आपका भविष्य और टैरो कार्ड | Future Point

आपका भविष्य और टैरो कार्ड

By: Future Point | 30-Jun-2018
Views : 8197
आपका भविष्य और टैरो कार्ड

टैरो कार्ड ज्योतिष फलादेश की एक अद्भुत पद्वति है। आगे और पीछे विभिन्न प्रकार की रुप रेखा और चित्रों से अंकित कार्ड जो स्वयं में एक अलग अर्थ लिए होते हैं। इन सभी कार्ड के दोनों ओर कुछ चित्र बने होते हैं, जिनके माध्यम से भविष्य में होने वाली किसी घटना का फलादेश किया जाता है।

जब हम टैरो कार्ड के इतिहास पर नजर डालते हैं तो पाते हैं कि ज्योतिष की इस विद्या का प्रारम्भ लगभग 2 हजार साल पहले हुआ था। सेल्टिक नामक देश के लोगों द्वारा सर्वप्रथम इस विद्या से भविष्य जानने का प्रयास किया जाता था। इस विषय में कुछ अन्य मत भी सामने आते है जिनके अनुसार यह विद्या 1971 से अधिक प्रचलन में आई।

सहज रुप में हम यह कह सकते हैं कि टैरो कार्ड भविष्य में घटित होने वाली किसी घट्ना का संकेत देती है, परन्तु वास्तव में ऐसा नहीं है टैरो कार्ड से भविष्य, भूत और वर्तमान तीनों स्थितियों की जानकारी ली जा सकती है। प्रश्नकर्ता के मन में छुपे किसी विचार को लेकर भविष्यवाणी की जाती है। वास्तव में टैरो कार्ड के द्वारा कार्ड रीडर अपनी भविष्यवाणी स्वयं नहीं कर सकता परन्तु आने वाले को एक सही दिशा अवश्य दे सकता है।

टैरो कार्ड कुछ कुछ सामान्य रुप से खेले जाने वाले ताश के पत्तों से मिलता जुलता है। इसमे काफी सारे कार्ड पारंपरिक कार्ड की तरह एक जैसे होते है। केवल कुछ कार्ड ऐसे होते हैं कि जो अलग से होते हैं। जैसे-शादी परिवार का कार्ड है। विशेष रुप से स्क्वायर कार्ड जो गुलाम के अधीन होती है।

जादुई छड़ी जो छुपे हुए रहस्यों की ओर संकेत करती है। तलवार जिसका अर्थ युद्ध और तनाव है। कप कार्ड जिसका अभिप्राय: धन , साझेदारी और प्रेम विषय है। इन खास कार्ड के अतिरिक्त अन्य बाइस कार्ड जो मेजर अरकाना कार्ड के नाम से जाने जाते है। इन कार्डस को तीन तरह से बांटा गया है। द् डेविल, द टावर और द डेथ।

टैरो कार्ड पद्वति को मुख्य रुप से प्रश्न शास्त्र की तरह से प्रयोग किया जाता है। इसमें पूछे गए प्रश्न के अनुसार उत्तर देने के लिए तीन कार्ड निकाले जाते हैं और फिर कार्डस पर अंकित चित्रों में छुपे संकेतों से उत्तर दिया जाता है। यह आवश्यक नहीं है कि प्रत्येक बार प्रश्न कर्ता अपनी बात या अपना प्रश्न कार्ड रीडर के सम्मुख रखें।

वह मन ही मन विचार कर भी कार्ड रीडर से पूछ सकता है कि जो प्रश्न मेरे मन में हैं क्या वह पूरा होगा या नहीं। इस स्थिति में कार्ड रीडर तीन कार्ड अतीत, वर्तमान और भविष्य के रुप में निकालता है तथा पूछे गए मुख्य प्रश्न के अनुसार निकाले गए कार्ड्स की व्याख्या करता है।

यह अपने आप में एक चमत्कारिक उत्तर देने वाली ज्योतिष विद्या है। कार्ड प्रश्न कर्ता की स्थिति और आने वाली परिस्थिति दोनों का स्पष्ट चित्रण टैरो कार्ड से किया जाता है। कार्ड से प्रश्न कर्ता के सकारात्मक और नकारात्मक सभी बिन्दुओं की जानकारी प्राप्त होती है, जिसे जानने के बाद व्यक्ति किसी कार्य को करने में सक्षम है या नहीं यह जाना जा सकता है।

कुछ समय प्रयास करने पर कोई भी व्यक्ति इस विद्या में पारंगत हो सकता है। जैसा की हम ऊपर कह चुके है कि प्रत्येक कार्ड का एक विशिष्ट अर्थ, संदेश या चेतावनी से युक्त होता है। खास बात यह है कि इन कार्ड्स का अर्थ बताने की कोई विशेष पद्वति नहीं है। प्रयास और अनुभव से कार्ड रीडर बनना कठिन कार्य नहीं है। तुरंत उत्तर प्राप्त होने के कारण यह बहुत रोचक, दिलचस्प और आम लोगों में लोकप्रिय भी हैं।

टैरो कार्ड मुख्य रुप से 78 कार्ड का समूह होता है। इन्हीं सभी कार्डस में व्यक्ति के जीवन की घटनाओं का विश्लेषण किया जाता है। टैरो कार्ड न केवल भविष्य के गर्त में झांकने की विद्या है बल्कि इसका प्रयोग कर आने वाले समय के विषय में मार्गदर्शन भी दिया जा सकता है। एक अच्छे प्रयासों के द्वारा कार्ड रीडर इसके जरिये उस लौकिक सत्ता से प्राप्त संकेतों को प्राप्त का सकता है।

माना जाता है कि 1971 से पहले टैरो कार्ड सिर्फ सामान्य पत्ते खेलने के लिए प्रयोग किये जाते थे। इसके बाद इनका प्रयोग ज्योतिष और भविष्य को जानने के लिए प्रयोग किया जाने लगा। टैरो कार्ड के अंतर्गत दो लोगों का होना अनिवार्य हैं प्रथम प्रश्नकर्ता और दूसरा रीडर। इस ज्योतिष में जो व्यक्ति प्रश्नकर्ता होता है वही कार्ड को फेंटता है।

इसके पश्चात कार्ड रीडर इन कार्ड्स को एक नियमित क्रम देता है। तत्पश्चात प्रत्येक कार्ड से एक के बाद एक क्रम से भविष्य में होने वाली घटनाओं का उत्तर देता है। कार्ड रीडर पहले कार्ड में निहित अर्थ को स्वयं समझता है फिर प्रश्न कर्ता के प्रश्नों का उत्तर देता है।

ज्योतिष की यह विद्या आस्था और विश्वास पर आधारित है। यदि प्रश्नकर्ता को इस विद्या पर विश्वास नहीं है तो उसे इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए। इस विद्या को कुछ लोग अविश्वास की नजरों से देखते हैं परन्तु इस बात में कोई संदेह नहीं है कि टैरो कार्ड विद्या का प्रयोग भविष्य को जानने के लिए किया जा सकता है।


Previous
Remedial Astrologer: Top 4 Astrology Tips to Make Your Life Better

Next
टैरो कार्ड राशिफल 2018