होली की राख से करें चमत्कार - 13 उपायों से बनेगा हर काम

By: Acharya Rekha Kalpdev | 18-Mar-2024
Views : 727
होली की राख से करें चमत्कार - 13 उपायों से बनेगा हर काम

बैर भाव को भूलकर, अबीर गुलाल के रंगों में रंग जाने का त्यौहार होली दरवाजे पर दस्तक दे रही है। सब हाथ में गुलाल और पकवान लिए स्वागत को तैयार है। सर्दी अलविदा कह चुकी है और गर्मी का आगमन हो चुका है। होलाष्टक 17 मार्च से शुरू होकर, मुहूर्तों पर रोकथाम लगा रहे है। होलाष्टक भी कह रहे है, भाई, सारे कामों से कुछ फुरसत के पल होली के धमाल के लिए भी निकाल कर रखना। होली से ठीक पहले के आठ दिन होलाष्टक, होला मोहल्ला के नाम से जाने जाते है। इन 8 दिनों में शुभ काम रुक जाते है, और 9वें दिन होलिका दहन के बाद सारा उत्साह, जोश, उल्लास चरम पर होता है।

होलिका दहन / Holika Dahan का दिन इच्छाओं, कामनाओं और रुके हुए कामों को पूरा करने का दिन होता है। अगर आपको भी है इंतज़ार की कुछ रुके हुए काम पूरे हो जाए, तो आपका इंतज़ार होली पर ख़त्म होने वाला है। इस बार आप होली की राख से आप अपने जीवन में चमत्कार कर सकते है, सारे रुके हुए कामों को पूरा कर सकते है, रोगों पर रोकथाम लगा सकते है और धन समृद्धि के रास्ते खोल सकते है। 24 मार्च को होलिका दहन है, 25 मार्च की सुबह होली की राख को घर लाएं, और बताएं गए उपायों से जीवन से समस्याओं को बाहर कर दें -

बृहत् कुंडली में छिपा है, आपके जीवन का सारा राज, जानें ग्रहों की चाल का पूरा लेखा-जोखा

होली की राख के अचूक उपाय

होली के राख से- धन वृद्धि

होलिका दहन की राख को एक लाल रंग के कपडे में बांधकर, उसमें स्फटिक श्रीयंत्र चांदी के कुछ सिक्के बांधकर तिजोरी में रख दें।

होली की राख से - रोग रोकथाम

होली की राख को लाकर मंदिर में राख दें। जब भी कोई घर में रोगग्रस्त हो, बीमारियां घर का पीछा न छोड़ रही हो तो होली की इस राख में से एक चुटकी लेकर रोगी के माथे, गले और जिव्हा पर लगाएं। इससे रोगी की सेहत में जल्द सुधार होना शुरू होगा।

रुके हुए काम को बनाने का उपाय

यदि आपके काम बनते बनते रुक जाए है, शुभ कामों में व्यर्थ की बाधाएं आती है, तो आप होली के राख में से एक चुटकी राख जिव्हा और माथे पर तिलक के रूप में लगाकर निकलें। इससे रुके हुए काम बनने शुरू हो जायेंगे।

नजर दोष से बचने का उपाय

जिस बच्चे को बार बार नजर लगती हो, उस बच्चे के माथे पर सुबह स्नान के बाद होलिका दहन की राख को हाथ में लेकर, घडी की उलटी दिशा में बालक का सात बार उतारा करें, और उस राख को ले जाकर किसी मैदान या बगीचे में फेंक दें। साथ ही होलिका की राख से बालक को नित्य तिलक करें।

विवादों से बचने का उपाय

घर में यदि लड़ाई झगड़े थम नहीं रहे हो, और विवाद बढ़ते ही जा रहे हो तो होलिका दहन की राख की छोटी छोटी पोटली बांधकर घर के कोनों में रखें। राख के प्रभाव से घर से क्लेश दूर भागेगा, और सुख-शांति आएगी।

घर में नकारात्मक ऊर्जा का उपाय

जिन घरों में भूत-प्रेत, पराशक्तियों का वास रहता हो, उन लोगों को होलिका की राख लाकर सुबह पूजा के बाद राख का कुछ भाग घर के सभी कमरों में थोड़ा थोड़ा छिड़क देना चाहिए।

