जानिए, ग्रहों दोषों के लक्षण व उपाय और लाए जीवन में खुशहाली

By: Future Point | 14-Jun-2019
Views : 7282
जानिए, ग्रहों दोषों के लक्षण व उपाय और लाए जीवन में खुशहाली

ज्योतिष के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी ग्रह दोष से ग्रस्त रहता है, परन्तु कई बार उसे पता नहीं चलता कि किस वजह से उसकी जिंदगी में परेशानियां थमने का नाम नहीं ले रही और किस वजह से जीवन में इतनी उथल- पुथल हो रही है. ऐसी स्थिति में ग्रह दोष के उपाय करना बहुत जरुरी होता है।

ग्रह दोष के लक्षण व उपाय -

1. सूर्य दोष के लक्षण:

  • असाध्य रोगों के कारण परेशानी जैसे कि सिरदर्द, बुखार, नेत्र संबंधी कष्ट आदि हो सकते हैं।
  • सरकार के कर विभाग से परेशानी, नौकरी में बाधा आ सकती है।

सूर्य दोष के उपाय:

  • भगवान विष्णु की आराधना करनी चाहिए।
  • ऊं नमो भगवते नारायणाय मंत्र का 1 माला लाल चंदन की माला से जाप करना चाहिए।
  • गुड़ खाकर व पानी पीकर किसी विशेष कार्य काआरंभ करना चाहिए।
  • बहते जल में 250 ग्राम गुड़ प्रवाहित करना चाहिए।
  • सवा पांच रत्ती का माणिक्य तांबे की अंगूठी में जड़वा कर धारण कर रविवार के दिन सूर्योंदय के समय दाएं हाथ की मध्यमा अंगूली में धारण करनी चाहिए।

2. चंद्रमा दोष के लक्षण:

  • जुखाम व पेट की बीमारियों की समस्याएं हो सकती हैं।
  • घर में असमय पशुओं की मत्यु की आशंका होती है।
  • अकारण शत्रुओं का बढ़ना और धन का हानि होना।

चंद्रमा दोष के उपाय:

  • भगवान शिव की आराधना करनी चाहिए।
  • ऊं नम शिवाय मंत्र का रूद्राक्ष की माला से 11 माला जाप करना चाहिए।
  • सोमवार के दिन सफेद कपड़े में मिश्री बांधकर जल में प्रवाहित करना चाहिए।
  • चांदी की अंगूठी में चार रत्ती का मोती जड़वा कर सोमवार के दिन अनामिका ऊँगली में धारण करें।
  • कांच के गिलास में दूध व पानी पीने से परेहज करना चाहिए।

अपनी कुंडली में सभी दोष की जानकारी पाएं कम्पलीट दोष रिपोर्ट में

3. मंगल दोष के लक्षण:

  • घर में चोरी होने का डर और घर-परिवार में लड़ाई-झगड़े की आशंका रहती है।
  • भाई के साथ संबंधों में अनबन रहती है।
  • दांपत्य जीवन में तनाव और अकाल मृत्यु की आशंका रहती है।

मंगल दोष के उपाय:

  • भगवान हनुमान की आराधना करनी चाहिए।
  • ऊं हं हनुमते रूद्रात्मकाय हुं फट कपिभ्यो नम: का 1 माला जाप करना चाहिए।
  • प्रति दिन हनुमान चालीसा या बजरंगबाण का पाठ करना चाहिए।
  • त्रिधातु की अंगुठी बाएं हाथ की अनामिका ऊँगली में धारण करनी चाहिए।
  • 400 ग्राम चावल दूध से धोकर 14 दिन तक पवित्र जल में प्रवाहित करना चाहिए।
  • घर में नीम का पौधा लगाना चाहिए।

4. बुध दोष के लक्षण:

  • व्यक्ति के स्वभाव में चिड़चिड़ापन रहता है।
  • जुए-सट्टे के कारण धन की बड़ी हानि होती है।
  • दांत से जुड़े रोगों के कारण परेशानी आ सकती है।
  • सिर दर्द के कारण अधिक तनाव की स्थिति बन सकती है।

बुध दोष के उपाय:

  • मां दुर्गा की आराधना करनी चाहिए।
  • ऊं ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे मंत्र का 5 माला जाप करना चाहिए।
  • देवी के सामने अखंड घी का दीया जलाना चाहिए।
  • घर की पूर्व दिशा में लाल झंडा लगाना चाहिए।
  • सोने के आभूषण धारण करने चाहिए और हरे रंग से परहेज करना चाहिए।
  • चौड़े पत्ते वाले पौधे घर में लगायें, तथा मुख्य द्वार पर पंचपल्लव का तोरण लगायें।
  • 100 ग्रíम चावल व चने की दाल बहते जल में प्रवाहित करें।

5. गुरू दोष के लक्षण:

