ऐश्वर्य के कारक शुक्र का मिथुन राशि में प्रवेश– जानिये 12 राशियों पर क्या होगा असर | Future Point

ऐश्वर्य के कारक शुक्र का मिथुन राशि में प्रवेश– जानिये 12 राशियों पर क्या होगा असर

By: Future Point | 15-Feb-2020
Views : 6715ऐश्वर्य के कारक शुक्र का मिथुन राशि में प्रवेश– जानिये 12 राशियों पर क्या होगा असर

शुक्र ग्रह सांध्य तारा नाम से प्रसिद्ध है। यह एक शुभ ग्रह है, और प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में सुख-सुविधाओं का कारक है| शुक्र वासनाओं में पूरा आसक्त करवाता है दूसरी तरफ निःस्वार्थ प्रेम का द्योतक है। शुक्र, पत्नी, प्रेम, विवाह, विलासिता, समृद्धि, सुख, आभूषण, वाहन, कला, नृत्य, संगीत, अभिनय, जुनून और काम का प्रतीक है, संसार की सभी सुख देनी वाली चीजों का कारक है| शुक्र के संयोग से ही लोगों को इंद्रियों पर संयम मिलता है और नाम व ख्याति पाने के योग्य बनते हैं। शुक्र के दुष्प्रभाव से त्वचा रोग, यौन समस्याएं, अपच, कील-मुहासे, मधुमेयरोग, नपुंसकता, क्षुधा की हानि और त्वचा पर चकत्ते हो सकते हैं। शुक्र ग्रह का जीवन में महत्वपूर्ण रोल होता है। यदि शुक्र बलवान है तो लगभग हर भौतिक सुख की प्राप्ति होती है और यदि नीच का है या कमजोर है तो शारीरिक दुर्बलता, विवाह में देरी, गुप्त सम्बन्धों से बदनामी, मूत्र सम्बन्धी बीमारियॉ होना व प्रेम के मामलों असफलता ही हाथ लगने लगती है| शुक्र ग्रह को वृषभ और तुला राशि का स्वामित्व प्राप्त है| वहीं मीन राशि में यह उच्च का और कन्या राशि में नीच का होता है| शनि, बुध और राहु-केतु शुक्र के मित्र ग्रह हैं| वहीं सूर्य, चन्द्रमा, और बृहस्पति के साथ शुक्र शत्रुता रखते हैं, और बुध के साथ सम भाव रखतें है| शुक्र का गोचर जन्मकालीन राशि से पहले, दूसरे, तीसरे, चौथे, पाँचवें, सातवें, नौवें, ग्यारहवें और बारहवें भाव में शुभ फल देता है, जबकि शेष भावों में यह अशुभ फल देता है|

जिन लोगों की जन्मकुंडली में शुक्र की स्थिति मजबूत होती है उनका भौतिक जीवन सुखमय होता है और उनकी लाइफ में प्रेम और सुख की भी कोई कमी नहीं होती| शुक्र की प्रत्येक गतिविधि काफी अहमियत रखती है| शुक्र ग्रह हमारे जीवन पर विशेष प्रभाव रखता है, यह ग्रह 01 अगस्त 2020, शनिवार को प्रातः 05 बजकर 10 मिनट पर मिथुन राशि में गोचर करेगा और 01 सितम्बर 2020, मंगलवार को प्रातः 02 बजकर 04 मिनट तक इसी राशि में स्थित रहेगा, इस दौरान शुक्र के गोचर से सभी राशियां प्रभावित होने वाली हैं, ज्योतिष के अनुसार जानते हैं कि शुक्र का मेष राशि में परिवर्तन होने की वजह से किस राशि को फायदा तो किस को नुकसान उठाना पड़ सकता है|

मेष राशि (Aries)

