वास्तु के अनुसार दीवार पर इन रंगों को लगाने से दूर होगी नकारात्मक ऊर्जा

By: Future Point | 04-Dec-2019
Views : 5310
वास्तु के अनुसार दीवार पर इन रंगों को लगाने से दूर होगी नकारात्मक ऊर्जा

किसी की भी ज़िंदगी में रंग बेहद अहम भूमिका अदा करते हैं जो उम्र, जेंडर, पृष्ठभूमि और मौसम के अनुसार आपकी ज़िंदगी को प्रभावित कर सकते हैं। इनमें हमारी मन: स्थिति को बदलने की क्षमता होती है और ये किसी भी भावना को प्रभावित कर सकते हैं।

इनका हमारे सोचने के तरीके पर बेहद गहरा प्रभाव पड़ता है। रंग हमें शांत कर सकते हैं। हमारे घर के नए रंग हमें बाहरी दुनिया के फैशन को समझने में मदद करते हैं। सूर्योदय से सूर्यास्त तक कुल सात रंग हमारे वातावरण में बदलते रहते हैं।

अगर आप वास्तुशास्त्र के अनुसार रंगों का चयन करना चाहते हैं तो आप एनर्जी वास्तुशास्त्र एक्सपर्ट (Energy Vastu Expert), श्री जयंत पांडे से सलाह ले सकते हैं और उनसे ज़रूरी टिप्स ले सकते हैं जो आपके जीवन स्तर में सुधार लाएंगे।

रंगों को लेकर अलग-अलग लोगों की अलग-अलग पसंद होती है। रंग व्यक्तियों की इच्छाओं, पसंद और कमरे के उद्देश्य के अनुसार तीन अहम भूमिका भी अदा करते हैं- सक्रिय, निष्क्रीय और निष्पक्ष। रंगों के अलग-अलग शेड्स होते हैं। आप अपने उद्देश्य के अनुसार इन शेड्स का चयन कर सकते हैं। अगर आपको अपने कमरे को बड़ा, चमकदार और हवादार दिखाना है तो हल्के रंग का चयन करें। दूसरी ओर गहरे रंग ज़्यादा परिष्कृत होते हैं जो कमरे को गर्म प्रभाव देते हैं। उसे और अधिक खास बनाते हैं।

बहुत से शोध के बाद, रंगों की थेरेपी (color therapy) से यह साबित हुआ है कि हर एक रंग का एक मानसिक प्रभाव होता है जो व्यक्ति के स्वास्थ्य पर एक असर छोड़ सकता है। हर किसी व्यक्ति को रंगों की सामान्य जानकारी होनी चाहिए और उनके असर के बारे में पता होना चाहिए। खराब वास्तु स्थिति अवसाद, बेचैनी-तनाव और मानसिक रोगों को जन्म दे सकती है।

Read in English: Correcting Energy at Home with Color Matching & Vastu

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के लिए चुनें ये रंग

  • उत्तर दिशा: अगर आप अच्छी नौकरी और सफलता की चाह रखते हैं तो उत्तर दिशा का रंग गहरा होना चाहिए। गहरा रंग वित्तीय क्षेत्र का प्रतीक है।
    सबसे उचित रंग: उत्तर दिशा को नीले और काले रंग से रंगना चाहिए क्योंकि ये करियर के अच्छे अवसर लेकर आते हैं।
    टिप्स: लकड़ी के रंगों या हरे रंग के शेड्स का प्रयोग न करें क्योंकि उत्तर दिशा पानी के तत्व को दर्शाती है। पानी लकड़ी को कमज़ोर करता है इसलिए इन रंगों का चयन ठीक नहीं होगा।
  • दक्षिण दिशा: अगर आप नाम और शौहरत पाना चाहते हैं तो दक्षिण दिशा का रंग गहरा होना चाहिए।
    सबसे उचित रंग: दक्षिण दिशा के लिए सबसे उचित रंग लाल होगा।
    टिप्स: लाल रंग कमरे की ऊर्जा को बढ़ाता है। इसका बहुत अधिक प्रयोग आपको क्रोधी बना सकता है इसलिए इसका प्रयोग संतुलन में करें।
  • पूर्व दिशा: घर की पूर्व दिशा का रंग गहरा होना चाहिए क्योंकि यह सेहत का प्रतीक है।
    सबसे उचित रंग: पूर्व दिशा के लिए सबसे उचित रंग हरा है।
    टिप्स: अगर आपका बैठक का कमरा (living room) पूर्व दिशा में है तो आप हरे रंग के मिश्रण का प्रयोग करें।
  • पश्चिम दिशा: अगर कोई व्यक्ति रचनात्मक कार्य में रुचि रखता है या वे माता पिता बनना चाहते हैं तो यह दिशा उनके लिए सबसे बेहतर होगी।
    सबसे उचित रंग: इस दिशा के लिए सफेद, सुनहरा और चमकीला रंग सबसे बेहतर रहेगा।
    टिप्स: अगर आपका शौचालय या रसोईघर पश्चिम दिशा में है तो काला और नीला रंग सबसे उचित रहेगा।

