जीवन में सुख – शांति की प्राप्ति के लिए अवश्य धारण करें ये चमत्कारी टाइगर आई जेमस्टोन । | Future Point

जीवन में सुख – शांति की प्राप्ति के लिए अवश्य धारण करें ये चमत्कारी टाइगर आई जेमस्टोन ।

By: Future Point | 19-Jun-2019
Views : 14030
जीवन में सुख – शांति की प्राप्ति के लिए अवश्य धारण करें ये चमत्कारी टाइगर आई जेमस्टोन ।

टाइगर आई जेमस्टोन को सूर्य का उपरत्न माना जाता है और इसे माणिक्य व रूबी का भी उपरत्न माना जाता है देखने में यह चमकदार होता है जिसका रंग कहीं हल्‍का भूरा होता है तो कहीं गहरा भूरा, जैसा की नाम से पता चलता है ये चीते की आंख के समान होता है. यह रत्‍न हीलिंग थेरेपी में इस्‍तेमाल होता है और इसके साथ ही ज्‍वेलरी स्‍टोन की तरह भी इसका इस्‍तेमाल किया जाता है. ‘टाइगर आई जेमस्टोन’ सबसे अधिक प्रभावी तथा बहूपयोगी एवं शीघ्र फल प्रदान करने वाला स्टोन होता है.


Buy pendant products online at Future Point Astroshop


इस रत्न पर टाइगर के समान पीली एवं काली धारियां होने के कारण इसे ‘टाइगर स्टोन’ कहते हैं और यह प्रभाव में भी टाइगर के समान लक्षण उत्पन्न करता है अतः इसे धारण करने से तुरंत लाभ हो मिलता है. जो व्यक्ति आत्मविश्वास की कमी के कारण बार-बार व्यापार एवं अन्य कार्यों में असफल होता हो और दुखी जीवन व्यतीत कर रहा हो तो ऐसी स्थिति में उस व्यक्ति को टाइगर स्टोन गजब का आत्मविश्वास प्रदान कर सकता है, इसे धारण करने से पूर्ण सफलता मिलती है तथा व्यक्ति साहसी एवं पुरुषार्थी बन जाता है, शेर जैसा आत्मबल और साहस भी यह रत्न प्रदान करने में सक्षम होता है, डरपोक, उदासीन व्यक्तियों के लिए यह स्टोन अदृश्य साथी माना जाता है अतः ऐसे व्यक्तियों में टाइगर रत्न पहनने से जागरूकता उत्पन्न होती है।

क्‍यों पहनना चाहिए टाइगर्स आई जेमस्टोन -

माणिक्य व रूबी का निम्‍न श्रेणी का उपरत्‍न होने के कारण सूर्य के विपरीत प्रभावों से बचने और अच्‍छे फल प्राप्‍त करने के लिए टाइगर्स आई जेमस्टोन पहनना लाभकारी होता है और यह दाम में भी रूबी से बहुत सस्‍ता होता है इसलिए इसका इस्‍तेमाल विषम आर्थिक स्थिति में सूर्य के उच्‍च फल को प्राप्‍त करने के लिए किया जाता है।