मेष राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से तीसरे भाव में गोचर करेंगे| इस दौरान शुक्र का राहु के साथ युति सम्बन्ध हो रहा है, जो शुक्र के शुभ प्रभाव में कमी करने वाला होगा| नौकरी और व्यापार करने वाले लोगों को फायदा होने के आसार हैं| आपके लिए छोटी यात्रा का योग बन रहा है। धन प्राप्ति के योग भी बन रहे हैं। मीडिया कर्मियों, कलाकारों और लेखकों को सफलता और समृद्धि मिलेगी। स्वरोजगार करने वाले व्यक्तियों को सफलता और प्रगति मिलेगी| साथ ही आप उत्साही महसूस करेंगे और आपकी जागरूकता बढ़ेगी। इस दौरान आपका अपने भाई-बहनों के साथ किसी बात को लेकर विवाद हो सकता है। पैतृक संपत्ति का बंटवारा करने को लेकर कोई निर्णय नहीं हो पाएगा। इस समय प्रॉपर्टी से जुड़ा कोई सौदा न करें। प्रेम संबंधों के लिए समय ठीक है। नए रिश्ते बनेंगे। संतान पक्ष को लेकर महत्वपूर्ण निर्णय ले पाएंगे।

उपाय-

  • नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करें|
  • लाल रंग की गाय की सेवा करें।

वृषभ राशि (Taurus)

वृषभ राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान राहु शुक्र की युति दूसरे भाव में हो रही है, जिसके फलस्वरूप राहु के प्रभाव में आप बुरी आदतों में लिप्त हो सकते हैं। इसलिए थोड़ा सावधानी रखें। पारिवारिक जरूरतों को पूरा करने में आपको बहुत खर्च करना पड़ सकता है। गायकों और सार्वजनिक वक्ताओं में नाम और प्रसिद्धि होगी। इस समय कारोबार को बढ़ाने के लिए आप कोई महत्वपूर्ण फैसला ले सकते हैं| इस दौरान आपकी संवाद शैली प्रभावपूर्ण रहेगी, आप लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने में सफल साबित होंगे| खानपान का विशेष ध्यान रखें| ससुराल पक्ष के लोगों के साथ आपके मधुर संबंध बनेंगे, और ससुराल पक्ष से विशेष लाभ भी मिल सकता है, जीवनसाथी का ध्यान रखें क्योंकि इस दौरान उनकी सेहत प्रभावित हो सकती है| अविवाहितों के विवाह की बात बन जाएगी। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी।

उपाय-

  • शुक्रवार को शुक्र ग्रह की पूजा करवाएं तथा कन्या पूजन करें|
  • शुक्रवार को चावल दान करें।

मिथुन राशि (Gemini)

मिथुन राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी ही राशि में गोचर करेंगे| शुक्र का यह गोचर आपके लिए लाभदायक रहेगा। लोग आपसे आकर्षित होंगे, और आपके प्रत्येक कार्य बनेंगे, और आपके व्यक्तित्व में वृद्धि होगी। इस दौरान आप अपनी बातों से सबको प्रभावित कर लेंगे। धन-संपत्ति की प्राप्ति होगी। प्रॉपर्टी, शेयर मार्केट में निवेश लाभदायक होगा। शुक्र गोचर के दौरान दांपत्य जीवन सुखद रहेगा। लग्जरी लाइफ पर खर्च करेंगे। भौतिक-सुख साधनों की प्राप्ति होगी| ऐसा कोई भी कार्य करने से बचें जिसकी वजह से आपके मान-सम्मान पर प्रभाव पड़े। यदि आप अविवाहित हैं तो शादी तय हो सकती है। विवाहितों को संतान प्राप्ति के योग हैं। इस गोचर के दौरान आपके अंदर नई चीजों को सीखने की लालसा बढ़ेगी और इस ज्ञान को हासिल करके आप बुलंदियों को छू भी सकते हैं। विपरीत लिग के लोगों के द्बारा दी गई सलाह आपके लिए लाभकारी साबित होगी। कार्यस्थल पर भी आप अपने काम का मजा लेंगे। अविवाहित लोगों की इस दौरान विवाह होने की बात आगे चल सकती है| स्वास्थ्य की दृष्टि से यह समय मिलाजुला रहने वाला है|

