स्त्री को सम्म्मोहित करने के टोटके

By: Future Point | 17-Feb-2018
Views : 26448
स्त्री को सम्म्मोहित करने के टोटके

जीवन में घटित होने वाली घट्नाओं पर हमारा वश नहीं चलता। कई बार हम अपने किसी प्रिय व्यक्ति का ध्यान अपनी ओर लाने की अनेक कोशिशें करते हैं। मनचाहे व्यक्ति को फिर वह चाहे कोई स्त्री हों या पुरुष हों उसका ध्यान पाने के सभी प्रयास विफल होने लगते हैं। इस स्थिति में अपने मनचाहे व्यक्ति को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए सम्मोहन उपायों का सहारा लेना बहुत उपयोगी साबित होता है।

सम्मोहन और वशीकरण के उपायों से न केवल किसी पुरुष विशेष को सम्म्मोहित किया जा सकता है, अपितु कार्यालय में अपने किसी अधिकारी, सहयोगी, साझेदार को भी इन उपायों से प्रभावित किया जा सकता है। बहुत बार यह देखने में आता है कि पुरुषों को किसी महिला या अपनी जीवन संगिनी से मनोनूकुल ध्यान नहीं मिल पा रहा होता है। पति पत्नी दोनों के मध्य स्नेह की कमी रहने लगती है। पति अपनी पत्नी के मन में सही स्थान नहीं बना पाता है इस स्थिति में उसे यहां बताएं गए उपायों का धैर्यपूर्वक पालन करना चाहिए। बताए गए तरीके से उपाय करने पर शीघ्र ही उपाय करने वाले व्यक्ति को इनका लाभ मिलना शुरु हो जाता है।





पुरुषवर्ग इन उपायों का प्रयोग कर अपने रिश्तों को फिर से मजबूत कर सकते हैं। परन्तु यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि इन उपायों का प्रयोग बुरी भावना से न किया जाए। अन्यथा इन उपायों का प्रभाव विपरीत भी प्राप्त हो सकता है-

    • पूर्व-फाल्गुनी नक्षत्र में महिला को आकर्षित करने के उद्देश्य से अनार के पेड़ की कलम तोड़ के घर ले आयें। इसकी धूप, दीप और फूल से पूजा करें। तत्पश्चात इसे स्वयं के दाहिने हाथ की बाजू में बांध लें। श्रद्धा और विश्वास के साथ इस उपाय को करने से आप अपनी पत्नी क अपनी ओर आकर्षित करने में सफल हो जायेंगे।
    • कनेर के पुष्प व गाय के घी को मिलाकर अपनी पत्नी के नाम के साथ यदि 108 बार आहुति देते हुए हवन किया जाये तो, पत्नी का अपने पति से मनमुटाव दूर होता है।
    • किसी स्त्री विशेष को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए जिस दिन पुष्य नक्षत्र हों उस दिन किसी भी धोबी के पैरों की नीचे की धूल लेकर, जिस स्त्री को प्रभावित करना हों उस स्त्री के सिर पर डाल दें। ऐसा करने पर स्त्री आकर्षित हो जाती है।
    • उल्ली पक्षी की रीड़ की हड्ड़ी के साथ, केसर, कस्तूरी और कुमकुम लें। सबको एक साथ पीस लें और उसे माथे पर तिलक की तरह लगा लें। इस प्रकार तिलक लगाके व्यक्ति जिस स्त्री को प्रसन्न करना चाहता है उस स्त्री के सामने जायें।
 
    • स्त्री को सम्मोहित करना चाहते है तो सूर्यग्रहण के समय सहदेवी नामक पौधे की जड़ ले आयें, उसे सफेद चंदन की साथ घिस लें तथा जब संबंधित महिला के सामने जाना हो तो इसे तिलक के रुप में लगा लें।
    • शनिवार के दिन राई और प्रियंगु लेकर निम्न मंत्र से उसे अभिमंत्रित कर लें। इसके पश्चात इसे मिश्रण को उस व्यक्ति पर डालने पर वह स्त्री सम्मोहित हो जाती हैं।

