परिवार में बिगड़ते रिश्‍तों की वजह हो सकता है वास्‍तु दोष, जानें उपाय

By: Future Point | 17-Oct-2018
Views : 10043
परिवार में बिगड़ते रिश्‍तों की वजह हो सकता है वास्‍तु दोष, जानें उपाय

वर्तमान समय में आधुनिक युग चल रहा है जहां पर संयुक्‍त परिवार की जरूरत खत्‍म होती जा रही है और एकल परिवार का चलन बढ़ता जा रहा है। हालांकि, इस सबके बावजूद किसी ना किसी रूप में इंसान अपने परिवार से जुड़ा रहता है। कोई नौकरी तो कोई जिम्‍मेदारियों के कारण अपने परिवार से जुड़ा रहता है।

कई बार परिवार के सदस्‍यों के बीच प्रेम और लगाव होने के बावजूद वैचारिक मतभेदों के कारण दूरियां आ जाती हैं। आर्थिक रूप से संपन्‍न होते हुए भी सदस्‍यों के बीच में मनमुटाव रहता है। वास्‍तुशास्‍त्र के अनुसार परिवार के बीच बढ़ रही परेशानियों और दूरियों का कारण वास्‍तुदोष भी हो सकता है।

आपकी कुंडली में छिपे राज योग जानने के लिए क्लिक करें

वास्‍तुदोष बनता है झगड़े की वजह

वास्‍तुशास्‍त्र के अनुसार अगर घर में कोई दोष हो तो वहां पर रहने वाले लोगों के बीच आपसी मतभेद रहते हैं। वास्‍तुदोष से युक्‍त घर में रहने वाले लोगों के बीच झगड़े होते रहते हैं। इस समस्‍या के निवारण के लिए वास्‍तुशास्‍त्र में कुछ उपाय बताए गए हैं जिन्‍हें अपनाकर आप अपने परिवार में सुख और शांति एवं सहयोग की भावना को जागृ‍त कर सकते हैं।

घर में नकारात्‍मक और सकारात्‍मक ऊर्जा

विज्ञान भी इस बात पर मुहर लगा चुका है कि हर चीज़ में अपनी एक ऊर्जा होती है। अब ये ऊर्जा नेगेटिव भी हो सकती है और पॉजीटिव भी। वास्‍तुशास्‍त्र भी ऊर्जा के सिद्धांत पर कार्य करता है। कुछ चीज़ों से सकारात्‍मक ऊर्जा मिलती है तो कुछ चीज़ें नेगेटिव एनर्जी प्रवाहित करती हैं। यह उस वस्‍तु की प्रकृति पर निर्भर करता है।