उपाय-

  • बहन और बुआ को कोई उपहार दें, और उनके साथ अच्छे संबंध रखें।
  • हर शुक्रवार गाय को हरी घास खिलाएं|

कर्क राशि (Cancer)

कर्क राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान आपके खर्च में बढ़ोतरी होगी, आप अपनी सुख सुविधाओं के लिए अधिक खर्च करेंगे। लंबी दूरी की यात्रा कर सकते हैं। इस समय विदेश जाने के योग भी बन रहे हैं। मन में अधिक वासनात्मक विचार आ सकते हैं। इन विचारों पर नियंत्रण रखने की कोशिश करें। नया कारोबार शुरू करने के लिए वक्त अच्छा है। कानूनी पचड़े और पुराने अदालती विवाद से बाहर निकल सकते हैं| इस दौरान मकान या वाहन खरीदने का योग बन रहा है, हालांकि यात्राओं में खर्च भी अधिक होगा, जितना संभव हो सके अनावश्यक खर्च से बचने का प्रयास करें| इस अवधि में धन, ऊर्जा और स्वास्थ्य की हानि हो सकती है। साथ ही आपको अपने प्रेमी या जीवनसाथी से अवास्तविक अपेक्षाएं हो सकती हैं। परिवार, जीवनसाथी या साझेदारी के बिजनेस के कारण खर्च बढ़ सकते हैं।

उपाय-

सिंह राशि (Leo)

सिंह राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर काल में आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत रहेगी, सभी प्रयास सफल होंगे। इस समय आपके व्यापार में लाभ और आपकी आय में वृद्धि होगी, नौकरी करने वाले लोगों को अच्छे फल मिलने की पूरी उम्मीद है| आपकी आय में वृद्धि हो सकती है, आपकी पदोन्नति भी संभव है| आपके खान-पान और रहन-सहन में भी सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेगा। प्रेम के मामलों में भी आपको सफलता मिलने की संभावना है। इसके अलावा आपके सामाजिक दायरे में भी वृद्धि की संभावना है। भाई-बहनों से आर्थिक सहायता प्राप्त होगी। दोस्तों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा और उनके साथ आप कहीं घूमने भी जा सकते हैं।

उपाय-

  • नित्य सूर्य देव को अर्घ्य प्रदान करें, और शिवलिंग का शहद से अभिषेक करें|
  • आदित्यह्रदय स्त्रोत का पाठ करें|

कन्या राशि (Virgo)

कन्या राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से दशवें भाव में गोचर करेंगे| इस राशि वालों के लिए शुक्र का यह गोचर महत्वपूर्ण साबित होने वाला है, क्योंकि शुक्र भाग्येश और धनेश होकर कर्म भाव में स्थित हैं, जो इस दौरान जातक को कार्यक्षेत्र में अच्छी सफलता दिलाएगा| आप अपने करियर में अधिकार और मान्यता प्राप्त करेंगे। राजनीतिज्ञों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, डिजाइनरों, संगीतकारों और बैंकरों की प्रगति होगी। लेकिन बेवजह की बातों से अपना ध्यान अलग रखें, वरना काम में समस्या का सामना करना पड़ सकता है। अच्छी कल्पना और रचनात्मक कौशल रखने वालों को करियर और पढ़ाई में अधिक सफलता मिलेगी। साथ ही जीवन साथी की तलाश करने वालों को पार्टनर मिल सकता है|

उपाय-

  • भगवान गणेश जी की आराधना करें, और उन्हें द्रुवा एवं मोदक चढ़ाएँ|
  • कन्याओं को हर शुक्रवार मिश्री खिलाएं।

जानें अपने आने वाले साल का हाल - वार्षिक कुंडली 2020

तुला राशि (Libra)