  • सोने की हानि और चोरी की आशंका हो सकती है।
  • उच्च शिक्षा की राह में बाधाएं आ सकती हैं।
  • झूठे आरोप के कारण मान-सम्मान में कमी आ सकती है।

गुरु दोष के उपाय:

  • परमपिता ब्रह्मा की आराधना करनी चाहिए।
  • बहते जल में बादाम, तेल, नारियल प्रवाहित करना चाहिए।
  • माथे पर केसर का तिलक लगाना चाहिए।
  • सोने की अंगूठी में सवा पांच रत्ती का पुखराज जड़वा कर गुरूवार को दाएं हाथ की तर्जनी अंगुली में धारण करना चाहिए।
  • पीपल के पेड़ पर 7 बार पीला धागा लपेटकर जल अर्पित करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: ज्योतिष शास्त्र अनुसार जानें कब बनेगा विवाह का योग और राशि अनुसार जानें शीघ्र विवाह के उपाय ।

6. शुक्र दोष के लक्षण:

  • बिना किसी बीमारी के त्वचा संबंधी रोगों से परेशानी आ सकती है।
  • राजनीति के क्षेत्र में हानि और प्रेम व दापंत्य संबंधों में अलगाव हो सकता है।
  • जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर तनाव हो सकता है।

शुक्र दोष के उपाय:

  • मां लक्ष्मी की आराधना करनी चाहिए।
  • ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसिद प्रसिद श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम इस मन्त्र का एक माला जाप प्रति रात को करना चाहिए।
  • मंदिर में आरती पूजा के लिए गाय का घी दान करना चाहिए।
  • 2 किलो आलू में हल्दी या केसर लगाकर गाय को खिलायें।
  • चांदी या मिटटी के बर्तन में शहद भरकर घर की छत पर दबा दें।
  • शुक्रवार के दिन मंदिर में कांसे के बर्तन का दान करने चाहिए।

7. शनि दोष के लक्षण:

  • पैतृक संपत्ति की हानि व हमेशा किसी न किसी बीमारी की समस्या हो सकती है।
  • बनते हुए काम का बिगड़ जाना।

शनि दोष के उपाय:

  • भगवान भैरव की आराधना करनी चाहिए।
  • ऊं प्रां प्रीं प्रौं शं शनिश्चराय नमः मंत्र का 1 माला जाप करना चाहिए।
  • शनिदेव का 1 किलो सरसों के तेल से अभिषेक करना चाहिए।
  • 43 दिन तक लगातार शनि मंदिर में जाकर नीले पुष्प अर्पित करने चाहिए।
  • शनिवार के दिन 800 ग्राम दूध, उड़द जल में प्रवाहित करने चाहिए।

आपकी कुंडली में है कोई दोष? जानने के लिए अभी खरीदें फ्यूचर पॉइंट बृहत् कुंडली

8. राहु दोष के लक्षण:

  • मोटापे की परेशानी आ सकती है।
  • अचानक दुर्घटना, लड़ाई-झगड़े की आशंका हो सकती है।
  • हर तरह के व्यापार में घाटा आ सकता है।

राहु दोष के उपाय:

  • मां सरस्वती की आराधना करनी चाहिए।
  • ऊं ऐं सरस्वत्यै नमः मंत्र का 1 माला जाप करना चाहिए।
  • तांबे के बर्तन में गुड़, गेहूं भरकर बहते जल में प्रवाहित करने चाहिए।
  • मां सरस्वती के चरणों में लगातार 6 दिन तक नीले पुष्प की माला अर्पित करनी चाहिए।

9. केतु दोष के लक्षण:

  • बुरी संगत के कारण धन का हानि हो सकती है।
  • जोड़ों के दर्द से परेशानी हो सकती है।
  • संतान का भाग्योदय न होना और स्वास्थ्य के कारण तनाव रह सकता है।

केतु दोष के उपाय:

  • भगवान गणेश की आराधना करनी चाहिए।
  • ॐ गं गणपतये नमः मंत्र का 1 माला जाप करना चाहिए।
  • भगवान गणेश अथर्व शीर्ष का पाठ करना चाहिए।
  • घर के मुख्य द्वार पर दोनों तरफ तांबे की कील लगानी चाहिए।
  • पीले कपड़े में सोना, गेहूं बांधकर कुल पुरोहित को दान करना चाहिए।
  • बाएं हाथ की ऊँगली में सोने की अंगूठी पहनने से लाभ मिलता है।
  • 43 दिन तक मंदिर में लगातार केला दान करने चाहिए।
  • काले व सफेद तिल बहते जल में प्रवाहित करने चाहिए ।

जीवन की सभी समस्याओं से मुक्ति प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें !


Previous
जातक के लिए राशि अनुसार कौन सा रत्न होता है शुभ

Next
Vastu Tips & Tricks for Bedroom that works wonders!