बुध का मीन राशि में गोचर 2024 - बुद्धि का किसे मिलेगा साथ? किसकी बढ़ेंगी गलतफहमियां

By: Acharya Rekha Kalpdev | 27-Feb-2024
Views : 1481
बुध का मीन राशि में गोचर 2024 - बुद्धि का किसे मिलेगा साथ? किसकी बढ़ेंगी गलतफहमियां

Budh Gochar 2024: वैदिक ज्योतिष नौ ग्रह, 12 राशि और 27 नक्षत्र से मिलकर बना है। नौ ग्रहों में बुध को राजकुमार का स्थान प्राप्त है। बुध बुद्धि, बौद्धिकता, गणना, बही खाते, गणित, नियोजन और व्यापार के कारक ग्रह है। जिस प्रकार ज्योतिष में किसी के मन को जानने के लिए कुंडली में चंद्र की स्थिति को देखा जाता है, ठीक उसी प्रकार जातक की मानसिकता को समझने, जानने के लिए कुंडली में बुध की स्थिति का विचार किया जाता है।

बुध ग्रह कौन से विषयों का प्रतिनिधित्व करता है?

जातक के बौद्धिक स्तर, विश्लेषण क्षमता, स्मरणशक्ति, वाक् पटुता, वाणी और शिक्षा आदि बुध से देखा जाता है। व्यापारिक बुद्धि का होने के कारण, जातक में लेखन क्षमता आती है, पत्रकारिता, अध्यापन, मार्केटिंग का गुण बुध के प्रभाव से आता है। बुध ही व्यक्ति को वाचाल और मिलनसार होने का गुण भी देता है। बुध व्यक्ति को मितव्ययी बनाता है। बुद्धिमता, वाणी पटुता, तर्क, अभिव्यक्ति, शिक्षा, शिक्षण, गणित, डाकिया, ज्योतिषी, लेखाकार, व्यापार, कमीशन, प्रकाशन आदि। बुध हरी वस्तुओं का कारक है। हरा चना, हरी सब्जियां, पन्ना, तिलहन, पालक मिश्रित वस्तुए। स्थांनों में बुध स्कूल, खेल का मैदान, पार्क, विश्व विद्यालय का प्रतिनिधित्व करता है। अंगों में बुध मस्तिष्क, जिह्वा, स्नायु, कंठ, त्वचा, वाक्शक्ति को प्रस्तुत करता है। रोगों में स्मरण शक्ति की हानि, त्वचा की बीमारियां, दौरे, चेचक, कफ, वात-पित्त, गूंगापन। धातुओं में बुध का रत्न पन्ना है, धातुओं में पीतल और सोना बुध की धातुएं है।

बृहत् कुंडली में छिपा है, आपके जीवन का सारा राज, जानें ग्रहों की चाल का पूरा लेखा-जोखा

वैदिक ज्योतिष में बुध ग्रह कौन है?

बुध कन्या राशि में 15 अंश पर उच्च का होता है, और मीन राशि में 15 अंश पर ही नीच का होता है। बुध ग्रह को मिथुन और कन्या राशि का स्वामित्व प्राप्त है। इसके अलावा बुध की मूलत्रिकोण राशि कन्या है। बुध मुख्य रूप से बालपन और वाणी से संबंधित ग्रह है। इस संसार में संचार-व्यवस्था, संपर्क, सूचना, संचार-व्यवस्था, पत्र-व्यवहार और संचार के सभी साधनों का प्रतिनिधित्व करता है। आज सारा संसार सोशल मिडिया का संसार है, डिजीटल मीडिया हर वस्तु पर छाया हुआ है। वेबसाइट और सोशल मीडिया के सभी प्लेटफार्म बुध की ही वस्तुएं है। बुध शुभ हो तो व्यक्ति अपनी वाणी और बुद्धिमता से लोगों को प्रभावित करने में कुशल होता है। मार्केटिंग के काम में उसे महारत हासिल होती है। ऐसा व्यक्ति उन्नति और सफलता पाने के लिए अपनी वाणी का प्रयोग करता है। वक्ता, वकील, पत्रकार, सलाहकार और अनुशासन आदि इनके कार्यक्षेत्र हो सकते है।

बुध मीन राशि में कब जा रहा है?

