श्रावण मास विशेष – 1 से 14 मुखी रुद्राक्ष के लाभ ।

By: Future Point | 15-Jul-2019
Views : 21308
श्रावण मास विशेष – 1 से 14 मुखी रुद्राक्ष के लाभ ।

रुद्राक्ष एक अमूल्य मोती होता है जिसे धारण करके या जिसका उपयोग करके व्यक्ति अमोघ फलों को प्राप्त करता है, भगवान शिव का स्वरूप रुद्राक्ष व्यक्ति के जीवन को सार्थक कर देता है अतः इसे अपनाकर सभी व्यक्ति कल्याणमय जीवन को प्राप्त कर सकते हैं।

1 मुखी से 14 मुखी रुद्राक्ष के लाभ एवं धारण विधि -


एक मुखी रुद्राक्ष :

एक मुखी रुद्राक्ष को दुर्लभ माना जाता है, एक मुखी रुद्राक्ष को शिव के सबसे करीब माना जाता है अतः वे लोग जो धन-दौलत और भौतिक चीजों का मोह रखते हैं उन्हें एक मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए, एक रुद्राक्ष धारण करने से पहले ऊँ ह्रीं नम: मंत्र का जाप करना चाहिए, इस मंत्र का जाप 108 बार (एक माला) करना चाहिए तथा इसको सोमवार के दिन धारण करना चाहिए।

Buy One Faced Rudraksha Online


दो मुखी रुद्राक्ष :

शिव का यह रुद्राक्ष हर इच्छा पूरी करता है, दो मुखी रुद्राक्ष को देवदेवेश्वर कहा गया है, और सभी प्रकार की मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए इसे धारण करना चाहिए, दो मुखी रुद्राक्ष को धारण करते समय ॐ नम: का जाप करना चहिए. धनु व कन्या राशि वाले तथा कर्क, वृश्चिक और मीन लग्न वालों के लिए इसे धारण करना लाभप्रद होता है।

Buy Online Two Faced Rudraksha


तीन मुखी रुद्राक्ष :

तीन मुखी रुद्राक्ष को अनल (अग्न‍ि) के समान बताया गया है, शिव पुराण के अनुसार तीन मुखी रुद्राक्ष कठिन साधाना के बराबर फल देने वाला बताया गया है, व्यक्ति की हर इच्छा को पूरा करने का सबसे तेज माध्यम है तीन मुखी रुद्राक्ष, अतः इसे पहनने से जल्दी से जल्दी इच्छा पूरी होती है, तीन मुखी रुद्राक्ष को पहनते समय ऊँ क्लीं नम: का जाप करना चाहिए, इस मंत्र को प्रतिदिन 108 बार यथावत पढ़ना चाहिए।

Buy Three Faced Rudraksha Online

चार मुखी रुद्राक्ष :

चार मुखी रुद्राक्ष को ब्रह्मा का स्वरूप कहा जाता है, इसे धारण करने से व्यक्ति को धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति होती है, इसे धारण करने का मंत्र है ऊँ ह्रीं नम:। वृष, मिथुन, कन्या, तुला, मकर व कुंभ लग्न के जातकों को इसे धारण करना चाहिए, सोमवार को यह मंत्र 108 बार जपकर धारण करना चाहिए।

Buy Online Four Faced Rudraksha


पांच मुखी रुद्राक्ष :

पंच मुखी रुद्राक्ष को स्वयं रुद्र कालाग्नि के समान बताया गया है, इसे धारण करने से शांत व संतोष की प्राप्त‍ि होती है, वे लोग जो अपनी हर परेशानी से छुटकारा पाना चाहते हैं उन्हें पांच मुखी रुद्राक्ष पहनना चाहिए, जिन भक्तों को सभी परेशानियों से मुक्ति चाहिए और मनोवांछित फल प्राप्त करने की इच्छा है उन्हें पंचमुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए, इसका मंत्र है ऊँ ह्रीं नम:। सोमवार की सुबह मंत्र एक माला जप कर इसे काले धागे में विधि पूर्वक धारण करना चाहिए, यह रुद्राक्ष सभी प्रकार के पापों के प्रभाव को भी कम करता है, मेष, कर्क, सिंह, वृश्चिक, धनु, मीन वाले जातक इसे धारण कर सकते हैं।

