सोना न पहने वाली महिलाएं हो जायें सावधान

By: Future Point | 01-Dec-2017
Views : 10169
सोना न पहने वाली महिलाएं हो जायें सावधान

ज्योतिष शास्त्र में ग्रहों और धातुओं का सीधा व घनिष्ठ संबंध माना गया है| सूर्य-सोने और तांबे पर, शुक्र व चंद्रमा-चांदी, मंगल-तांबे, गुरु-सोने और शनि व राहू-लोहे पर आधिपत्य रखते हैं| ग्रहों की तरह धातुओं की भी अपनी एक प्रकृति होती है| स्वर्ण के आभूषणों की तासीर गर्म और चांदी की शीतल है|

ज्योतिष में पैर-शनि का और सूर्य-सिर का प्रतीक है और ये परस्पर शत्रु माने जाते हैं| आयुर्वेद के अनुसार मनुष्य का सिर ठंडा और पैर गर्म रहने चाहिए, इसलिए सिर पर सोना और पैरों में चांदी के आभूषण ही धारण करने चाहिए| आदिकाल में राजा-महाराजा शायद इसी लिए सुवर्ण मुकुट धरण करते थे| इससे सिर से उत्पन्न ऊर्जा पैरों में और चांदी से उत्पन्न ठंडक सिर में जाएगी, इससे सिर ठंडा व पैर गर्म रहेंगे, सिर में चांदी के व पैरों में सोने के आभूषण नहीं पहनने चाहिए, इससे स्त्रियां अवसाद, पागलपन या अन्य रोगों की शिकार बन सकती हैं| पैरों में सोने की पायल नहीं पहननी चाहिए, चांदी की पायल पहनने से पीठ, एड़ी व घुटनों के दर्द, रक्तशुद्धि, मूत्ररोग, हिस्टीरिया आदि रोगों से राहत मिलती है|

Also Read: क्‍या आपकी कुंडली में है विदेश जाने का योग, ऐसे जानें

    • यदि आपका लग्न मेष, कर्क, सिंह और धनु है तो आपके लिए सोना धारण करना उत्तम होगा।
    • वृश्चिक और मीन लग्न के लोगों के लिए मध्यम और वृषभ, मिथुन, कन्या और कुंभ लग्न के लिए उत्तम नहीं होता है।
    • तुला और मकर लग्न के लोगों को सोना कम से कम पहनना चाहिए। जहां और जब जरूरत हो तब ही पहनना चाहिए।
    • सोना नकारात्मक असर भी देता है, जब तुला, मकर लग्न वाले पहनते है, इन लग्न वाले सोना पहनने से कर्ज और बीमारी के चक्कर मे फंस जाते है।
    • कुंडली मे जब गुरु राहू की स्थिति खराब हो तो ये देख कर ही सोना धारण करावे की गुरु किस राशि का स्वामी है, कभी कभी राहु भी जीवन मे सकारात्मक प्रभाव देता है, ऐसी स्थिति मे गुरु याने सोना पहनाना उचित नही होगा । जैसे एक नेता याने राजनितिक व्यक्ति को राहू की ज्यादा जरूरत होती है ।
    • जिन लोगो को बार बार पीलिया होता है, उनका गुरु ग्रह खराब होता है, ऐसे लोग सोच समझकर सोना धारण करे ।
    • जब सन्तान आपकी बात नही सुन रही तो दूध उबालते समय उसमे सोने का कोई तार डालकर उबाले,जल्दी शुभ असर होगा ।
    • विवाह के कई साल बाद भी यदि किसी के संतान नहीं हो रही है तो उसे अनामिका ऊंगली में सोने की अंगूठी पहनने से लाभ होता है।
    • जो लोग स्वयं को अन्य लोगों से कमतर महसूस करते हों या फिर उनमें हीन भावना घर कर चुकी हो, ऐसे में उन्हें तर्जनी उंगली में सोने का आभूषण धारण करना चाहिए |
    • एकाग्रता बढ़ाने के लिए तर्जनी यानि इंडैक्स फिंगर में सोने की अंगूठी पहनने से आपको फायदा होगा।
    • घर में सोना रखना है तो उसे ईशान या नैऋत्य कोण में ही रखें और ध्यान रहे इसे हमेशा लाल कपड़े में बांधकर ही रखें।
    • यदि किसी व्यक्ति को सम्मान या राजकीय अधिकारियों से सहयोग प्राप्त करना है तो उसे सोना अवश्य धारण करना चाहिए।

Get free Kundli Report Online

    • दांपत्य अथवा वैवाहिक जीवन में खुशियां लाने के लिए गले में सोने की चेन पहनें।
    • सर्दी जुकाम या साँस की बीमारी हो तो रिंग फिंगर में सोना पहने| सोना ऊर्जा और गर्मी दोनों ही पैदा करता है| साथ ही, ये विष के प्रभाव को दूर भी करता है|
    • जिन माँ के बच्चे उनकी बाते नही मानते उन्हें भी सोना पहनने से बच्चे उनकी बात सुनने लगते है।
    • जब आपको लगता है की आपका बेटा, बेटी अपने रास्ते से भटक रहे है तो उन्हें सोना पहनाना शुभ होगा।

Also Read: जानिए आपकी राशि के लिए बना है कौन-सा रुद्राक्ष

  • यदि आप दुबले हो और सभी उपाय करने के बाद भी वजन नही बढ़ पा रहा तो सोना पहनना आपके वजन को बढ़ा सकता है।
  • जो लोग अनुशासनहीन है उन्हें सोना पहनना चाहिये ।
  • गुरुजन याने टीचर को अपना व्यक्तित्व बढ़ाने के लिये सोना पहनना शुभकारी होगा |

Previous
धन दान देना भी बन सकता है फांसी का कारण - जी हां ये सच है

Next
इन राशियों के लोग बनते है जल्द अमीर