राशि अनुसार रत्न धारण करने से मिलती है कमजोर ग्रहों को शक्ति । | Future Point

राशि अनुसार रत्न धारण करने से मिलती है कमजोर ग्रहों को शक्ति ।

By: Future Point | 03-Jun-2019
Views : 5938
राशि अनुसार रत्न धारण करने से मिलती है कमजोर ग्रहों को शक्ति ।

रत्नों का हमारे जीवन पर बहुत ही गहरा प्रभाव पड़ता है, वहीं ज्योतिष के अनुसार ऐसा माना जाता है कि हर इंसान का भाग्य उसकी राशि पर निर्भर करता है, भविष्य में आपका जीवन कैसा होगा, आपका व्यवहार कैसा होगा, स्वभाव कैसा होगा,ये सभी चीजें राशि पर निर्भर करती हैं, ठीक इसी तरह से रत्नों का भी यानि कि स्टोन्स का भी हमारे जीवन पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जन्म के समय सूर्य जिस राशि में स्थित होता है वही उस व्यक्ति की राशि मानी जाती है, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार प्रत्येक राशि का एक रत्न होता है जिसे भाग्य रत्न भी कहा जाता है, राशि के अनुसार रत्न धारण करने से भाग्य में वृद्धि होती है और जीवन में सफलता मिलने के आसार बढ़ते हैं।

राशि अनुसार कौन से रत्न धारण करने चाहिए :

मेष राशि का रत्न -

मेष राशि के जातक अत्‍यंत क्रोधी स्‍वभाव के होते हैं, इससे प्रभावित जातक छोटी-छोटी बातों पर भी उतेजित हो जाते हैं और ये जिद्दी स्‍वभाव के भी होते हैं अतः मेष रा‍शि के जातकों को मूंगा अथवा गारनेट रत्‍न धारण करने से फायदा होता है, इस रत्‍न के प्रभाव से जातक का दिमाग शांत रहता है, मेष राशि के जातको हीरा धारण नही करना चाहिए।

Buy gems products online at Future Point AstroShop


वृषभ राशि का रत्न -

वृषभ राशि के जातक धैर्यवान होते हैं लेकिन इनमें भावुकता की अधिकता होती है, स्‍वभाव से अत्‍यधिक भावुक होना ही इन जातकों की सबसे बड़ी कमी मानी जाती है, ये लोग किसी पर भी जल्‍दी भरोसा कर लेते हैं, इसलिए वृषभ राशि के जातकों को हीरा धारण करना चाहिए, हीरे के प्रभाव से वृषभ राशि के जातक बुरी संगत से दूर रहेंगें, इस राशि के व्यक्ति को माणिक्य नहीं धारण करना चाहिए, और इन्‍हें मूंगा रत्‍न न पहनने की सलाह दी जाती है।

मिथुन राशि का रत्न -

मिथुन राशि के जातक आकर्षक और कला के प्रेमी होते हैं, इनका नेगेटिव प्‍वाइंट होता है कि इन्‍हें जीवन में सफलता ज़रा देर से मिलती है, यदि मिथुन राशि के जातक पन्ना धारण करें तो उसे अपने जीवन में सफलता प्राप्‍ति में सहयोग मिलता है, यदि मिथुन राशि के जातक नीलम रत्‍न न पहनें तो यह इनके लिए लाभप्रद होगा।


कर्क राशि का रत्न -

9कर्क राशि के जातक बुद्धिमान होते हैं लेकिन यह हठी स्‍वभाव के भी होते हैं, अपने जिद्दी स्‍वभाव के कारण कभी-कभी इन्‍हें नुकसान भी उठाना पड़ जाता है, अतः कर्क राशि के जातकों को मोती पहनने से लाभ होता है, यह रत्‍न मन के विचारों को नियंत्रित कर उसे शांति प्रदान करता है, कर्क राशि के जातको को मूंगा धारण नही करना चाहिए।

Also Read ♦ मूंगा रत्न दिलाएगा मगंल ग्रह से जुडी सभी समस्यांओ से छुटकारा ।


सिंह राशि का रत्न -

सिंह राशि के जातक काफी उदार होते हैं लेकिन इन्‍हें अपने जीवन में काफी संघर्ष करना पड़ता है, छोटी-छोटी चीजें भी इन्‍हें काफी मेहनत के बाद नसीब होती हैं, ऐसे में अगर सिंह राशि के जातक माणिक्‍य, रेड ओपल या गारनेट धारण करें तो उन्‍हें अपने कार्यों में सफलता हासिल होती है, जबकि हीरा पहनने से इन्‍हें नुकसान हो सकता है।