Buy Five Faced Rudraksha Online


छ: मुखी रुद्राक्ष :

छः मुखी रुद्राक्ष को कार्तिकेय का रूप कहा जाता है, कार्तिकेय भगवान शिव के पुत्र हैं, जो लोग इसे धारण करते हैं उन्हें ब्रह्महत्या के पाप से मुक्ति मिलती है, इसे धारण करने का मंत्र है ॐ ह्रीं हुम नम:। इसे धारण करने के पश्चात् प्रतिदिन ‘ऊँ ह्रीं हु्रं नमः’ मंत्र का एक माला जप करना चाहिए, आरोग्यता तथा दीर्घायु प्राप्ति के लिए वृष व तुला राशि तथा मिथुन, कन्या, मकर व कुंभ लग्न वाले जातक इसे धारण कर लाभ उठा सकते हैं।

Buy Online Six Faced Rudraksha

सात मुखी रुद्राक्ष :

सात मुखी रुद्राक्ष को अनंग बताया गया है वे लोग जिन्हें अत्याधिक धन की हानि हुई है और उनके पास इससे उबरने का कोई तरीका नहीं है उन्हें इस रुद्राक्ष को पहनना चाहिए, सात मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से पहले ऊँ हुं नम: का जाप करना चाहिए, जो लोग गरीबी से मुक्ति चाहते हैं तो इस रुद्राक्ष को धारण करने से गरीब व्यक्ति धनवान बन सकता है, इसका मंत्र है- ऊँ हुं नम:। इस मंत्र के साथ यह रुद्राक्ष धारण करना चाहिए, मकर व कुंभ राशि वाले व्यक्ति इसे धारण कर लाभ ले सकते हैं।

Buy Seven Faced Rudraksha Online at Future Point Astroshop


आठ मुखी रुद्राक्ष :

शिव पुराण के अनुसार अष्टमुखी रुद्राक्ष भैरव महाराज का रूप माना जाता है, जो लोग इस रुद्राक्ष को धारण करते हैं वे अकाल मृत्यु से शरीर का त्याग नहीं करते हैं और ऐसे लोग पूर्ण आयु जीते हैं, वे लोग जो रोग मुक्त जीवन जीना चाहते हैं उनके लिए आठ मुखी रुद्राक्ष एक दम उपयुक्त है, इस रुद्राक्ष के लिए मंत्र है ॐ हुम नम:। मकर और कुंभ राशि वालों के लिए यह अनुकूल है, मेष, वृष, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, कुंभ व मीन लग्न वाले इससे जीवन में सुख समृद्धि प्राप्त कर सकते हैं।

Buy Eight Faced Rudraksha Online


नौ मुखी रुद्राक्ष :

इस रुद्राक्ष को नौ देवियों का स्वरूप कहा जाता है, यह रुद्राक्ष महाशक्ति के नौ रूपों का प्रतीक है, जो लोग नौमुखी रुद्राक्ष धारण करते हैं वे सभी सुख-सुविधाएं प्राप्त करते हैं और इन लोगों को समाज में मान-सम्मान प्राप्त होता है, अतः समाज में प्रतिष्ठा की चाह रखने वाले लोगों को नौ मुखी रुद्राक्ष पहनना चाहिए, इसका मंत्र है- ऊँ ह्रीं हुं नम:। इस मंत्र के साथ यह रुद्राक्ष धारण करना चाहिए. मकर एवं कुंभ राशि वालों को इसे धारण करना चाहिए।

Buy nine faced rudraksha online at futurepointindia.com

दस मुखी रुद्राक्ष :