बुध 7 मार्च, 2024, 09:35 प्रात:, दिन गुरूवार को अपनी नीच राशि मीन में गोचर करने वाला है। मीन राशि देव गुरु बृहस्पति की राशि है, ऐसे में बुध गुरु की राशि में जा रहा है। बुध बुद्धि है और गुरु ग्रह ज्ञान और विवेक का करक है, जब भी बुद्धि ने स्वयं को ज्ञान और विवेक से अधिक समझा है, तभी बुद्धि का ह्रास होता है और बुद्धि नीच का फल देने लगती है। 07 मार्च को बुध का नीच राशि में जाना, कई राशियों के जातकों के लिए विशेष बदलाव लेकर आ सकता है ऐसे में अन्य वर्गों के साथ साथ, व्यापारियों और छात्रों के जीवन में उतार-चढाव आने के योग भी इस समय में बन रहे है।

इस गोचर काल में बुध को मिलेगा कौन से ग्रहों का साथ?

बुध गोचर में मीन राशि में 07 मार्च से लेकर 26 मार्च के मध्य रहेंगे, उसके बाद 09 अप्रैल को वक्री अवस्था में एक बार फिर से मीन राशि में वापसी करेंगे। 10 मार्च, 2024, 11:23 प्रात:, को बुध उदय भी हो रहे है। मीन राशि में गोचर के इन 20 दिनों में बुद्धि को राहु की युति का साथ मिलने वाला है, जिन पर सप्तम भाव कन्या राशि में गोचर कर रहे केतु की दृष्टि का प्रभाव रहने वाला है। बुध और राहु की युति को 14 मार्च से सूर्य का साथ भी मिलने वाला है। अत: बुध के गोचर फल में सूर्य, राहु और केतु का प्रभाव भी शामिल रहेगा।

Also Read: सूर्य गोचर मीन राशि में 2024 - किस राशि का बढ़ेगा टैक्स, किसकी लगेगी लॉटरी

ऐसे में बुध का अपनी नीच राशि (मीन राशि) में गोचर करना, सभी 12 राशियों के लिए जीवन बदलने वाला साबित हो सकता है। बुध के गोचर की 20 दिन की अवधि बौद्धिक कार्यो करने वालों के लिए बड़े बदलाव वाली रहेगी, बुध का यह गोचर आपके लिए कैसा रहने वाला है - आइये जाने –

मीन राशि (नीच राशि) में बुध 12 राशियों के लिए कैसे रहेंगे?

मेष राशि

इस अवधि में आप अपने शत्रुओं से बच कर रहें, उनकी दुर्बुद्धि से आपको नुकसान हो सकता है। मित्रों के साथ विदेश यात्रा के योग बन रहे है। विदेश में उच्च शिक्षा के लिए कोशिश कर रहे छात्रों को सफलता मिलेगी। पत्रकारिता, वकील और वक्ताओं को इस गोचर का शुभ फल मिलेगा, वाणी में बौद्धिकता और राहु का चातुर्य शामिल होने से वकील सफलता के नए आयाम प्राप्त करेंगे। तर्क वितर्क, बहस में ग्रह गोचर का लाभ मिलेगा। शत्रुओं से सावधान रहना होगा। स्वास्थ्य का खास ध्यान रखें, वाणी दोष से रिश्ते बिगड़ सकते है।

