सूर्य गोचर मीन राशि में 2024 - किस राशि का बढ़ेगा टैक्स, किसकी लगेगी लॉटरी

By: Acharya Rekha Kalpdev | 22-Feb-2024
Views : 358
सूर्य गोचर मीन राशि में 2024 - किस राशि का बढ़ेगा टैक्स, किसकी लगेगी लॉटरी

हम सभी का जीवन ग्रह, नक्षत्र और राशियों के द्वारा संचालित है। जन्म के समय आकाशमण्डल में ग्रहों की स्थिति से जातक के जीवन की घटनाएं तय होती है। उसकी के आधार पर जन्म लग्न और जन्म राशि सुनिश्चित होती है। इस प्रकार जन्म कुंडली का निर्माण होता है और जातक की जीवन यात्रा शुरू होती है।

इस जीवन यात्रा में कब कौन सा मोड़ आएगा और कब हमें सीधा चलना पडेगा, यह जन्म कुंडली के ग्रह, योग और स्थिति के द्वारा निर्धारित होता है। जब जब गोचर में कोई ग्रह अपनी राशि में बदलाव करता है या अपनी स्थिति में परिवर्तन करता है तो सभी बारह राशियों के जीवन में बड़ा बदलाव आता है। यह बदलाव प्रत्येक राशि के व्यक्ति की कुंडली के ग्रह योगों के अनुसार प्राप्त होता है।

बृहत् कुंडली में छिपा है, आपके जीवन का सारा राज, जानें ग्रहों की चाल का पूरा लेखा-जोखा

14 मार्च, बृहस्पतिवार, 2024, 12:36 मिनट अपराह्न काल में सूर्य मीन में प्रवेश कर जाएंगे। नवग्रहों में सूर्य राजा का स्थान रखता है। इस सम्पूर्ण सृष्टि को प्रकाश देने वाला ग्रह सूर्य है। 14 मार्च से लेकर 13 अप्रैल 2024 तक सूर्य मीन राशि में रहने वाले है। गुरु की राशि मीन में सूर्य के गोचर से कुछ लोगों के जीवन में उन्नति और कुछ लोगों के जीवन में बाधाएं आ सकती है। आइये जाने इस अवधि में किसे क्या मिलने वाला है-

मेष राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य पंचम भाव के स्वामी होते है और गोचर में इस समय आपके 12वें भाव पर गोचर करेंगे। ऐसे में विदेश में शिक्षा के लिए प्रयासरत छात्रों के लिए समय अनुकूल रहेगा। विदेश में शिक्षा अध्ययन के कार्यों को आगे बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए बैंक लोन के कार्य भी आसानी से पूरे हो सकते है। गोचर में सूर्य को बुध और राहु का भी साथ मीन राशि में मिल रहा है इसके प्रभाव से विदेश गमन सहज और लाभकारी रहेगा। मित्रों के साथ विदेश में घूमने फिरने के कार्य भी परवान चढ़ेंगे।

उपाय - मंगलवार से शुरू कर, लगातार 40 दिन हनुमान चालीसा का पाठ करें

वृषभ राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य चतुर्थ भाव के स्वामी होते है और इस समय गोचर में आपके 11वें भाव पर गोचर करने वाले है। इस समय मातृसुख प्रभावित रहेगा। घर में रहने के अवसर कम बनेंगे। माता का स्वास्थ्य भी कमजोर रहने के योग बन रहे है। इस समय में कार्यभार की अधिकता रहेगी। क्रोध भी बढ़ा हुआ है। खर्चों पर नियंत्रण रखने के प्रयास सफल होंगे। छात्रों के लिए समय सुखद बना हुआ है। बढे हुए आत्मविश्वास का लाभ मिलेगा। कुछ अच्छी खबरे सुनने को मिल सकती है।

