शुक्र का वृषभ राशि में गोचर, होगा ये बड़ा बदलाव। | Future Point

शुक्र का वृषभ राशि में गोचर, होगा ये बड़ा बदलाव।

By: Future Point | 01-Feb-2020
Views : 2203
शुक्र का वृषभ राशि में गोचर, होगा ये बड़ा बदलाव।

वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह का विशेष महत्व बताया गया है। यह स्त्री, प्रणय, विवाह, वैभव, विलास, राग-रंग, कला, कल्चर, साहित्य, संतान, आदि का कारक ग्रह है। वैभव का कारक होने के कारण यह राजसी जीवन प्रदान करता है। जन्म कुंडली में शुक्र मजबूत हो तो उस जातक को बड़ा मकान वाहन नौकर-चाकर आदि का सुख प्राप्त होता है| इसके विपरीत कमजोर शुक्र जातक को उसके जीवन में इन सुखों से वंचित रखता है। शुक्र के उच्च राशि में होने से उस जातक का रुझान भोग-विलास और स्त्रियों की ओर दूसरों की अपेक्षा अधिक रहता है। ऐसे व्यक्ति ज्यादातर आमोद-प्रमोद में लिप्त जीवन जीना पसंद करते हैं। ऐसे लोगों के जीवन में प्रेम का खुमार चढ़ा रहता है तथा भोग-विलास इनका एक तरह का शौक बन जाता है। शुक्र सुंदरता का कारक है, इनसे प्रभावित जातक के चेहरे पर एक अजब सा नूर रहता है जिसे आसानी से पहचाना जा सकता है।

इस गोचर के दौरान शुक्र मेष राशि को छोड़कर अपनी स्वराशि वृषभ में प्रवेश करेंगे| शुक्र को मीन राशि में उच्च तो कन्या में नीच का माना जाता है। उच्च राशि व स्वराशि के होने पर ग्रह का प्रभाव सामान्यत: पोजीटिव रहता है। लेकिन यदि उस पर किसी पाप या क्रूर ग्रह की दृष्टि पड़ रही हो तो वह नेगेटिव परिणाम देने वाला भी हो सकता है। शुक्र ग्रह एक राशि में लगभग 24 दिन तक रहते हैं, शुक्र ग्रह 28 मार्च 2020, शनिवार को दिन में 15 बजकर 38 मिनट पर वृषभ राशि में गोचर करेगा, और इस राशि में एक लम्बी अवधि तक रहेगा| अर्थात 01 अगस्त 2020, शनिवार की प्रातः 05 बजकर 09 मिनट तक इसी राशि में स्थित रहेगा। इस दौरान शुक्र के संचरण से सभी राशियाँ प्रभावित होंगी। आईये जानते हैं आपकी राशि पर शुक्र के इस गोचर का क्या प्रभाव होगा?

मेष राशि (Aries)

इस राशि परिवर्तन के दौरान मेष राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान आपको अपनी संवाद शैली में अद्भुत प्रभाव दिखाई देगा, आप एक प्रभावी वक्ता के रूप में उभर सकते हैं, और दूसरों पर अपना प्रभाव छोड़ने में कामयाब हो सकते हैं| दांपत्य जीवन मधुर रहेगा, जीवनसाथी का पूर्ण सहयोग मिलेगा। साझेदारी के संबंध भी मैत्रीपूर्ण रहेंगे। संपत्ति संबंधी लेन-देन में आपको लाभ हो सकता है। यदि पिछले कुछ समय से किसी विदेश यात्रा की योजना बना रहे हैं तो इस समय सफलता मिल सकती है| इस अवधि में आपको स्वादिष्ट और तरह-तरह के व्यंजनों का स्वाद लेने का अवसर मिलेगा। स्वास्थ्य की दृष्टि से भी यह समय आपके अनुकूल रहने वाला है|

लक्ष्मी की उपासना करें, ॐ महालक्ष्म्यै नमः इस मन्त्र का नित्य 108 बार जाप करें।
घर में तुलसी का पौधा लगाएं और उसकी पूजा करें।

वृषभ राशि (Taurus)