तुला राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से नवमें भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान आपको मिला-जुला परिणाम प्राप्त होगा। जहां आपको एक तरफ विशेष लाभ मिलेगा, वहीं दूसरी तरफ पिता का स्वास्थ्य ख़राब हो सकता है| इस गोचर के दौरान आपको विविध क्षेत्रों में लाभ मिलने के प्रबल योग हैं। कपड़े और आभूषणों का लाभ प्राप्त होगा। नौकरी बदल सकते हैं या फिर उसी नौकरी में पद्दोन्नति की संभावना है। समाज में आपकी प्रसिद्धि बढ़ेगी और किसी लंबी यात्रा से लाभ होगा, यह यात्रा आपके सुख और आनंद में वृद्धि करेंगी। इस समय आपकी रूचि धर्म और अध्यात्म के क्षेत्र में बढ़ेगी, और भाग्य का पूर्ण सहयोग मिलेगा| आपकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। दांपत्य जीवन में सुख-सौभाग्य की वृद्धि होगी| उच्च अध्ययन और विदेश यात्रा के लिए अच्छा समय है, आपको सफलता मिल सकती हैं।

उपाय-

  • “ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः” मंत्र का नित्य 108 बार जाप करें।
  • हर रोज़ माथे पर सफेद चंदन का तिलक लगाएँ।

वृश्चिक राशि (Scorpio)

वृश्चिक राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से आठवें भाव में गोचर करेंगे| इस दौरान आपको कार्यक्षेत्र में उतार-चढ़ाबों का सामना करना पड़ सकता है। इस गोचर के दौरान आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत रहेगी। धन संचित कर सकेंगे। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। अपने वासनात्मक विचारों पर नियंत्रण रखें। छात्रों को इस गोचर का फायदा मिलेगा। पारिवारिक जीवन में मानसिक तनाव और कष्ट का सामना करना पड़ सकता है। जीवनसाथी के साथ विवादित स्थिति बनेगी। प्रेम संबंधों में खटास पैदा हो सकती है, लेकिन आप संयम से काम लें। आर्थिक मामले अटक सकते हैं। पैसों का निवेश करते समय सावधानी रखें। विवाहित जोड़ों को निर्णय लेने में जीवनसाथी का साथ मिल सकता है। संयुक्त संपत्ति की वृद्धि के लिए ससुराल पक्ष से मदद की उम्मीद की जा सकती है। विवाहित व्यक्तियों के लिए उनके गुप्त मामले उन्हें परेशानी में डाल सकते हैं। इसलिए उनके लिए मर्यादित आचरण करना ही बेहतर रहेगा।

उपाय-

  • श्री सूक्त का प्रतिदिन पाठ करें।
  • प्रतिदिन इत्र का प्रयोग करना आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा|

धनु राशि (Sagittarius)

धनु राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से सातवें भाव में गोचर करेंगे| इस दौरान आपको मान-सम्मान की हानि हो सकती है। नौकरी करने वाले जातकों को सफलता मिलने में समस्या आ सकती है। सेहत का खास ख्याल रखना होगा। धन हानि हो सकती है, इसलिए सतर्क रहने की विशेष आवश्यकता है। गोचर की अवधि में पैसों के लेनदेन में सावधानी बरतें। संपत्ति को लेकर परिजनों से मतभेद होंगे। जीवनसाथी के साथ सामंजस्य बनाने में परेशानी आएगी। आपका प्रणय निवेदन अस्वीकार हो जाएगा| यदि आप साझेदारी में बिजनेस कर रहे हैं, तो अधिक बेहतर परिणाम मिलने की संभावना नहीं है| वैवाहिक जीवन में किसी ग़लतफ़हमी के कारण जीवनसाथी से आपके संबंध कटु हो सकते हैं| ऐसे में उनके साथ प्रेम से बातचीत करें, और ग़लतफ़हमी को तुरंत दूर करने का प्रयास करें|