मंत्र - ऊं ह्रीं

    • अब हम आपको जो उपाय बता रहें है, उस उपाय के लिए आप शनिवार के दिन का प्रयोग करना हैं। इस कार्य के लिए आप कपड़े से एक पुतली बना लें। उस पुतली के पेट पर अपनी मन पसंद स्त्री का नाम लिख दें। ऐसा करने के बाद इस पुतली को उसी स्त्री को दिखाएं। दिखाने के पश्चात पुतली को अपनी छात्री से लगा कर रखें। इससे जिस स्त्री को आप सम्मोहित करना चाह रहे थे, वो शीघ्र सम्मोहित हो जाएगी।
    • यदि किसी महिला को बिजौरे की जड़ और धतूरे के बीज को पीस कर प्यार के रस में मिलाकर सुंघाया जाए तो महिला सम्मोहित हो जाती है।
    • स्त्री विशेष को अपने सम्मोहन में लेने के लिए नागकेसर का पाउडर बनाकर शुद्ध घी में मिलाकर अपने माथे पर लगायें, इससे जो भी स्त्री इसे देखेंगी, वह वशीभूत हो जाएगी।
    • सम्मोहित करने के लिए यह प्रयोग नित्य करें- नागकेसर, चमेली के फूल, कूट, तगर, कुमकुम और देशी घी। इन सभी सामग्रियों को मिलाकर चूर्ण बना लें और प्रात: गुलाब जल मिलाकर इसका माथे पर तिलक करें।
    • अपनी पत्नी या प्रेमिका को सम्मोहित करने के लिए आप स्वयं ओपल या हीरा रत्न धारण करें।
    • अपनी प्रिय स्त्री को ओपल या हीरा रत्न उपहार स्वरुप देने से भी स्त्री प्रसन्न रहती है और आपसी रिश्ते मजबूत होते हैं।
    • शुक्ल पक्ष के गुरुवार से यह उपाय शुरु करें - श्री विष्णु जी और देवी लक्ष्मी जी की मूर्ति या फोटो को घर के मंदिर में पूर्ण श्रद्धा और विश्वास से स्थापित कर, दर्शन, पूजन करने के बाद इनके सामने स्फटिक माला पर निम्न मंत्र का 3 माला जाप करें।

मंत्र - ऊं लक्ष्मी नारायणाय नमः

    • किसी को अपने वश में करने के लिए यह उपाय आजमाएं- पुष्य नक्षत्र में शनिवार के दिन एक भोजपत्र लें जिस पर चंदन से उसका नाम लिखें जिसे सम्मोहित करना है। इस भोजपत्र को तब तक शहद में डूबा रहने देंगे तब तक आपका शत्रु आपके वश में रहेगा।
    • अपामार्ग और सहदेवी औषधियों को लेकर चूर्ण बनाकर अपामार्ग के रस में मिलाकर पेस्ट बना लें और जिस महिला का वशीकरण करना हो उसके सामने जाने से पहले इसे तिलक के रुप में माथे पर लगाएं। इससे वह महिला आपसे प्रभावित रहेंगी।
    • पुरुष जातक अपने वैवाहिक जीवन को सुखमय बनाए रखने के लिए - नियमित रुप से तीन माह तक प्रत्येक गुरुवार को मंदिर में प्रसाद चढ़ायें और अपने वैवाहिक जीवन की सुख-शांति के लिए भगवान से प्रार्थना करें।
    • शुक्रवार के दिन पुरुष जातक प्रेम विवाह में सफलता हेतु गौरी-शंकर रुद्राक्ष वाईट गोल्ड (स्वेत स्वर्ण) में धारण करें।
    • अपनी पत्नी को अपने वश में करने के लिए- प्रत्येक रविवार को सायंकाल में अपने घर व अपने शयनकक्ष में गूगल की धूनी दें। धूनी देते समय अपनी पत्नी से अपने संबंध बेहतर होने की कामना करें। श्रद्धा और विश्वास के साथ यह उपाय करने पर जातक को निश्चित रुप से लाभ मिलता है।

 

Horoscope Report

 

