्ष ।