इस राशि परिवर्तन के दौरान वृषभ राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि में ही गोचर करेंगे| इस समय आप अपेक्षित परिणाम मिलने की उम्मीद रख सकते हैं। आपका कोई सपना साकार हो सकता है। नये घर अथवा गाड़ी की खरीद को लेकर उत्साहित हो सकते हैं। नौकरी या बिजनेस में लाभ मिल सकता है| घरेलू जीवन भी सौहार्दपूर्ण रहने के आसार हैं। इस गोचरीय काल में व्यक्तिगत स्तर पर आपका विकास होगा और इसके परिणामस्वरूप जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में आपको शुभ परिणाम मिलेंगे। आप अपने शत्रु पर हावी रहेंगे और उन पर आपका डर बना रहेगा। यदि आप विवाहित हैं तो इस गोचरकाल के दौरान आपको संतान सुख की प्राप्ति हो सकती है। वहीं जो जातक अविवाहित हैं, उनके विवाह के योग बन रहे हैं। इस गोचरीय अवधि के दौरान आपकी रुचि धर्म कर्म के कार्यों में विशेष रूप से होगी और जीवन में सुख समृद्धि आएगी। यदि आप किसी बिज़नेस से जुड़े हैं तो, इस गोचरकाल में आपको व्यापार से ख़ासा लाभ की प्राप्ति हो सकती है।

श्री सूक्त का प्रतिदिन पाठ करें।
चांदी, चावल, दूध, दही, श्वेत चंदन, सफेद वस्त्र तथा सुगंधित पदार्थ किसी पुजारी की पत्नी को दान करें।

मिथुन राशि (Gemini)

इस राशि परिवर्तन के दौरान मिथुन राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर करेंगे| यह गोचर आपके लिए फायदमंद साबित हो सकता है। किसी विदेशी स्रोत से फायदा मिल सकता है। शुक्र के इस गोचर काल में जहाँ एक तरफ आपके ख़र्चों में वृद्धि होगी, वहीं दूसरी तरफ आप भौतिक सुखों का लाभ भी उठा पाएंगे। ऐसा कहा जा सकता है कि इस अवधि में आपको विशेष रूप से आर्थिक स्तर पर एक संतुलन बना कर चलना होगा। हालांकि विभिन्न स्रोतों से आर्थिक लाभ और धन में वृद्धि होने की प्रबल संभावना है। इस दौरान आप अपने पसंदीदा जगह पर घूमने जा सकते हैं। गोचर के दौरान वासनात्मक क्रियाओं में आपका ध्यान अधिक रहेगा। जीवन साथी की सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है इस समय आप भौतिक सुखों का लाभ भी उठा पाएंगे।

अच्छे फलों की प्राप्ति के लिए चार मुखी रुद्राक्ष शुक्रवार को धारण करें|
गाय को हरा चारा खिलाने से लाभ मिलेगा|

कर्क राशि (Cancer)

इस राशि परिवर्तन के दौरान कर्क राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान आपको धन लाभ और कार्यों में सफ़लता प्राप्त होगी| शुक्र आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार लाने का काम करेंगे| कार्यक्षेत्र में आपकी मेहनत को विशेष रूप से सराहा जाएगा, और इसके फलस्वरूप आपके आय में भी वृद्धि हो सकती है। यदि लंबे समय से किसी नये घर या गाड़ी खरीदने के लिये प्रयासरत थे, तो इस समय आपको सफलता मिल सकती है। आप एक नये बिजनेस की शुरुआत करने की योजना भी इस समय बना सकते हैं। अगर आप इस दौरान शेयर बाज़ार में निवेश करते हैं तो उसमें भी आपको लाभ मिलने की संभावना है।

शुभ फलों की प्राप्ति के लिए गौरी शंकर रुद्राक्ष धारण करें|
श्वेत चन्दन का तिलक लगाएं|

सिंह राशि (Leo)

इस राशि परिवर्तन के दौरान सिंह राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से दशवें भाव में गोचर करेंगे| इस समय नौकरी करने वालों को अच्छी सफलता मिल सकती है| बिज़नेस में निवेश करना आपके लिए फ़ायदेमंद साबित होगा| इस गोचर के दौरान व्यापार में आपको किसी विदेशी श्रोत से लाभ प्राप्त हो सकता है| सामाजिक स्तर पर आप अपनी भाषा-शैली के माध्यम से लोगों को प्रभावित करने में सफल होंगे| आपको कार्यस्थल पर अपने उच्चाधिकारियों का सहयोग मिलेगा| घर के वातावरण में सुख-शांति देखने को मिलेगी। पिताजी के साथ आपके रिश्ते और भी बेहतर होंगे| और उनसे लाभ भी प्राप्त हो सकता है। किसी वजह से जीवन साथी से दूर जाना पड़ सकता है। जो जातक अभी तक रोजगार से वंचित हैं उन्हें नौकरी का अवसर मिल सकता है। इस समय स्वास्थ्य बेहतर रह सकता है|