उपाय - माता लक्ष्मी का दर्शन पूजन करें।

मिथुन राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य 3रे भाव के स्वामी है और गोचर में 10वें भाव पर गोचर करने वाले है। मेहनत का फल मिलेगा। करियर से जुडी समस्याओं में कमी आएगी। कार्यक्षेत्र में मित्रों और भाई बहनों का सहयोग मिलेगा। विदेश से धन लाभ के योग बन रहे है। यात्राओं को स्थगित करना पड़ सकता है। घर परिवार में सुख शान्ति की कमी बनी हुई है। प्रयासों का फल लाभ के रूप में मिल सकता है। घर में साज-सज्जा की वस्तुओं में बढ़ोतरी होगी।

उपाय- बुधवार के दिन हरी सब्जियों का विशेष रूप से सेवन करें।

Also Read: करा सकते है बड़ी बचत - आसान से दिखने वाले ये उपाय

कर्क राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य दूसरे भाव के स्वामी होते है, और इस समय आपके 9वें भाव पर गोचर करने वाले है। यह समय आपकी बचत में कमी करेगा। धर्म और धार्मिक विषयों से जुड़कर आप अपनी समस्याओं को कम कर सकते है। धर्म और आध्यात्म के विषयों में रूचि जागृत होगी। नौकरी पेशा लोगों के लिए यह समय अधिक अनुकूल और लाभकारी रहने वाला है। कार्यक्षेत्र में सहयोगियों का साथ काम मिलेगा, परन्तु अधीनस्थों के सहयोग से महत्वपूर्ण योजनाओं के कार्य पूर्ण होंगे। अनचाहे क्षेत्रों से भी लाभ के योग इस समय बन रहे है।

उपाय - सोमवार के दिन ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप 108 बार करें

सिंह राशि

सूर्य आपके लिए प्रथम भाव के स्वामी है, और इस समय आपके 8वें भाव पर गोचर कर रहे है। अपनी हेल्थ का आपको ख़ास ध्यान रखना होगा। साझेदारों के साथ अंडरस्टैंडिंग की कमी का सामना करना पड़ सकता है। इस अवधि में अप्रत्याशित लाभ मिल सकते है। इस समय आपके नेतृत्व से बड़े काम भी पूरे हो सकते है। धन और लाभ में अचानक से उछाल आ सकता है। बचत को भी इस समय संभाल कर रखने की जरुरत है। जीवन साथी के साथ धैर्य और सहनशीलता के साथ रहना होगा। जवाब देने से स्थिति बिगड़ सकती है। अहंकार को दूर रखना होगा।

उपाय- रविवार के दिन नमक के सेवन का त्याग करें।

कन्या राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य 12वें भाव के स्वामी है और 7वें भाव में गोचर करने वाले है। विदेशी संपर्कों का लाभ व्यवसायिक क्षेत्रों में मिल सकता है। कार्यक्षेत्र के विस्तार के लिए विदेश गमन के योग भी इस समय बन रहे है। अपनी योग्यता और कौशल से रुके हुए कार्यों को पूरा करने का प्रयास आप करेंगे। लोन और कोर्ट कचहरी के कार्यों में समय साथ दे रहा है। साझेदारों पर अत्यधिक विश्वास से इस समय बचना होगा। रिश्तों को समर्पण के साथ निभाएंगे। व्यापारियों के लिए लाभ का समय है।

उपाय - गणेश जी का दर्शन पूजन करें।

तुला राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य 11वें भाव के स्वामी है और गोचर में इस समय छठे भाव पर रहेंगे। सरकारी नौकरी वालों को इस समय उन्नति और सफलता के लाभ मिलेंगे। संतान की उन्नति के योग बनेंगे। पारिवारिक विवादों को कोर्ट कचहरी ले जाने से बचें। नौकरी में भाग दौड़ और संघर्ष की स्थिति बनी हुई है। विदेश में नौकरी की तलाश पूरी होगी। जीवन साथी के साथ मतभेद लम्बे खिंच सकते है। नए सौदे करने के लिए समय शुभ बना हुआ है। धन हानि से बचना होगा।