कन्‍या राशि का रत्न -

जीवन में आई कठिनाइयों से निपटना कन्‍या राशि के जातक अच्‍छी तरह से जानते है, इस राशि के जातकों में कमी होती है कि यह काफी भावुक प्रवृत्ति के होते हैं, दूसरों के प्रति जल्‍दी आकर्षित हो जाते हैं अतः इनका चंचल स्‍वभाव ही इनकी सबसे बड़ी मुसीबत बन जाता है, अत: कन्‍या राशि के जातकों को पन्‍ना रत्‍न धारण करना चाहिए।


तुला राशि का रत्न -

तुला राशि के जातकों में विभिन्‍न खूबियां होती हैं, इन्‍हें कला से प्रेम होता है एवं पैसा कमाने के लिए ये सदैव उत्‍सुक रहते हैं, लेकिन इस राशि के जातक हमेशा दूसरों पर अपना वर्चस्‍व साबित करना चाहते हैं, ये काफी स्‍वार्थी भी होते हैं और अपनी नकारात्‍मकता को नियंत्रित करने के लिए तुला राशि के जातक ओपल, ब्‍लू डायमंड और टोपाज धारण कर सकते हैं, इस राशि के जातकों को मूंगा पहनने से नुकसान हो सकता है।

Buy pendant products online at futurepointindia.com


वृश्चिक राशि का रत्न -

धैर्य और शांति का दूसरा नाम होते हैं वृश्चिक राशि के जातक. इन जातकों को जीवन में सफलता पाने के लिए जीतोड़ मेहनत करनी पड़ती है, खूब पसीना बहाने के बाद ही कामयाबी इनके हाथ आती है, यदि वृश्चिक राशि के जातक मूंगा धारण करें तो इनके द्वारा किए गए प्रयासों से जल्‍दी सफलता पाई जा सकती है, मूंगा के प्रभाव से इस राशि के जातक अपने लक्ष्‍य को प्राप्‍त कर पाएंगें, और इन्‍हें हीरा धारण करने से परहेज करना चाहिए।

धनु राशि का रत्न -

धनु राशि के जातक दिखने में मजबूत और शक्तिशाली होते हैं और कार्य को तेजी से करते हैं लेकिन कार्य पूरा किए बिना दूसरों के ऊपर कार्य सौंप कर उस काम से हट जाते हैं, अतः इस राशि के जातकों को पुखराज धारण करना शुभ होगा यह उनके भाग्य की वृद्धि में सहायक होगा, और पन्‍ना इनके लिए नुकसानदायक हो सकता है।

Also Read>> जानें मोती रत्न किस राशि के लिए शुभ और अशुभ होता है ।


मकर राशि का रत्न -

मकर राशि के जातक सदा दूसरों की सहायता के लिए तत्‍पर रहते हैं, और इस राशि के जातकों के जीवन में परिश्रम और चिंता अधिक होती है, परिवार से भी इन्‍हें सहयोग नहीं मिल पाता है, इनका भाग्य देर से जागता है इसलिए मेहनत का फल भी देर से मिलता है, मकर राशि का स्‍वामी शनि ग्रह है इसलिए मकर राशि वाले जातकों को नीलम रत्‍न धारण करना चाहिए, और इस राशि के जातको को पुखराज नही पहनना चाहिए।


कुंभ राशि का रत्न -

कुम्भ राशि के जातक ज्ञान का भंडार होते हैं, परन्तु इनका आत्‍मविश्‍वास काफी कमजोर होता है और ये शारीरिक रूप से भी कमजोर होते हैं, कुम्भ राशि का शुभ रत्‍न नीलम है और इस राशि के जातकों को पुखराज नही पहनना चाहिए।


मीन राशि का रत्न -

मीन राशि के जातक जीवन के प्रति काफी उत्‍साहित रहते हैं और इनका स्‍वास्‍थ्‍य ज्‍यादा अच्‍छा नहीं रहता, अतः इन्‍हें पुखराज पहनने की सलाह दी जाती है, पुखराज इस राशि के लिए शुभ रत्‍न माना जाता है जबकि पन्‍ना इनके जीवन में अशुभ फल का कारक बनता है।


Previous
Venus Transit in Taurus from 4th June to 29th June 2019

Next
जानें मोती रत्न किस राशि के लिए शुभ और अशुभ होता है ।