प्रतिदिन सूर्य को अर्घ्य प्रदान करें|
आदित्य ह्रदयस्त्रोत का पाठ करना शुभ फलदायक रहेगा| भोजन का कुछ हिस्सा गाय, कौवे, और कुत्ते को दें।

कन्या राशि (Virgo)

इस राशि परिवर्तन के दौरान कन्या राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से नवमें भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी और समाज़ में आप प्रभावशाली लोगों के संपर्क में आएँगे। इस दौरान आपकी रुचि धार्मिक कार्यों में ज्यादा होगी और आप किसी प्रसिद्ध मंदिर में दर्शन के लिए जा सकते हैं। धन की प्राप्ति होगी, भाग्य का सम्पूर्ण लाभ मिलेगा, कार्यक्षेत्र में आपकी मेहनत को पहचान मिलेगी लेकिन इसमें आपको किसी महिला सहकर्मी की मदद की जरुरत होगी। यदि आप किसी सरकारी नौकरी में हैं तो, इस गोचरकाल के दौरान आपको सरकार की तरफ से विशेष लाभ प्राप्ति हो सकती है, या आपकी प्रमोशन भी हो सकती है|

शुक्र स्तोत्र का नित्य पाठ करें|
नौ साल से छोटी कन्या को भोजन कराएं तथा चरण स्पर्श करके आशीर्वाद लें।

तुला राशि (Libra)

इस राशि परिवर्तन के दौरान तुला राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से आठवें भाव में गोचर करेंगे| इस राशि के जातकों के लिए यह समय थोड़ा कठिनाई से भरा हुआ रहेगा| इस दौरान आपकी और आपके लाइफ पार्टनर की सेहत खराब हो सकती है| इसलिए आपको सचेत रहने की आवश्यकता है। संतान को लेकर भी चिंतित रह सकते हैं। धन के मामले में पैसा आपको मिलेगा लेकिन किसी भी तरह से बचत नहीं हो पायेगी, इस समय किसी से भी किसी तरह की अपेक्षा रखना आपके लिये सही नहीं है। धर्म, अध्यात्म एवं शोध जैसे विषयों में आपकी रुचि बढ़ सकती है। इस अवधि में वासना के प्रति आपका झुकाव अधिक रह सकता है।

शुक्र यंत्र की स्थापना कर उसकी पूजा अर्चना करें|
शुक्रवार के दिन सफेद गाय को गेहूं का आटा खिलाना चाहिए।

वृश्चिक राशि (Scorpio)

इस राशि परिवर्तन के दौरान वृश्चिक राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से सातवें भाव में गोचर करेंगे| दाम्पत्य जीवन में आपको लाइफ पार्टनर का पूरा सहयोग मिलने के आसार हैं| आप अपने वैवाहिक जीवन के सुखों का आनंद उठाएंगे और जो अविवाहित जातक अपने लिये लाइफ पार्टनर की तलाश में हैं, उनके लिए समय अनुकूल है, हो सकता है, उनकी पसंद का जीवनसाथी मिल जाये। विवाह के योग भी इस समय आपके लिये बन रहे हैं। आपके अच्छे प्रयासों से व्यापार में भी वृद्धि होगी, और कार्यक्षेत्र में आप को प्रगति मिलेगी| इस दौरान भाग्य का पूर्ण साथ मिलेगा, आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी, करियर के मामले में भी आप एक नये सितारे के रूप में उभर सकते हैं। नई नौकरी या नया बिजनेस शुरु करने के लिये भी यह समय अच्छा कहा जा सकता है|

आठ मुखी रुद्राक्ष धारण करें|
चांदी का टुकड़ा या श्वेत चंदन की लकड़ी नदी या नहर में प्रवाहित करें।

धनु राशि (Sagittarius)

इस राशि परिवर्तन के दौरान धनु राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेंगे| इस समय आपको प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिल सकती है, इसलिए अगर आप किसी सरकारी नौकरी या फिर किसी ख़ास परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो यह समय आपके लिए अनुकूल है| बस अपनी तैयारी जारी रखें। इस दौरान आर्थिक स्थिति कमजोर रहने पर आप बैंक अथवा किसी अन्य माध्यम से लोन ले सकते हैं। क़ीमती वस्तुओं को ख़रीदने में आपका ख़र्च बढ़ सकता है। महिलाओं के साथ रिश्ते बेहतर बनाकर चलें। कार्य क्षेत्र में कड़ी मेहनत से आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। विवाहित जोड़ों को उनके जीवनसाथी की सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है|