दस मुखी रुद्राक्ष को भगवान विष्णु जी का स्वरूप माना जाता है, दस मुखी रुद्राक्ष में भगवान विष्णु तथा दस महाविद्या का निवास माना गया है, यह हर प्रकार की खुशियों को पाने की चाह रखने वाले लोगों को इस रुद्राक्ष को पहनना चाहिए जिसका मंत्र है ॐ ह्रीं नम:। जो लोग अपनी सभी इच्छाएं पूरी करना चाहते हैं वे दस मुखी रुद्राक्ष पहन सकते हैं, मानसिक शांति, भाग्योदय तथा स्वास्थ्य का यह अनमोल खजाना है, सर्वग्रह इसके प्रभाव से शांत रहते हैं. मकर तथा कुंभ राशि वाले जातकों को इसे प्राण-प्रतिषिठत कर धारण करना चाहिए।

Buy Ten Faced Rudraksha Online


ग्यारह मुखी रुद्राक्ष :

शिव पुराण के अनुसार ग्यारह मुखी रुद्राक्ष भगवान शिव के अवतार रुद्रदेव का रूप है, जो व्यक्ति इस रुद्राक्ष को धारण करता है वह सभी क्षेत्रों में सफलता प्राप्त करता है, शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है. ग्यारह मुखी रुद्राक्ष को रुद्रदेव का स्वरूप माना जाता है अतः हर क्षेत्र में सफलता पाने के लिए इसे पहनना चाहिए. इसका मंत्र है ॐ ह्रीं हुम नम:। जो व्यक्ति इसे श‍िखा में धारण करता है उसे कई हजार यज्ञ कराने का फल मिलता है, इसे धारण करने से बल व तेज में वृद्धि होती है. मकर व कुंभ राशि के व्यक्ति इसे धारण कर जीवन-पर्यंत लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Buy Online Eleven Faced Rudraksha


बारह मुखी रुद्राक्ष :

बारह मुखी रुद्राक्ष को बालों में पहना जाता है, इसे धारण करने का मंत्र है ऊँ क्रौं क्षौं रौं नम:। जो व्यक्ति बाहर मुखी रुद्राक्ष को धारण करते हैं उन्हें बारह आदित्यों की विशेष कृपा प्राप्त होती है, बारह मुखी रुद्राक्ष विशेष रूप से बालों में धारण करना चाहिए, बारह मुखी रुद्राक्ष को विष्णु स्वरूप माना गया है, इसे धारण करने से सर्वपाप नाश होते हैं, इसे धारण करने से दोनों लोकों का सुख प्राप्त होता है तथा व्यक्ति भाग्यवान होता है।

Buy Twelve Faced Rudraksha at futurepointindia.com

तेरह मुखी रुद्राक्ष :

विश्वदेव के स्वरूप में देखे जाने वाले इस रुद्राक्ष को पहनने वाले लोगों का सौभाग्य चमकने लगता है, इसे धारण करने से पहले ॐ ह्रीं नम: मंत्र का जाप करना चाहिए, इस रुद्राक्ष को धारण करने से व्यक्ति भाग्यशाली बन सकता है और तेरह मुखी रुद्राक्ष से धन लाभ होता है, यह समस्त कामनाओं एवं सिद्धियों को प्रदान करने वाला है।

Buy Online Thirteen Faced Rudraksha


चौदह मुखी रुद्राक्ष :

इसे स्वयं शिव का स्वरूप कहा जाता है जो समस्त पापों से मुक्ति दिलाता है, इसका मंत्र है ॐ नम:। इसे धारण करने वाले व्यक्ति को सभी प्रकार के पापों से मुक्ति मिल जाती है, चौदह मुखी रुद्राक्ष धारण करने से मनुष्य श‍िव के समान पवित्र हो जाता है, सिंह राशि वाले इसको धारण करें तो उत्तम रहता है।

Buy Fourteen Faced Rudraksha Online


Previous
2019 हरियाली तीज विशेष – महत्व, कथा एवं पूजा विधि ।

Next
2019 नाग पंचमी विशेष- महत्व, कथा एवं पूजा विधि