  • मंगलवार के दिन हनुमान जी के मंदिर में जायें, हनुमान जी की मूर्ति से श्रद्धा पूर्वक सिंदूर लेकर माता सीता के चरणों में लगायें। साथ ही माता से अपनी कामना कहें, और प्रणाम कर वापस घर आ जायें। इस प्रकार लगातार ७ मंगलवार यह उपाय करने से वैवाहिक सुख की प्राप्ति होती है।
  • आपकी पत्नी यदि किसी ओर व्यक्ति से प्रभावित हो तो इसका उपाय करने के लिए आप रात में थोड़ा कपूर जलायें। साथ ही मन ही मन प्रार्थना करें कि आपकी पत्नी आपके पास वापस आ जायें।
  • यदि आपकी पत्नी किसी अन्य पुरुष के अधिक निकट हों ओर आप उसका संबंध वहां से समाप्त कराना चाहते है तो इसके उपाय के लिए निम्न विधि का प्रयोग करें-
  • कुछ मखाने लें और उन मखानों पर उस पराये पुरुष के नाम का अक्षर लिख लें। लिखते समय अपने ईष्ट देव से प्रार्थना करें कि आपकी पत्नी का उस पराये पुरुष से मोह भंग हो जायें। सारे मखानों पर नाम लिखने के बाद उन्हें एकांत के स्थान पर जला दें। ऐसा प्रयास करें कि आपनी पत्नी का पैर इस काली जली हुई भभूत पर पड़ जायें।
  • आपकी पत्नी यदि किसी अन्य पुरुष के कारण समय समय पर आपका अपमान करती रहती तो इसका समाधान आप निम्न रुप से करें।
  • शुक्ल पक्ष के गुरुवार के दिन तीन सौ ग्राम बेसन के लड्डू लें, आटे के दो पेड़े बनायें, तीन केले, चने की गीली दाल लें। इन सभी सामग्रियों को किसी गाय को उस समय खिलायें जब वह अपने बछ्ड़े को दूध पिला रही हों। खिलाते समय गाय माता से प्रार्थना करें कि आपकी इस समस्या का शीघ्र समाधान हों।
  • अपनी पत्नी के साथ रिश्ते मजबूत करने के लिए नवमी के दिन स्वेतार्क यानि सफेद मदार का पौधा अपने घर में लेकर आयें। अमावस्या को इसकी पूजा करें। इस पौधे की पूजा करने से आपके आपसी संबंध मजबूत होंगे।
  • पुरुष व्यक्ति अपने दांपत्य सुख को बढ़ाने के लिए - अपनी पत्नी के हाथों से घर में तुलसी का पौधा लगवायें। कृष्णपक्ष की अष्टमी से चतुर्दशी तक दीपक जरुर जलायें। सिंदूर और फूल से तुलसी जी का पूजन करें। यह आपके दांपत्य प्रेम को बढ़ाता है।
  • पत्नी या प्रेमिका के साथ प्रेम पूर्ण रिश्तों में प्रेम बनाए रखने के लिए शुक्रवार के दिन दो जमुनिया रत्न लेकर आयें। प्रात:काल में इन्हें गंगाजल में डूबो कर रख दें। अगले दिन शनिवार से इस जल का छिड़काव सारे घर में करे। यह आपकी प्रिय स्त्री को आपके निकट लाएगा।
  • जीवन साथी के साथ प्रेम बढ़ाने के लिए सोते समय कपूर और लाल सिंदूर अपने तकिये के नीचे रख कर सोयें। प्रात:काल में इस कपूर को पूजा घर में प्रयोग कर लें तथा सिंदूर को सारे घर में हल्का हल्का छिड़क दें।
  • यदि संभव हो तो किसी हाथी के पैर के नीचे की मिट्टी प्राप्त करें। इस मिट्टी को पानी में भिगोकर छ: गोलियां बना लें। इन गोलियों को घर के किसी कोने में रखकर सूखा लें। ध्यान रखें कि इन्हें सुखाने के लिए धूप का प्रयोग न करें। सूखने पर इन्हें एक मिट्टी के पात्र में लेकर घर के दक्षिण पश्चिम दिशा में रख दें। यह आपके दाम्पत्य प्रेम को बढ़ाएगा।
  • झाडू की दो सींकें लें उनमें से एक को उल्टा और एक को सीधा रख लें। फिर इन्हें नीले रंग के धागे से बांध लें। यह सब करने के बाद इन्हें आप घर के दक्षिण-पश्चिम कोने में रख दें। यह दांपत्य सुख को बेहतर करता है।
  • पत्नी पत्नी दोनों प्रतिदिन अपने भोजन से कुछ भाग लेकर चिडियों को दें। इस प्रकार उपाय करने पर आपसी प्रेम बढ़्ता है।
  • अमावस्या तिथि को पीपल के पेड़ से दो सूखे पत्ते तोड़ लें। ध्यान रहें कि जमीन पर गिरे हुए पत्ते न लें। इसमें से एक पत्ते पर अपने प्रिय व्यक्ति या स्त्री का नाम काजल से लिख लें और उस पर वहीं एक भारी पत्थर रख दें। दूसरे पत्ते को घर लें आयें और उस पत्ते पर लाल सिंदूर से अपना नाम लिख लें। इसके पश्चात इस पत्ते को छ्त पर ले जाकर उल्टा रख दें और उस पत्ते पर पत्थर रख दें। यह उपाय लगातार 16 दिन लगातार करना है। उपाय करते समय पीपल देव से अपने प्रिय को अपने करीब लाने की प्रार्थना अवश्य करें साथ ही जल भी पीपल के पेड़ पर चढ़ायें। इस प्रकार यह उपाय करने पर आप देखेंगे कि जिस व्यक्ति के लिए आपने यह उपाय किया था वह आपके करीब होगा। कामना पूर्ण होने पर सभी पत्तों को एक साथ इक्ट्ठा कर एक गड्ढ़े में दबा दें।

Previous
शीघ्र विवाह होने के ज्योतिषीय उपाय

Next
Astrological Prediction of Earthquakes and Weather 2018