स्फटिक की माला धारण करें|
किसी भी मंदिर में जाकर गाय का शुद्ध घी दान में दें।

मकर राशि (Capricorn)

इस राशि परिवर्तन के दौरान मकर राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से पांचवें भाव में गोचर करेंगे| यह समय आपके लिए अनुकूल परिणाम लेकर आने वाला है, और जो लोग बिजनेस कर रहे हैं, उन जातकों के लिये यह समय बहुत ही शुभ कहा जा सकता है। नौकरी करने वालों की भी पदोन्ति हो सकती है| धन लाभ के आसार बन रहे हैं। रोमांटिक लाइफ में रिलेशनशिप को लेकर उत्साह बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं। आय में भी वृद्धि होने की संभावना है। वैवाहिक जीवन में भी जीवनसाथी के प्रति रोमांस अधिक बढ़ सकता है। नव दंपति संतानोत्पत्ति के बारे में इस गोचर के दौरान सोच सकते हैं। विद्यार्थी भी अपनी शिक्षा एवं अध्ययन पर ध्यान केंद्रित करने में सफल होंगे|

हनुमान चालीसा का पाठ करें।
काली चींटियों को शक्कर खिलाएं।

कुंभ राशि (Aquarius)

इस राशि परिवर्तन के दौरान कुम्भ राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से चौथे भाव में गोचर करेंगे| यदि आप कपड़ों का व्यवसाय शुरु करना चाहते हैं, तो उनके लिये परिस्थितियां अनुकूल रहने की उम्मीद कर सकते हैं। यदि आप नौकरी कर रहे हैं, तो कार्य स्थल पर आपका किसी के साथ मतभेद हो सकता है। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से आपके लिए ये गोचरकाल लाभकारी साबित होगा। इस समय अवधि में आपको अपनी सेहत में विशेष सुधार देखने को मिल सकता है। नया घर अथवा गाड़ी लेने का सपना इस समय पूरा हो सकता है| परिवार में किसी मांगलिक कार्य का भी आयोजन हो सकता है, इस समय आप अपनी सभी इच्छाओं की पूर्ति कर पाने में सफल होंगे|

दुर्गा सप्तशती का विधिवत पाठ करवाना श्रेयकर रहेगा,
किसी काने व्यक्ति को सफेद कपड़े या मिठाई का दान करें।

मीन राशि (Pisces)

इस राशि परिवर्तन के दौरान मीन राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से तीसरे भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान आपके साहस में वृद्धि होगी और आपका आत्मविश्वास भी प्रबल होगा। कार्यस्थल पर काम का दबाव रह सकता है। प्रतिस्पर्धात्मक अवसरों पर आपको सफलता प्राप्त हो सकती है। लेकिन अपनी सेहत को लेकर थोड़ा सचेत रहें। इस दौरान आपकी संवाद शैली से लोग अत्यधिक प्रभावित होंगे। मीडिया, कला, ग्लैमर, अभिनय से जुड़े लोगों को इस गोचर का अधिक लाभ मिल सकता है। इन क्षेत्रों से जुड़े जातकों के करियर में शुक्र का गोचर फ़ायदेमंद साबित होगा। कार्य क्षेत्र में अपनी मेहनत के बलबूते आप आय प्राप्त करेंगे। आपका रुझान धार्मिक कार्यों की तरफ हो सकता है। माता-पिता को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है, गोचर के दौरान आप अपनी नौकरी में परिवर्तन कर सकते हैं। छोटी यात्राओं के योग बनेगे, जीवन साथी को समाज में प्रसिद्धि मिल सकती है।

विष्णुसहस्रनाम स्त्रोत्र का पाठ करें|
दो मोती लेकर एक पानी में बहा दें और एक जिंदगीभर अपने पास रखें।



Subscribe Now

SIGN UP TO NEWSLETTER
Receive regular updates, Free Horoscope, Exclusive Coupon Codes, & Astrology Articles curated just for you!

To receive regular updates with your Free Horoscope, Exclusive Coupon Codes, Astrology Articles, Festival Updates, and Promotional Sale offers curated just for you!

Download our Free Apps

astrology_app astrology_app

100% Secure Payment

100% Secure

100% Secure Payment (https)

High Quality Product

High Quality

100% Genuine Products & Services

Help / Support

Help/Support

Trust

Trust of 36 years

Trusted by million of users in past 36 years