होली पर टोट्कों से करें कामना की पूर्ति

By: Future Point | 27-Feb-2018
Views : 9018
होली पर टोट्कों से करें कामना की पूर्ति

प्रकृति के सारे रंग अपनी खूबसुरती से रंगोत्सव का श्रंगार करने के लिए जब आतुर नजर आने लगें तो समझ लीजिए कि होली का पर्व आ गया। शरद ऋतु के गमन की सूचना फाल्गुण पर्व में बिखरें रंग दे देते हैं। पर्व की छटा कुछ ऐसी होती हैं कि बालक से लेकर वृद्ध तक सब उल्लास, खुशी और उत्साह में सरोबोर नजर आते हैं। हमारी संस्कृति में त्यौहार ही त्योहार हैं।

एक पर्व की खुशी फीकी भी नहीं पड़ने पाती की दूसरा पर्व अपनी धूम लेकर आ पहुंचता हैं और होली के पर्व की तो बात ही क्या, जिसका दूसरा नाम ही मस्ती और हुड़दंग हैं। फिंजा में उड़ते रंग आपके आंगन से होते हुए आप तक पहुंचने वाले हैं। होली का आगमन फाल्गुण मास की पूर्णिमा तिथि में होता हैं।

इस दिन होलिका दहन किया जाता है और अगले दिन हर्षोल्लास के साथ सब बैर भूलकर एक दूसरे को रंगों से रंगते हैं। होली आने ही वाली हैं। इस होली को कुछ खास बनाए और अपने कामनाओं को पूरा करने के इस पावन पर्व को हाथ से जाने ना दें।

उपायों और टोटकों के लिए होली की रात्रि खास मायने रखती हैं। तंत्र शास्त्र के अनुसार इस रात्रि में टोने-टोटके, साधना और उपाय करने के फल अचूक होते हैं तथा इन उपायों का फल अतिशीघ्र मिलता है। किसी व्यक्ति के द्वारा किए कराए का समाधान भी इस अवसर पर किया जा सकता है। समय की शुभता का लाभ उठाते हुए आप अपनी किस्मत को बदल सकते हैं-

 

    • नौकरी प्राप्ति के लिए इस दिन 8 नींबू लेकर उसे अपने ऊपर से 21 बार उतारे (यह क्रिया एंटी क्लोकवाईस करें)। और इन्हें ले जाकर जलती होली में चढ़ा दें। यह उपाय कर होलिका की 8 परिक्रमा करें और मन ही मन अपनी कामना पूर्ति की प्रार्थना देवी होलिका से करें।
    • नौकरी में ना होकर यदि आप अपना व्यापार करते हैं और व्यापार से मनोनूकुल लाभ प्राप्तियां नहीं हो रहीं हों तो आपको इस होलिका दहन के बाद होलिका का पूजन करें। पूजन करने के पश्चात नारियल, पान और सुपारी जलती होली को भेंट करें। इसके बाद 11 परिक्रमा करें। परिक्रमा करते समय अपनी कामना की प्रार्थना करना न भूले। होलिका दहन के अगले दिन प्रात:काल में होलिका की थोड़ी सी राख लाकर, एक लाल वस्त्र में स्फटिक श्रीयंत्र, चांदी के कुछ सिक्के और राख को बांधकर अपने घर की तिजोरी में रख दें।
    • यदि आपको संदेह है कि आप पर किसी ने कोई सम्मोहन किया हैं तो आप इसे हटाने के लिए होलिका दहन पर यह अचूक उपाय करें- होली की रात्रि में गुलाब के 11 फूल लेकर आयें। होलिका का पूजन करने के पश्चात होलिका में गुलाब के 10 फूल अग्नि में अर्पित करें। शेष बचे हुए एक गुलाब के फूल और होलिका की थोड़ी सी राख वापस घर ले आयें। अगले दिन एक पान में इस गुलाब में से 7 पंखुड़ी निकाल कर रख लें और इस पर एक चुटकी राख डाल दें तथा सम्मोहन के संदेह वाले व्यक्ति को इस पान को खिला दें। समस्या का समाधान होगा।
    • बहुत प्रयास करने पर भी यदि काम न बन रहें हों तो होली की रात्रि में भगवान शिव का दूध और जल से अभिषेक करते हुए, ऊं नम: शिवाय मंत्र का 21 माला जाप करें। यह उपाय मनोकामना पूर्ति का सरल और सहज उपाय हैं।
 