उपाय-

  • रोजाना विष्णु सहस्त्रनाम का जाप करें|
  • शुक्रवार के दिन देवी को श्वेत पुष्प की माला अर्पण करने से लाभ प्राप्त होगा|

मकर राशि (Capricorn)

मकर राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेंगे| इस दौरान कार्यक्षेत्र में आपको विशेष लाभ प्राप्त हो सकता है। लेकिन सफलता प्राप्त करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। लॉटरी और सट्टा लगाने वालों को इस अवधि में लाभ मिल सकता है। इस अवधि में महिला मित्रों के साथ अच्छे संबंध बनाकर रखें और उनका सम्मान करें, क्योंकि संभव है, कि किसी महिला की वजह से आपको मुसीबतों का सामना करना पड़ें, यदि आप किसी प्रतियोगी परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, तो समझ लीजिए इसमें सफल होने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी| इस समय आपको पेट से जुड़ी हुई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं| इसलिए आपको अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखना होगा|

उपाय-

  • भोलेनाथ की आराधना करें और उन्हें बिना टूटे हुए चावल चढ़ाएं|
  • सरसों का तेल दान करें।

कुंभ राशि (Aquarius)

कुम्भ राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से पांचवें भाव में गोचर करेंगे| कार्यक्षेत्र में आपको विशेष रूप से लाभ प्राप्त होगा। इस दौरान आप कार्यक्षेत्र में बदलाव भी कर सकते हैं, लेकिन नौकरी बदलने से पहले दूसरी जगह नौकरी सुनिश्चित कर लें| इस गोचर के प्रभाव से आपको बच्चों का प्रेम और सम्मान प्राप्त होगा। आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा, धनलाभ के योग बन रहे हैं या फिर लॉटरी, सट्टा आदि में लाभ हो सकता है। इस दौरान आप अपनी जीवनशैली में बदलाव करेंगे, जिससे समाज में आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी। नौकरी तलाशने वाले लोगों को नई नौकरी मिलने के योग हैं। संतान प्राप्ति के योग बन रहे हैं। छात्रों को प्रतियोगी परीक्षा में सफलता मिलने की प्रबल संभावना है। अविवाहित प्रेमी जातकों के लिए समय अच्छा रहेगा, इस दौरान आप अपने प्रेमी के साथ अधिक से अधिक समय बिताना पसंद करेंगे, माता-पिता का पूर्ण सहयोग मिलेगा, आपको पेट से सम्बंधित कोई परेशानी हो सकती है|

उपाय-

  • शुभ फलों की प्राप्ति के लिए मां दुर्गा की पूजा करें।
  • लक्ष्मी यंत्र की स्थापना अपने पूजा स्थान पर करें|

मीन राशि (Pisces)

मीन राशि वालों के लिए शुक्रदेव आपकी राशि से चौथे भाव में गोचर करेंगे| कॅरियर की दृष्टि से कुछ अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे, और आपकी कार्यक्षमता में बढ़ोत्तरी होगी| सहकर्मियों का सहयोग भी प्राप्त होगा, कार्यस्थल पर आप उम्मीद से अच्छा प्रदर्शन करेंगे। जिससे आपके मान सम्मान में वृद्धि होगी और यदि साझेदारी में व्यापार करना चाहते हैं, तो भी समय अच्छा है| इस समय आप अपने अंदर खुशी का अनुभव करेंगे। भाई-बंधुओं द्बारा किया गया समर्थन आपको खुशी देगा। कोई सुखद समाचार मिल सकता है। नया मकान या वाहन खरीदने के लिए समय अनुकूल नहीं है| माता जी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है| पारिवारिक स्तर पर इस दौरान आपको कोई सुखद समाचार प्राप्त हो सकता है जिससे परिवार में उत्सव का माहौल रहेगा।

उपाय-

  • पांच मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से शुभ फलों की प्राप्ति होगी|
  • शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी को खीर का भोग लगाएं|
  • भगवान विष्णु को तुलसी पत्र चढ़ाएं|