लाल किताब के महाउपायों से पूर्ण होगी मन की सभी मुरादें

By: Future Point | 15-Apr-2020
Views : 5626
लाल किताब के महाउपायों से पूर्ण होगी मन की सभी मुरादें

इस संसार में प्रत्येक व्यक्ति की यही मनोकामना होती है कि उसके पास अच्छी जॉव, अच्छा घर,व अच्छी  धन-संपत्ति हो और उसके परिवार में हँसी-खुशी का माहौल बना रहे। इन सभी छोटी-छोटी खुशियों को पाने के लिए मनुष्य हर तरह से प्रयास करता रहता है। परंतु कई बार देखा गया है की बहुत परिश्रम और लगन से कार्य करने के बावजूद भी व्यक्ति को अपने द्वारा किये गए कार्य के अच्छे परिणाम प्राप्त नही होते और व्यक्ति जीवन भर संघर्ष ही करता रह जाता है। और जीवन के अंतिम क्षणो मे बहुत सी मनोकामनाएँ अधूरी ही रह जाती है। लेकिन यहाँ हमने कुछ उपाय बताएं हैं जिसे रोज़मर्रा के जीवन में अपना कर आप अपने मन की समस्त इच्छाओ की पूर्ति कर सकते हैं।

  • प्रति बुधवार को गणेशजी को बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। मंदिर में 5 तरह के फल या गुड़ और चने का दान करने से भी धन की प्राप्ति होती है। 
  • घर के आँगन में तुलसी का पौधा स्थापित कर रोजाना जल चढ़ाएँ। जल चढ़ाते समय भगवान विष्णु से अपनी सभी मनोकामनाओं को व्यक्त करें। भगवान विष्णु जल्द ही सभी मनोकामनाओं की पूर्ति करेंगे।प्रत्येक शनिवार को पीपल के वृक्ष के ‍नीचे घी का दीपक जलाएं और सुगंधित अगरबत्ती लगाएं।
  • सोमवार के दिन भोलेनाथ को कच्चे दूध में गंगाजल मिला कर शिवलिंग पर चढ़ाएँ इसके साथ ही बेल पत्र और काँटेदार फल (जैसे बेर,धतूरा ) इत्यादि चढ़ाएँ। चढ़ाते समय अपनी सभी आकांक्षाएँ भोलेनाथ के समक्ष व्यक्त करें।
  • बरगद के पत्ते पर अपनी मनोकामनाएँ लिख कर बहते जल में प्रवाहित करें। और ध्यान रहे की ऐसा करते वक़्त आपको कोई देखे नहीं।
  • शीघ्र अतिशीघ्र मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए एक सफ़ेद सूती वस्त्र के अंदर जटा वाला नारियल बांध कर बहते जल में प्रवाहित कर दें।
  • चींटियों और मछलियों को खाना खिलाने से धन संपत्ति संबन्धित समस्याएँ दूर होती हैं। इसलिए या तो किसी तालाब के पास जाकर मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएँ। या आटे मे चीनी मिला कर चींटियों को खिलाएँ। जल्दी ही पूर्ण होगी मन की मुरादें।
  • इन सभी प्रयोगों के साथ शनिवार के दिन जब सर्वार्थसिद्धि योग बन रहा हो तो एक रेशमी धागा लेकर जो की आपकी लंबाई के बराबर हो उससे अपना कद नापे। नापते वक़्त अपनी समस्त इच्छाओं को मन ही मन दोहराएँ। ऐसा करने के पश्चात एक बरगद का पत्ता लेकर उस पर यह धागा पूरा लपेट दें और बहती हुई धारा में प्रवाहित कर दें। भगवान विष्णु और माँ लक्ष्मी सभी मनोकामनाएँ पूर्ण करेंगी।