  • यह भी पढ़े: जानिए, वास्तु अनुसार आर्थिक तंगी व कर्ज से बचने के कुछ उपाय।


  • दक्षिण पूर्व दिशा: यह दिशा धन-तौलत का प्रतीक है।
    सबसे उचित रंग: इस दिशा के लिए हरा रंग सबसे बेहतर रहेगा।
    टिप्स: अगर आपका शौचालय या रसोईघर इस दिशा में है तो धातु रंग या लाल और नारंगी रंग के शेड्स का प्रयोग करें।
  • उत्तर पश्चिम दिशा: अगर आपको घूमने-फिरने का शौक है तो यह दिशा आपके लिए लकी होगी। यह दिशा सौभाग्य का प्रतीक है। इससे आपके जीवन में अच्छे और मददगार लोगों का आगमन होगा।
    सबसे उचित रंग: इस दिशा के लिए सबसे उचित रंग सफेद, सुनहरा और चमकीला है।
    टिप्स: अगर आपका रसोईघर या बैठक का कमरा उत्तर पश्चिम दिशा में है तो अधिकतम लाभ अर्जित करने के लिए नीले या काले रंग का प्रयोग करें।
  • उत्तर पूर्व दिशा: उत्तर पूर्व दिशा विद्यार्थियों के लिए बेहद उपयोगी है। इससे उन्हें अपनी शिक्षा में सफलता मिलती है।
    सबसे उचित रंग: भूरा, पीला और गुलाबी इस दिशा के लिए सबसे उचित रंग हैं।
    टिप्स: अगर आपका रसोईघर या शौचालय इस दिशा में है तो सफेद, सुनहरे और गुलबी रंग का प्रयोग करें। इससे अच्छी सकारात्मक ऊर्जा आएगी।
  • दक्षिण पश्चिम दिशा: यह दिशा आपके प्रेम संबंधों में सुधार लाती है।
    सबसे उचित रंग: इस दिशा के लिए भूरा, पीला और गुलाबी रंग सबसे बेहतर होंगे।
    टिप्स: शौचालय, रसोईघर और बैठक के कमरे के लिए शफेद, पीले और गुलाबी रंग का प्रयोग करें।

ये टिप्स और दिशानिर्देश हर किसी के लिए लाभकारी होंगे। घर में इन रंगों के प्रयोग से आपमें हमेशा सकारात्मक ऊर्जा बनी रहेगी।

हमारे जीवन में रंगों का विशेष महत्व है। हमारे आस पास की दुनिया रंगीन है। हम उनके साथ जीते हैं। इसलिए बेहतर है कि आप अपने परिवार के लिए, अपने रहन सहन के अनुसार सबसे उचित रंग का चयन करें।

आपके लिए कौन सा रंग सबसे बेहतर होगा यह जानने के लिए आप भारत के अनुभवि ज्योतिषी श्री जयंत पांडे से संपर्क कर सकते हैं। जयंत पांडे को इस क्षेत्र में 20 वर्षों का अनुभव है। उनके बताए उपाय आज़माकर आप अपने घर में सकारात्मक ऊर्जा और खुशियां ला सकते हैं। एक सफल जीवन की प्राप्ति के लिए आज ही हमारे अनुभवि ज्योतिषी से संपर्क करें।


Previous
Winning at Lottery with Astrology Tips By Experts

Next
Mauni Ekadashi 2019: Date, Importance, & Celebration