    • होली की रात्रि पर घर के किसी एकांत स्थान का चयन करें। इस स्थान पर होलिका दहन होने के पश्चात घर आकर इस स्थान पर बैठकर कमलगट्टे की माला पर निम्न मंत्र का 5 या 11 माला जाप करें। यह उपाय करने के बाद जल्द ही आप देखेंगे की आपके धन में बढ़ोतरी होनी आरम्भ हो गई हैं।

मंत्र- ऊँ नमो धनदाय स्वाहा

    • शत्रुओं और विरोधियों को शांत करने हेतु कांसे के बर्तन में 11 कनेर के फूल, 11 गुग्गल की गोलियां लेकर दोनों को निम्न मंत्र का जाप करते हुए, जलती हुई होलिका में अर्पित करते जायें। मंत्र की कम से कम 5 या 11 माला जाप करें।

मंत्र - ऊँ ह्लीं हुं फट्।

    • सरसों के तेल का दो बत्ती का दीपक जलाकर अपने घर के मेन गेट पर इस दिन जलायें। दीपक के नीचे लाल गुलाल से रंगोली अवश्य बनायें। दीपक जब जलकर बूझ जायें तो उसे ले जाकर जलती होलिका में समर्पित कर दें। उपाय करते समय अपनी मनोकामना देवी होलिका से पूर्ण करने की प्रार्थना भी करें। इस उपाय से एक ओर आपके विरोधी आपको परेशान नहीं कर पायेंगे। दूसरे धन से जुड़ी समस्याओं का भी समाधान हो जाएगा।
    • नजर उतारने के लिए होलिका के सायंकाल में एक कागजी नींबू लेकर उसे चार भागों में बांट दें। जिस व्यक्ति को नजर लगी हों उस व्यक्ति से ७ बार उतारें और इसे ले जाकर चारों टुकड़ों को चारों अलग अलग दिशाओं में फेंक दें।
    • होलिका दहन की रात्रि से यह उपाय शुरु करें- गुलाब के लाल फूल लेकर मंदिर में हनुमान जी के चरणॊं में अर्पित कर आयें। यह उपाय लगातार 40 दिन करें। शत्रुओं को शांत करने के लिए यह उपाय चमत्कारिक रुप से काम करता हैं।
    • इंटरव्यू में सफल होने के लिए व्यक्ति होलिका दहन का पूजन करने के पश्चात निम्न मंत्र का 11 माला जाप चंदन की माला पर करें। जप पूर्ण होने पर भगवान श्रीगणॆश का पूजन और दूध से अभिषेक करें।

मंत्र - ऊँ वक्रतुण्डाय हुं

    • स्वास्थ्य वृद्धि के लिए इस दिन प्रात:काल में हींग के पानी से कुल्ला करें। यह मान्यता है कि ऐसा करने पर सेहत अच्छी बनी रहती हैं।
 
  • होलिका दहन के दिन के विषय में यह मान्यता है कि इस दिन चौराहों पर जाने से बचना चाहिए। जहां तक संभव हो किसी का दिया हुआ नहीं खाना चाहिए। इससे टोटकों से बचाव होता हैं।
  • मार्ग में पड़ी कोई भी वस्तु चाहे वह नई ही क्यों न हो इस दिन उठाने से बचना चाहिए।
  • अपना कोई वस्त्र अथवा अपनी कोई निजी वस्तु किसी बाहरी व्यक्ति को प्रयोग करने के लिए नहीं देनी चाहिए।
  • पर्व का भरपूर आनंद लें। परन्तु इस दिन मन में किसी के लिए बुरी भावना से कोई उपाय या टोटका न करें।

Previous
Astrological Remedies For getting successful career in Abroad

Next
आप और सोशल साईट्स


Recent Post

Popular Post

free-horoscope

Categories

Archives




Submit