Also Read: होली 2024 पर ग्रहों का बन रहा है बड़ा महायोग - इन राशि वालों को मिलेगा बड़ा लाभ

रोगों को दूर भागने का उपाय

रोग घर न छोड़ रहे हो, एक के बाद एक घर में कोई न कोई रोग लगा ही रहता हो। ऐसे में यह उपाय करें- होलिका की अग्नि में घी, 2 लौंग, 1 बताशा,पान पत्ता सब वस्तुओं को लेकर एक साथ अर्पित करें। अगले दिन होलिका की राख को लाकर रोगी के पैरों में लगाएं। कुछ घंटे बाद उसे गुनगुने पाने से धो दें। रोगों को दूर भागने का यह एक अचूक उपाय है।

ऊपरी बाधाओं से मुक्ति का उपाय

तंत्र-मन्त्र, मारण, सम्मोहन और वशीकरण जैसी ऊपरी बाधाओं से मुक्ति के लिए होलिका दहन की राख से पीड़ित रोगी को स्नान कराये कुछ घंटे रखने के बाद रोगी को हलके गर्म जल से स्नान करा दें।

सौतन से छुटकारा पाने का उपाय

यदि किसी महिला का जीवन साथी भटक गया हो और अन्य स्त्री के प्रभाव में हो तो, ऎसी स्त्री को होलिका दहन के दिन जल्दी होली की 7 बार परिक्रमा करनी चाहिए। और प्रत्येक परिक्रमा के साथ एक गोमती चक्र अग्नि में दूसरी स्त्री का नाम लेकर डालें। इससे पति जल्द ही प्रभाव से बाहर आएगा और घर में स्नेह पूर्वक रहेगा।

तंत्र प्रभाव से मुक्ति का उपाय

यदि घर के किसी सदस्य पर तंत्र क्रिया का प्रभाव महसूस हो रहा हो तो परिवार का कोई एक सदस्य यह उपाय करें - होलिका दहन की अग्नि में देशी घी में 1 लौंग, 1 बताशा, 1 पान का पत्ता और थोड़ी सी मिश्री अर्पित करें। अगले दिन सूर्योदय से पहले होलिका की राख लाकर चांदी के ताबीज में भरकर गले में धारण करें।

शत्रुता को मित्रता में बदलने का उपाय

यदि किसी से सम्बन्ध बिगड़ गए हों, बहुत प्रयास से भी रिश्ते सुधर नहीं रहे हों तो होलिका दहन के समय जल्दी अग्नि के सामने मिटटी पर उस मित्र का नाम अनार की कलम से लिख कर सीधे हाथ से मिटा दे। अगले दिन होलिका की राख को लाकर जिससे रिश्ते सुधारने हो, उसके सिर पर एक चुटकी छिड़क दें, इससे शत्रुता मित्रता में बदल जायेगी।

Also Read: होली धुलेंडी पर्व 2024: गुलाल बनाने की विधि और महत्व

अशुभ ग्रह दोषों से मुक्ति का उपाय

कुंडली के पाप ग्रहों के दोषों के कारण जीवन नरक हो गया हो। वैवाहिक जीवन में मंगल, शनि, राहु कष्ट की वजह बन रहे हो, तो होलिका दहन की अग्नि में देशी घी, 2 लौंग,1 बताशा, 1 पान का पत्ता अर्पित करना चाहिए। अगले दिन होलिका दहन की राख को लाकर किसी दिन स्वार्थसिद्धि योग में राख को बहते जल में प्रवाहित कर दें।

सरकारी कष्टों से मुक्ति का उपाय

सरकारी क्षेत्रों से अगर कोई न कोई समस्या आती ही रहती हो, सरकार से सहयोग की कमी का अनुभव होने पर होलिका दहन की अग्नि के तीन बार उलटी परिक्रमा लगाएं। इससे सभी बाधाएं दूर होंगी।


Previous
कन्या और वृष समेत इन राशियों के सितारे रहेंगे मजबूत, पढ़ें ये अप्रैल माह 2024 मासिक राशिफल!

Next
दूसरे नवरात्रि की देवी कौन है? देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा कैसे करें?