सूर्य का नीच राशि तुला में गोचर, जानिए कैसा रहेगा आपका राशिफल

By: Future Point | 18-Sep-2021
Views : 2107
सूर्य का नीच राशि तुला में गोचर, जानिए कैसा रहेगा आपका राशिफल

वैदिक ज्योतिष में सूर्य का महत्व बहुत अधिक है, यह शक्ति, स्थिति, अधिकार उच्च पद और प्रभुत्व का प्रतिनिधित्व करता है। किसी व्यक्ति की कुंडली में यदि सूर्य मजबूत है तो व्यक्ति को नाम, प्रसिद्धि और प्रतिष्ठा प्रदान करता है। यह आधिकारिक लोगों, अभिजात और उच्च रैंक वाले अधिकारियों के साथ संबंधों का कारक है। यह मंगल की राशि मेष में उच्च का माना जाता है। और तुला राशि में नीच अवस्था में होता है। शुक्र की तुला राशि में ही वर्तमान में सूर्य का गोचर हो रहा है इस दौरान आपको कई तरह की परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है।  लोगों के साथ बातचीत के दौरान आप अस्पष्ट हो सकते हैं जिसके कारण लोग आपकी बातों को बहुत ज्यादा पसंद नहीं करेंगे। आप सम्मान और अधिकार के लिए इस दौरान चिंतित रह सकते हैं। उच्च अहंकार लोगों के बीच अनावश्यक संघर्ष पैदा कर सकता है, और उच्च अधिकारियों से परेशानी हो सकती है।

सूर्य कन्या राशि से तुला राशि में 17 अक्टूबर 2021 को दोपहर 13 बजकर 12 मिनट पर गोचर करेंगे। जो पृथ्वी पर उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति को प्रभावित करने वाला है। सूर्य के इस गोचर का आपके जीवन पर कैसा प्रभाव पड़ेगा। इसके बारे में हम आपको इस लेख में जानकारी देने जा रहे हैं। राशिनुसार सूर्य का कन्या राशि से तुला राशि में प्रवेश करना कैसा रहेगा? यदि आप अपने राशि के हिसाब से सूर्य गोचर का प्रभाव जानना चाहते हैं तो आपको यह लेख पूरा पढ़ना चाहिए। तो आइये जानते है यह सूर्य गोचर आपके लिए कितना शुभ और कितना अशुभ रहेगा?

मेष राशि -

सूर्य का गोचर आपकी राशि से सातवें भाव में हो रहा है। इस दौरान आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आपके आत्मबल में कमी आएगी। किसी भी तरह का निर्णय लेने में आप स्वयं को सहज नहीं पाएंगे। इसके अलावा कार्य क्षेत्र में भी आपको अधिक परिश्रम करना होगा। स्वास्थ्य को लेकर सतर्क रहें। प्यार के मामले में थोड़ा आपको राहत मिल सकती है। परंतु वैवाहिक जातकों के लिए समय गंभीर है। गुस्सा अधिक रहेगा। ब्लड़ प्रेशर बढ़ेगा, खान-पान में नियंत्रण रखें, लाल रंग का प्रयोग ना करें।

वृषभ राशि -

सूर्य के इस गोचर में स्वास्थ्य जुड़े कुछ मुद्दे सामने निकालकर आ सकते हैं। इससे साथ ही इस समय आपके अधिक दुश्मन बन सकते हैं। करियर में कुछ खास तरक्की नहीं होगी, परंतु परिश्रम करने से आपके हित में परिणाम आ सकते हैं। व्यक्तिगत जीवन व लव लाइफ को बेहतर बनाने के लिए समझदारी से आगे बढ़ाना होगा। पारिवारिक जीवन में संपत्ति को लेकर कोई छोटा-मोटा विवाद हो सकता है। वहीं इस दौरान आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा।