यह भी पढ़ें: ऐसे जान सकते हैं करियर के किस क्षेत्र में मिलेगी सफलता

पारिवारिक शांति के लिए वास्‍तु टिप्‍स

  • परिवार के सदस्‍यों के बीच प्रेम एवं आपसी समझदारी बनाए रखने के लिए अपने घर के पूर्व, उत्तर और पश्चिमी हिस्‍से में हमेशा सफाई रखें।
  • घर की उत्तर-पूर्वी दीवार पर हिंसक पशु-पक्षियों की तस्‍वीरे ना लगाएं।
  • ज्‍वालामुखी, अग्नि, काले बादल वगैरह की तस्‍वीर भी नेगेटिव असर देती है। इन तस्‍वीरों की जगह अपने घर में बगीचे, फूलों और फलों से लदे पेड़, हंसते-खेलते बच्‍चे, बहता हुआ पानी, झरना और देवी-देवताओं की तस्‍वीरें आद लगाना शुभ माना जाता है।
  • ऐसा करने से घर में रहने वाले सदस्‍यों के बीच पॉ‍जीटिव एनर्जी प्रवाहित होती है और उनके विचारों पर भी इसका असर पड़ने लगता है। इससे परिवार में शांति रहती है।
  • परिवार में प्रेम बढ़ाने के उपाय
  • अगर पतिव-पत्‍नी के बीच तनाव या अनबन रहती है तो उन्‍हें अपने बैडरूम में लव बर्ड्स या राधे-कृष्‍ण की तस्‍वीर लगाना चाहिए। इससे उन दोनों के बीच आपसी प्रेम बढ़ता है और वैवाहिक जीवन सुखमय बनता है।
  • आपसी सामंजस्‍य और प्रेम की कमी की वजह से माता-पिता या भाई-बहनों के बीच मनमुटाव रहता है तो घर की बैठक के पूर्वी हिस्‍से में जहां सूर्य की धूप आती हो वहां पर क्रिस्‍टल बॉल रखें। जब सुबह इस क्रिस्‍टल बॉल पर धूप पड़ेगी तो इसमें प्रकाश परावर्तित होकर पूरे घर में फैलेगा। इससे नकारात्‍मक ऊर्जा नष्‍ट होगी और पॉजीटिव एनर्जी आएगी। इस वास्‍तु उपाय से पारिवारिक संबंधों में मधुरता आएगी।
  • परिवार में हमेशा कलह रहती है या लड़ाई-झगड़ा चलता रहता है तो ड्राइंग रूम में भगवान विष्‍णु या कृष्‍ण जी की तस्‍वीर लगाएं।
  • अपने घर के मध्‍य स्‍थान या बैठक कक्ष में एक शंख या सीप से बने पर्दे लगाने से पारिवारिक मतभेद दूर होंगें।
  • घर के मध्‍य भाग को ब्रह्मस्‍थान कहा जाता है। इस जगह को खाली रखें और यहां पर कोई भी भारी सामान ना रखें। इससे एनर्जी का प्रवाह रहता है। फर्नीचर से ऊर्जा का प्रवाह बाधित हो सकता है। इसी वजह से पुराने घरों में बीच में बरामदा बनाया जाता था।
  • घर से नेगेटिव एनर्जी को खत्‍म करने के लिए अपने घर में पूजन स्‍थन भी जरूर बनाएं। अगर आप नास्तिक हैं तो भी अपने घर में भगवान की कोई मूर्ति या धार्मिक प्रतीक लगाएं। ये घर की नकारात्‍मक ऊर्जा का नाश करके वहां सब कुछ पॉजीटिव कर देता है।
  • परिवार के सभी सदस्‍यों की बेहतर सेहत के लिए घर में अग्नि स्रोत की व्‍यवस्‍था का सही होना बहुत जरूरी होता है। घर में अग्‍नि तत्‍व को सही स्‍थान देने से परिवार के सभी सदस्‍यों का स्‍वास्‍थ्‍य उचित रहता है। वास्‍तुशास्‍त्र के अनुसार उत्तर पूर्व और दक्षिण-पश्चिम दिशा अग्‍नि के लिए सही होती है। रसोई, स्‍टोव, गैस आदि को घर में उत्तर पूर्व या दक्षिण-पश्चिम दिशा में लगाना चाहिए।
  • अपने परिवार को हर मुसीबत से बचाने और रक्षा के लिए अपने घर के पूजन स्‍थल में हनुमान जी की प्रतिमा जरूर स्‍थापित करें। घर में किसी भी स्‍थान में हनुमान जी की मूर्ति लगाना शुभ रहता है। हनुमान जी की मूर्ति का मुख दक्षिण दिशा की ओर होना चाहिए। इससे परिवार के सभी सदस्‍यों की सेह‍त बेहतर रहती है।

वास्‍तुशास्‍त्र के इन आसान उपायें की मदद से आप अपने पारिवारिक जीवन को खुशहाल, स्‍वस्‍थ और समृद्ध बना सकते हैं।

जीवन की सभी समस्याओं से मुक्ति प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें


Previous
Hanuman Gayatri & Havan to Overcome Difficulties & Sorrows

Next
नवरात्र में अष्‍टमी तिथि पर इस तरह करें कन्‍या पूजन