Buy Online Tiger Eye Pendant

टाइगर आई जेमस्टोन पहनने से होने वाले लाभ -

  • टाइगर आई जेमस्टोन को आत्‍म सम्‍मान और चेतना के विकास के लिए पहना जाता है और यह अध्‍यात्‍म से भी जोड़ता है तथा सहनशीलता और धैर्य की भावना उत्‍पन्‍न करता है. ये रत्‍न जब त्‍वचा से स्‍पर्श करता है तो व्‍यक्‍ति को भीतर से उल्‍लास से भरता है. इसको पहनने वाले व्‍यक्ति आंतरिक शांति का महत्‍व समझते हैं, ये पहनने वाले की सेहत को भी इम्‍प्रूव करता है।
  • यदि किसी व्यक्ति की जन्मकुंडली में किसी घर के शुभ फल व्यक्ति को प्राप्त नहीं हो रहे हैं या यदि कोई ग्रह सोया हुआ है तो उस ग्रह के स्वामी ग्रह को जगाना अनिवार्य होता है जिससे उस घर का शुभ फल मिलता है अतः इसके लिए टाइगर आई रत्न पहनना लाभकारी होता है।
  • यदि किसी व्यक्ति की जन्मकुंडली में कुयोग बन रहे हों तो उन योगों के कुप्रभावों को कम करने के लिए भी टाइगर रत्न धारण करना लाभप्रद रहता है।
  • यदि कोई व्यक्ति निरंतर कर्ज में डूबते जा रहा हो तो कर्ज मुक्ति के लिए शुक्रवार के दिन सिद्ध किया हुआ टाइगर आई स्टोन गले में लॉकेट के रूप में श्वेत धागे में धारण करने से लाभ अवश्य मिलता है।
  • यदि किसी व्यक्ति को बार-बार वाहन दुर्घटना में चोट लग जाती है तो तर्जनी उंगली में टाइगर स्टोन प्राण प्रतिष्ठा कराकर मंगलवार के दिन धारण करना चाहिए।
  • घर में जिन बच्चों व व्यक्तियों को बार-बार नजर लगती है और मानसिक तनाव रहता है तो उन्हें टाइगर स्टोन गले में धारण करना चाहिए।
  • शत्रुओं से पीड़ित व्यक्ति को मंगलवार के दिन टाइगर रत्न धारण करना चाहिए।
  • कार्य स्थल पर व अन्य जगहों से मान, प्रतिष्ठा, प्रसिद्धि प्राप्त करने व यश, कीर्ति की पताका फहराने के इच्छुक व्यक्ति को टाइगर स्टोन शुक्ल पक्ष की अष्टमी को तर्जनी उंगली में या अनामिका उंगुली में धारण करना चाहिए।
  • जो व्यक्ति अपनी पत्नी से घबराता हो या कलह से डरता हो एवं जिसकी पत्नी अधिक बोलती है और समाज में प्रतिष्ठा उसी के कारण कम हो तो ऐसी स्थिति में उस व्यक्ति को टाइगर रत्न तर्जनी उंगली में पूर्णिमा के दिन धारण करना चाहिए।
  • जिन व्यक्तियों का व्यापार घाटे में जा रहा हो, सरकारी परेशानियां बढ़ती ही जा रही हों और वर्तमान में घाटा आ रहा हो तो ऐसी स्थिति में टाइगर स्टोन शुक्ल पक्ष में बुधवार के दिन सूर्य की अनामिका उंगली में धारण करना चाहिए।
  • जिस व्यक्ति का विवाह नहीं हो रहा हो, कई बाधाएँ आ रही हों तो उस व्यक्ति को टाइगर रत्न ऋषि पंचमी को तर्जनी उंगली में धारण करना चाहिए ऐसा करने से विवाह शीघ्र सुयोग्य लड़की से होगा।
  • जिस लड़की का विवाह नहीं हो पा रहा हो, सगाई छूट जाती हो या सगाई हो ही नहीं रही हो तो उस लड़की को नाग पंचमी के दिन प्रात: नाग के दर्शन कर यह टाइगर स्टोन धारण करना चाहिए।
  • जिन व्यक्तियों को सर्विस में नुक्सान हो रहा हो या कार्यस्थल में परेशानी हो तो टाइगर रत्न रविवार को दिन में धारण करने से लाभ होगा।
  • जिन व्यक्तियों के संतान होती है या वह मर जाती है तो दोनों पति-पत्नी को बराबर वजन का टाइगर स्टोन प्राण प्रतिष्ठा कराकर शुक्ल पक्ष में जब स्त्री मासिक धर्म में हो तब एक साथ धारण करना चाहिए, ऐसा करने से संतान सुख अवश्य मिल मिलेगा और गर्भपात होता है तो तुरंत लाभ होगा।
  • यदि किसी घर में लड़ाई-झगड़ा अधिक होता हो तथा सुख-शांति न हो विशेष परेशानी हो, छोटी-छोटी बातों पर क्लेश हो जाता है तो उस परिवार के मुखिया को टाइगर स्टोन सोमवार के दिन प्रात: आम के पत्ते के रस का अभिषेक कर धारण करना चाहिए, टाइगर स्टोन सिद्ध व प्राण प्रतिष्ठित होना चाहिए।

किसी भी रत्न की जानकारी के लिए हमारे अनुभवी ज्योतिषियों से संमर्क कर सकते हैं


Previous
शनि-गुरु: प्राकृतिक आपदाओं के सूचक – 2019 - 2020

Next
Mole on your body can reveal your Personality