मिथुन राशि -

सूर्य का यह गोचर आपके पांचवे भाव में हो रहा है। यह गोचर नौकरी पेशा लोगों के लिए कुछ शुभ रहेगा। वहीँ छात्रों के लिए यह गोचर बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता। इस दौरान आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। यात्रा पर जा सकते हैं। पेशेवर रूप से आपके लिए अच्छा समय रहने वाला है। किसी पुराने मित्र या पुराने प्रेमी व प्रेमीका से मुलाकात हो सकती है। स्वास्थ्य बहुत अच्छा नहीं रहेगा। लव लाइफ सामान्य रहने की उम्मीद है।

कर्क राशि -

सूर्य का यह गोचर आपके चौथे भाव में हो रहा है। इस गोचर के दौरान माता की सेहत में गिरावट और उनके साथ टकराब की स्थिति बन सकती है। वैवाहिक जीवन और प्रोफेशनल जिंदगी दोनों में तनाव देखने को मिल सकता है। पेशेवर जातकों को सलाह और मार्गदर्शन की आवश्यकता होगी। इस अवधि में आपकी वाणी बहुत अच्छी नहीं कही जा सकती। इस दौरान आपमें क्रोध की मात्रा अधिक रहेगी, जिस कारण आपको आलोचना का सामना करना पड़ सकता है।

सिंह राशि -

सूर्य गोचर सिंह राशि के जातकों को एक नई ऊर्जा से भर देगा। इसके साथ ही आपकी कुछ यात्राएं हो सकती हैं। परिवार के साथ भी आप मजेदार यात्रा पर जा सकते हैं। प्रेम जीवन संतोषजनक रहने की उम्मीद की जा सकती है। निजी जीवन रोमांचक रहने वाला है। व्यावसायिक जीवन के प्रति कम झुकाव रहेगा यानी की आप व्यवसाय पर अधिक ध्यान नहीं देंगे। जो आपके लिए ठीक नहीं है। स्वास्थ्य सामान्य रहेगा।

कन्या राशि

सूर्य का यह गोचर आपके दूसरे भाव में होने वाला है। इस समय आपकी वाणी में कड़वाहट देखने को मिलेगी। पारिवारिक जीवन में सही माहौल बनाने के लिए गोचर के दौरान अपने गुस्से पर काबू रखें। यह समय वित्तीय लाभ करवाने वाला हो सकता है परंतु इसके साथ ही धन व्यय होने के भी संकेत मिल रहे हैं। सूर्य का राशि परिवर्तन आपके लिए निवेश के मौके लेकर आने वाला है। भविष्य की योजना बनाने का एक अच्छा समय। आप इस समय में किसी की भावनाओं को आहत कर सकते हैं। इसलिए कुछ कहने से पूर्व विचार करें। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा।

तुला राशि -

सूर्य का गोचर आपकी ही राशि यानि प्रथम भाव या लग्न भाव में हो रहा है। यह गोचर तुला राशि के जातकों में कम आत्मविश्वास का कारण बन सकता है। कार्य पर ध्यान केंद्रित करना मुश्किल होगा। नुकसान का डर निरंतर आपके अंदर बना रहेगा। धन वापसी में मौद्रिक हानि या समस्या खड़ी हो सकती है। सूर्य की स्थिति कमजोर है, जिससे इस तरह की समस्याएं होती हैं। आपको सलाह दी जाती है कि आप खुद पर भरोसा रखें और अपने सभी कामों को पूरी लगन से करें, इससे आपका आत्म सम्मान बढ़ेगा और आपको कुछ प्रोत्साहन मिलेगा।

वृश्चिक राशि -

सूर्य का यह गोचर आपके बारहवें भाव में होने वाला है। इस गोचर के दौरान इस राशि के कारोबारियों को काम के संबंध में लंबी दूरी की यात्रा करनी पड़ सकती है। सूर्य का गोचर आपके ख़र्चों में बढ़ौतरी कराएगा। सरकारी कर्मचारियों के लिए परेशानी का समय होगा और उन्हें अपने वरिष्ठों से अपमान और लगातार डांट का सामना करना पड़ सकता है। जो लोग व्यवसाय में हैं, उन्हें कारोबार चलाने में भारी अनुत्पादक व्यय का सामना करना पड़ेगा। हालांकि, यदि आपका व्यवसाय विदेशी बाजार से जुड़ा है, तो आपके लिए समय अच्छा रहेगा।