अपनी कुंडली में राजयोगों की जानकारी पाएं बृहत कुंडली रिपोर्ट में

  • इन सभी उपायों को अपना कर व्यक्ति अपने जीवन की सभी मनोकामनाओं की पूर्ति कर सकता है।
  • विष्णु-लक्ष्मी का बड़ा-सा चित्र घर में रहना चाहिए। शालिग्राम की नित्य पूजा पंचामृत के स्थान के साथ चंदन आदि लगाकर की जानी चाहिए।
  • विष्णु-लक्ष्मी मंदिर में प्रति शुक्रवार को लाल रंग के फूल अर्पित किए जाने चाहिए।
  • मां लक्ष्मी की प्रतिमा के सामने 11 दिनों तक अखंड ज्योत (तेल का दीपक) प्रज्वलित करें। 11वें दिन 11 कन्या को भोजन कराकर एक सिक्का व मेहंदी दें।
  • लक्ष्मी की उपासना करें, ॐ महालक्ष्म्यै नमः इस मन्त्र का नित्य 108 बार जाप करें। घर में तुलसी का पौधा लगाएं और उसकी पूजा करें।
  • शुक्रवार के दिन दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान विष्णु का अभिषेक करें। इस उपाय में मां लक्ष्मी जल्दी प्रसन्न हो जाती हैं।
  • श्री सूक्त का प्रतिदिन पाठ करें। चांदी, चावल, दूध, दही, श्वेत चंदन, सफेद वस्त्र तथा सुगंधित पदार्थ किसी पुजारी की पत्नी को दान करें।
  • सवा 5 किलो आटा एवं सवा किलो गुड़ लें। दोनों का मिश्रण कर रोटियां बना लें। गुरुवार के दिन सायंकाल गाय को खिलाएं। 3 गुरुवार तक यह कार्य करने से दरिद्रता समाप्त होके धन की प्राप्ति होगी।
  • रुद्र भगवान शिव का ही प्रचंड रूप हैं, शिव जी की कृपा से सारे ग्रह बाधाओं और सारी समस्याओं का नाश होता है, शिवलिंग पर मंत्रों के साथ विशेष चीजें अर्पित करना ही रुद्राभिषेक कहा जाता है, रुद्राभिषेक में शुक्ल यजुर्वेद के रुद्राष्टाध्यायी के मंत्रों का पाठ करते हैं, सावन में रुद्राभिषेक करना ज्यादा शुभ होता है, रुद्राभिषेक करने से मनोकामनाएं जल्दी पूरी होती हैं, रुद्राभिषेक कोई भी कष्ट या ग्रहों की पीड़ा दूर करने का सबसे उत्तम उपाय है, और इससे हर मनोकामना की पूर्ति होती है|
  • अच्छे फलों की प्राप्ति के लिए चार मुखी रुद्राक्ष शुक्रवार को धारण करें| गाय को हरा चारा खिलाने से लाभ मिलेगा|
  • शुक्रवार को पीले कपड़े में 5 कौड़ी और थोड़ी-सी केसर, चांदी के सिक्के के साथ बांधकर तिजोरी या धन रखने के स्थान पर रख दें। उसके साथ थोड़ी हल्दी की गांठें भी रख दें। कुछ दिनों में ही इसका असर होने लगेगा।
  • प्रतिदिन सूर्य को अर्घ्य प्रदान करें| आदित्य ह्रदयस्त्रोत का पाठ करना शुभ फलदायक रहेगा|
  • अपनी तिजोरी में 10 के लगभग 100 से ज्यादा नोट रखें। जेब में हमेशा कुछ सिक्के रखें। खुद को धनवान मानना शुरू कर दें और उसी तरह से कपड़े पहनें और जो भी आप खरीदना चाहते हैं उसके बारे में कल्पना करें। जो लोग खुद को दरिद्र मानते हैं, वे हमेशा दरिद्र ही बने रहते हैं।
  • यदि नौकरी या प्रमोशन में कोई समस्या आ रही है तो नवरात्रि में  माता को भोग लगाये फिर 9 साल से छोटी कन्याओं को पुरे नवरात्रि में मिठाई, खीर और काले कुत्ते को दूध पिलायें, भैरव बाबा और हनूमान जी के मंदिर जाकर आशीर्वाद लें, प्रसाद बाँटे आपकी नौकरी सम्बंधित परेशानी अवश्य दुर होगी|
  • हमेशा सकारात्मक सोचें और खुद को साफ और स्वच्छ बनाए रखें। प्रतिदिन मंदिर जाएं और जो मिला है उसके लिए धन्यवाद देने के साथ अपनी नई मांग रखें और उस मांग की पूर्ति का श्रद्धा के साथ इंतजार करें।
  • प्रतिदिन कौए, गाय और कुत्ते को रोटी खिलाएं। काले कुत्ते को शनिवार के दिन सरसों के तेल से चुपड़ी हुई रोटी खिलाएं। धनलाभ में आ रही बाधा दूर होगी।
  • 5 सफ़ेद कोडी 5 हल्दी की गाठ 2 सुपारी और कुछ पैसे लाल कपड़े में बांध कर नवरात्रि में माँ भगवती से अपनी मनोकामना बोलकर व्यापार स्थान के मंदिर में रखें, हर रोज नवरात्रि में पुजा करें, उसके बाद नवमी वाले दिन उसे अपनी तिजोरी में रखें, अवश्य व्यापार में दिन दुगुनी रात चौगुनी तरक्की होगी|
  • प्रत्येक गुरुवार को पीपल में जल चढ़ाएं और माथे पर केसर का तिलक लगाएं। धनलाभ होगा।

यह भी पढ़ें: लाल किताब से जानिए कि आपके जीवन में गृहस्थ सुख है या नहीं, और करें ये उपाय


Previous
कोरोना के कहर से विश्व के सभी देशों ने अपनाया सनातन धर्म का दाह संस्कार

Next
हकीक दिलाता है हर क्षेत्र में सफलता जानिए इसके लाभ और धारण करने की विधि