उपाय- ॐ भास्कराय नमः' मंत्र का जाप रविवार के दिन 11 बार करें।

Also Read: इन 5 ज्योतिषीय मंत्र का जाप करने से कम होगा मानसिक तनाव

वृश्चिक राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य दशम भाव का स्वामी है और इस समय गोचर में आपके पंचम भाव पर रहेगा। नौकरी बदलने के लिए ग्रह गोचर अनुकूल है। ऐसे में दूसरी नौकरी की तलाश के प्रयास सफल रहेंगे। कार्य भार की अधिकता से तनाव बढ़ सकता है। कार्यों का दबाव और आराम में कमी इस समय बनी हुई है। यात्राओं के योग बने हुए है। विदेश से घर वापसी के योग भी इस समय बने हुए है। छात्रों को अध्ययन कार्यों में बुद्धि का साथ नहीं मिल पायेगा। संतान विषयों पर ध्यान केंद्रित होगा।

उपाय - शनिवार के दिन शनि मंदिर में पूजन करें।

धनु राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य नवम भाव के स्वामी है और इस समय 4वें भाव पर गोचर करेंगे। इसके प्रभाव से करियर में प्लानिंग और एकाउंट्स के विषयों में व्यस्तता बढ़ सकती है। इस समय में भाग्य का साथ नहीं मिल पायेगा। माता-पिता दोनों की हेल्थ के लिए यह समय प्रतिकूल है। कार्यक्षेत्र में राजनीति का शिकार होने से बचें। संतान के साथ छोटी यात्रा पर जाने के योग बन सकते है। हृदय का ख्याल रखें, अधिक तनाव लेना सही नहीं रहेगा। तकनीकी जानकारों को ग्रह योग का लाभ मिलेगा।

उपाय - सोमवार के दिन भगवान् शिव का दर्शन पूजन करें।

मकर राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य 8वें भाव के स्वामी होते है और इस समय गोचर में 3रे भाव पर गोचर करेंगे। बड़े हुए पराक्रम का लाभ आपको मिलेगा। भाग्य के सहयोग से भी कार्य पूरे होंगे। आय धन संचय में परिवर्तित होगी। यात्राओं में अनचाही बाधाएं परेशानी की वजह बन सकती है। धार्मिक विषयों, धार्मिक यात्राओं पर खर्च होंगे। सफलता और कार्यों को पूर्ण करने के लिए समय की शुभता बनी हुई है। सीनियर और अधीनस्थों दोनों का सहयोग कार्यो में मिलेगा।

उपाय- गुरुवार के दिन पीली वस्तुओं का दान करें।

कुम्भ राशि

किसी नए व्यवसाय को शुरू करने का विचार आपके मन में आ सकता है। व्यापारिक लाभ से धन संचय में बढ़ोतरी हो सकती है। क्रोध, आवेश, और निराशा पर नियंत्रण रखें। समय शुभ है, लाभ और सफलता के योग बनेंगे। वाणी में मधुरता रखें, अन्यथा रिश्ते खराब हो सकते है। अचानक से होने वाले लाभ ख़ुशी देंगे। किसी को उधार धन देने से बचें, धन वापसी की संभावनाएं कम है। कैरिअर में उन्नति के लिए नौकरी में बदलाव करना होगा। लाइफपार्टनर पर क्रोध करने से बचें। आपसी रिश्तों में स्नेह बनाये रखें।

उपाय - रविवार के दिन भगवान सूर्य पूजन करें।

मीन राशि

आपकी राशि के लिए सूर्य छठे भाव के स्वामी है और इस समय गोचर में प्रथम भाव पर रहेंगे। रोग और शत्रुओं से सावधान रहें। दोनों से कष्ट मिलने की सम्भांवनाएँ है। अहंकार का त्याग करें, इससे साझेदारी और वैवाहिक जीवन दोनों में परेशानियां आ सकती है। विदेश यात्राओं से व्यापार को बढ़ाने में सहयोग मिलेगा। अविश्वास की स्थिति भी इस समय बनी हुई है। व्ययों की अधिकता भी परेशनी की वजह बनेगी। मित्रों के साथ लम्बी यात्राओं के योग बने हुए है।

उपाय - शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करें।


Previous
करा सकते है बड़ी बचत - आसान से दिखने वाले ये उपाय

Next
होलाष्टक कब है? होलाष्टक में कौन से कार्य नहीं करने चाहिए?