धनु राशि -

धनु राशि के जातको के लिए सूर्य गोचर उनके जीवन में अच्छा बदलाव लेकर आने वाला है। साथी के साथ चल रहा विवाद समाप्त होगा। हर पहलु पर साथी का भरपूर सहयोग मिलेगा। विवाहित जोड़ों के बीच अच्छी समझ व तालमेल बनेगी। जो सिंगल है इनको अपना प्यार मिल सकता है। शुभ समाचार मिलने के भी आसार हैं। वित्तीय वृद्धि होगी और व्यवसाय में धन लाभ होने के आसार हैं। जो छात्र उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं उनके पास बहुत अनुकूल समय नहीं होगा क्योंकि आप एकाग्रता की कमी और आत्मविश्वास की कमी के कारण परेशान होंगे।

मकर राशि -

सूर्य आपके लिए अष्टमेश होकर 10वें भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान कार्यक्षेत्र में तनाव रह सकता है। सूर्य का गोचर शासन सत्ता तथा उच्चाधिकारियों से संबंधों में कड़वाहट ला सकता है यही गोचर आपका स्थान परिवर्तन भी करा सकता है। आपको महत्व नहीं मिलने से क्रोध आएगा। आलस्य भी हावी रहेगा। इसलिए जो भी काम करें उसमें पूरा दम लगाकर करें। अपनी योजनाओं को गोपनीय रखते हुए कार्य करेंगे तो सफलता की संभावना सर्वाधिक रहेगी। आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी। इस माह आपके धैर्य और संयम की परीक्षा होगी।  माता-पिता में से किसी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है।

कुंभ राशि -

कुंभ राशि से भाग्य भाव में सूर्य का गोचर मिलाजुला फल देने वाला सिद्ध होगा धर्म-कर्म के मामलों में कुछ अरुचि बढ़ेगी। कहीं ना कहीं कार्य बाधा से आप हताश होते नजर आएंगे किंतु यह अधिक समय के लिए नहीं रहेगा। आपके अपने ही लोग नीचा दिखाने के लिए षड्यंत्र करते रहेंगे सावधान रहें। यात्रा देशाटन का लाभ मिलेगा विदेशी नागरिकता के लिए आवेदन करना हो तो समय अनुकूल है। इनकी उच्च दृष्टि आपके पराक्रम भाव पर पड़ रही है जिसके परिणामस्वरूप अपने कठिन परिश्रम से विषम परिस्थितियों पर विजय प्राप्त कर लेंगे। घर-परिवार में सुख समृद्धि आएगी। निकट संबंधियों से मतभेद दूर होंगे। प्रेम प्राप्त होगा।

मीन राशि - 

सूर्य का यह गोचर आपके पांचवे भाव में हो रहा है। विरोधियों के द्वारा नुकसान नहीं होगा लेकिन सूर्य के तुला राशि में गोचर के दौरान आपका आत्मविश्वास कुछ कमज़ोर रह सकता है। शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। कार्यक्षेत्र में परिश्रम की अधिकता रहेगी। रहन-सहन अव्यवस्थित रहेगा। इस समय वाहन आदि भी सावधानी से चलाने होंगे। इस समय अपनी वाणी पर विशेष संयम रखने की ज़रूरत रहेगी। हां ये बात और है कि सूर्य के तुला में गोचर में आपकी मेहनत के पैसे कहीं फंसे हुए हों तो वो इस समय आपको मिल जाएंगे। नौकरीपेशा लोगों को इस समय बड़े ही संयम के साथ निर्वाहन करना होगा। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें।


Previous
Vastu suggestions for buying a house or a flat

Next
Weekly Horoscope: 20-26 September 2021