वृषभ राशि

छात्र शिक्षा अध्ययन में कम रूचि लेंगे, अनैतिक तरीके से सफल होने का प्रयास करेंगे। प्रेम विषयों में भी बुद्धि और चातुर्य का प्रयोग अधिक होने से निष्ठां की कमी का अनुभव होगा। व्यापारियों के लाभ में बढ़ोतरी होगी, बुध-राहु का प्रभाव लाभ और उन्नति देगा। व्यय इस समय बहुत बढे हुए है। उन पर नियंत्रण रखना जरुरी है। तकनीकी छात्रों की परीक्षा का परिणाम अनुकूल आएगा। एक्स्ट्रा बुद्धि लगा कर सफल होने का प्रयास न करें। भावनात्मक रूप से मजबूत रहें, प्रेम में छल का शिकार हो सकते है।

मिथुन राशि

कार्यस्थल में एक्स्ट्रा चातुर्य से रुके हुए कार्य पूरे होंगे। नियोजन और योजना निर्माण कार्य भी सरलता से पूरे होंगे। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कुछ दिन के लिए फ़ास्ट फ़ूड को न कहें। सहयोगियों के कारण चुनौतियां का सामना करना पड़ सकता है, सावधान रहें। लाभ और उन्नति के लिए समय शुभ बना हुआ है। बचत में कमी के योग बने हुए है। सेविंग को बचा के रखें। कार्यक्षेत्र से जुड़े तनाव लेने से बचें, हृदय पर तनाव बना हुआ है। छोटी यात्राएं होंगी और नए मित्र बन सकते है।

कर्क राशि

आवेश और क्रोध बढ़ा हुआ है। व्यर्थ का जोश और साहस कष्ट का कारण बन सकता है। भाग्य साथ नहीं देगा, धार्मिक आस्था में कमी के योग बन रहे है। मित्रों से अनबन के योग बन रहे है। व्यर्थ के विषयों पर व्यय हो सकते है। इस समय की यात्राएं भी सुखद नहीं रहेंगी। यात्राओं में सावधानी बरतें, मित्रों से धोखा मिल सकता है। कार्यभार की अधिकता से थकावट और आराम की कमी का अनुभव होगा।

सिंह राशि

गोचर में बुध इस समय आपके 8वें भाव पर गोचर करेंगे। असाध्य रोग और व्यर्थ के व्यय होने के योग इस समय बने रहे है। अचानक से बड़ा धन लाभ होने के योग भी बन रहे है। पारिवारिक संपत्ति को लेकर विवाद हो सकते है। ज्ञान और विवेक बढ़ा होने के कारण छात्रों को पढ़ाई में सहयोग मिलेगा। किसी नए कार्य को शुरू करने का विचार बन सकता है। व्यवसायिक कार्यों में बार-बार व्यवधान आ सकते है। गैस और एसिडिटी स्वास्थ्य में कमी का कारण बन सकती है।

कन्या राशि

वैवाहिक जीवन में मतभेद और स्नेह की कमी बनी हुई है। साझेदारी व्यवसाय में विश्वास की कमी से काम कुछ समय के लिए रुक सकते है। दाम्पत्य जीवन और साझेदारी दोनों में धैर्य और सहनशीलता से संभालना होगा। अतिसाहस में आकर बड़ा इन्वेस्टमेंट करने से बचें। व्यापारिक चर्चा में शब्दों का ध्यान रखें। धार्मिक विषयों पर खर्च होगा। धन और सेविंग के लिए समय अनुकूल है। पाचन तंत्र को ठीक रखने के लिए अधिक तीखा खाने से बचें।

तुला राशि

इस समय बुध आपके छठे भाव पर गोचर कर रहे है। कार्यक्षेत्र में बुद्धि और चातुर्य का सहयोग मिलेगा। कठिन कार्यों का भी समाधान निकलने के योग बने हुए है। अधिक लाभ कमाने के प्रयास में बड़ा नुकसान न हो जाए, सोच समझ कर धन विनियोजन से जुड़े निर्णय लें। पिता की आजीविका के लिए भी यह समय शुभ है। बचत में कमी के योग भी इस समय बन रहे है।

वृश्चिक राशि

बुध आपक 5वें भाव पर गोचर कर रहे है, इसके प्रभाव से छात्र सफल होने के लिए गलत तरीकों को प्रयोग करने से बचें। बुद्धि और बौद्धिक कार्यों में रूचि काम रहेगी, शॉर्टकट तरीके से कार्यों को पूरा करने का प्रयास किया जा सकता है। व्यापारियों के लिए समय उन्नतिकारक और लाभ देने वाला रहेगा। परिश्रम से काम निपटाएं, केवल बुद्धि से मैनेज करने का प्रयास न करें। धार्मिक क्रियाओं को अधिक समय नहीं दे पाएंगे। शत्रु इस समय परेशान नहीं कर पाएंगे।

धनु राशि

बुध इस समय राहु के साथ आपके चतुर्थ भाव पर गोचर करने वाले है। इस अवधि में बुद्धि का सहयोग पूरा नहीं मिल पायेगा। कार्यभार बहुत अधिक रहेगा, जिसे आप दूसरों के द्वारा करने का प्रयास करेंगे। करियर के लिए यह समय कार्यों को जल्दबाजी में निपटाने का रहेगा। ह्रदय पर दबाव और तनाव बना हुआ है। माता के स्वास्थ्य में भी कभी के योग बने हुए है। परिवार के साथ बातचीत में शब्द मधुर प्रयोग करें। कटाक्ष की भाषा कष्ट का कारण बन सकती है।

मकर राशि

भाग्य बढ़ा हुआ रहेगा। संचार के साधनों के सहयोग से विचारे हुए काम पूरे होंगे। खुद का व्यापार करने वालों को समय की शुभता का लाभ मिलेगा। छोटी छोटी यात्रांए करने के अवसर मिल सकते है। यात्राओं से आर्थिक लाभ मिलने के योग बने हुए है। योजना बनाकर चलने से यात्रा की परेशानियों से बचा जा सकता है। प्रॉपर्टी में धन विनियोजन से भी लाभ कमाया जा सकता है। करियर के तनाव को घर में लाने से बचें। प्रेम संबंधों के लिए समय साथ देने वाला बना हुआ है। प्रेम को विवाह सूत्र में बांधने के प्रयास किये जा सकते है।

कुम्भ राशि

क्रोध पर नियंत्रण रखते हुए आप अपने दायित्वों को सरलता से पूरा कर सकते है। नौकरी पेशा लोगों के लिए समय बहुत सुखद नहीं कहा जा सकता है। धैर्य के साथ रहे और नई संभावनाओं की खोज जारी रखें। कार्यों से यात्राओं के योग भी बने हुए है। आर्थिक क्षेत्र में भी कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इस समय मित्रों से यथासंभव सहयोग प्राप्त न होने से कुछ असुविधा हो सकती है। भाई बहनों से भी रिश्तों में मधुरता की कमी का अनुभव होगा।

मीन राशि

इस अवधि में बड़े निर्णय लेने में आपको असुविधा हो सकती है। दूसरों के प्रति एक अविश्वास का भाव भी आपमें रहेगा। आर्थिक क्षेत्रों से मेहनत के अनुरूप लाभ न मिलने से निराशा रहेगी। शेयर बाजार और सट्टेबाजी में बड़े पैमाने पर धन लगाने से बचना होगा। कोई नया व्यवसाय शुरू करने का विचार बनेगा। धन सम्बन्धी विषयों में भावनाओं को किनारे रखें। गलतफहमियों से बचने के लिए जीवन साथी के साथ कम्युनिकेशन बनाये रखें। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। बजट से जुड़े कार्य इस समय में करने से बचें।


Previous
Find Your Cosmic Soulmate with Free Horoscope Matching

Next
Astrological Upay: बड़े से बड़े संकट को काट देते है ये ज्योतिषीय उपाय