पॉजिटिव जीयें, रुचिकर करें, मित्र बनाएँ | Future Point

पॉजिटिव जीयें, रुचिकर करें, मित्र बनाएँ

By: Tanvi Bansal | 18-Feb-2019
Views : 7678
पॉजिटिव जीयें, रुचिकर करें, मित्र बनाएँ

हम सभी का भविष्य हमारे आज, सोच और प्रयास पर निर्भर करता है। वैसे तो हर आयु के व्यक्ति को अपनी सोच को सकारात्मक रखना चाहिए। उस पर भी जब बात महिलाओं की हों तो यह ओर भी जरुरी हो जाता है कि वो पाजिटिव रहें और परिवार को पाजिटिव रहने में मदद करें। महिला होने के नाते आपके मन में यह विचार आना लाजमी है कि हम महिलायें ही क्यों? क्या हम सबसे अलग है, और अलग हैं भी तो हमें सबसे अलग ट्रीट क्यों किया जाए। इसके लिए हमें आज की महिलाओं की जीवन शैली पर विचार करना होगा। आज महिलाएं घर, परिवार और आफिस सभी एक साथ संभाल रही है। अपने सभी दायित्वों में तालमेल बिठाने के लिए आपकी सोच का संतुलित होना अनिवार्य है। इसके बिना सारे कामों को एक साथ संभालना नामुमकिन हो सकता है।

आज हम आपको ऐसे कुछ टिप्स दे रहें है जिन्हें अपनाकर आप स्वयं को पाजिटिव रख सकती हैं-

ईश्वर को आभार दें


जीवन में आप जिस भी स्थिति में हैं। सुख में हैं या दुख में हैं। हर स्थिति में उस ईश्वर को थैंक्यू कहें। जीवन में कभी कुछ गलत हो भी जाए तो ईश्वर को उलाहना ना दें। उस कष्ट से बाहर निकलने, सामना करने की शक्ति मांगे और मन से धन्यवाद करें।

सामान्य कसरत नित्य करें


अपने से दुखों को दूर रखने, भाग-दौड़ से भरी जिंदगी में मुस्कुराते रहने और तनाव को अपने पर हावी ना होने देने का सबसे आसान और कारगर तरीका है, कि रोजमर्रा के कामों से समय निकालकर अपने को समय दें। हल्का फुल्का व्यायाम करें। अपनी रुचियों को समय दें।

हेल्दी नाश्ता करें


घर में इसको यह पसंद है, उसे यह पसंद हैं, आप सबका ख्याल रखती है। सबकी छोटी बड़ी बातों को याद रखती हैं। ऐसा ही कुछ आप अपने लिए भी करें। सुबह के नाश्ते में सप्ताह में कम से कम एक दिन जरुर अपनी पसंद का नाश्ता बनाए। और समय देकर आनंद से खायें। सारे दिन की एनर्जी को बनाए रखने के लिए सुबह का नाश्ता स्किप ना करें। यह आपको ऊर्जावान रखने का काम करेगा।

मुखर बने


लोग आपके बारें में पीठ पीछे क्या कहते हैं, इस पर ध्यान देने की जगह। यदि कोई आपके मुख पर आपको कुछ गलत कहता है तो विनम्र होकर उसे उसी समय जवाब दें। इससे आपका आत्मसम्मान बना रहेगा और आप अन्तर्मुखी होने से बचेंगी। इससे उदासी और निराशा आपसे कोसों दूर रहेंगी।

चुनौतियों से डरें नहीं


जीवन की हर परिस्थिति का डटकर मुकाबला करें। समस्याओं से भागना, रोना या अधिक सोचना, इसकी जगह समस्याओं का समाधान कैसे हो सकता हैं और समाधान जानने के बाद तुरंट एक्शन मूड में आ जायें।

अपना ख्याल रखें, आकर्षक दिखें


अपना अधिक से अधिक ध्यान रखना, अधिक से अधिक सुंदर सोबर दिखने के कोशिश करें। आकर्षक दिखना अपने आप में खुशी देता है। जहां खुशी है वहां पॉजिटिविटी दौड़ कर आती है।

एक अच्छी इच्छाशक्ति, प्रयास और पहल हो तो आप किसी भी स्थिति में आगे बढ़ सकती है। एक ओर यह आपको पॉजिटिव बनाए रखेगा, दूसरी ओर आप सहज सफल हो सकता हैं। इरादें मजबूत हों तो मुश्किल काम भी आसान हो जाता है। इरादों को मजबूर करने के लिए आप निम्न उपाय कर सकती हैं-

  • सफलता की पहली कुंजी धैर्य हैं। धैर्य से काम लें और आगे बढ़ने के इरादें मजबूत रखें। यह आपको सफलता देगा।
  • जीवन में मार्गदर्शन प्राप्त करने और विपरीत परिस्थितियों में होंसला बनाए रखने के लिए कोई गुरु बनाए। यथासंभव समय निकालकर मार्गदर्शन लेती रहें।
  • अपने आसपास के माहौल को सकारात्मक बनाए रखने के लिए यह आवश्यक है कि आप सकारत्मक सोच के लोगों से मिले जुलें।
  • निराश और ऊर्जाहीन लोगों से कम से कम वास्ता रखें। इससे नकारात्मक विचारों से दूर रहें।
  • जो लोग सिर्फ आलोचना करने की आदत रखते हैं, या सिर्फ दूसरों की बुराईयां करते है, ऐसे लोगों से कम से कम मिलना ही सही है।
  • इच्छाशक्ति को मजबूत बनाए रखने के लिए हूं मंत्र का जाप करें। दिन में कम से कम एक माला इस मंत्र का जाप आपको जीवन में सक्रिय रखेंगी।
  • मध्यमा अंगूली में शनिवार के दिन एमेथिस्ट रत्न धारण करना आपकी पहल शक्ति को बढ़ाएगा, आप अधिक एक्टिव बनेंगी।
  • रोज क्वार्टज सोमवार के दिन अनामिका अंगुली में पहनना पॉजिटिव रखेगा।
  • स्फटिक धारण करने से भी इच्छाशक्ति बेहतर होती है।
  • सोने में एक मुखी रुद्राक्ष पहनना एक्टिव रखता हैं, आत्मशक्ति और आत्मविश्वास को बेहतर करता है।

कभी परिवार के साथ तो कभी, माहौल बदलने के लिए और कभी काम से जुड़े किसी काम के लिए यात्राएं हम सभी को करनी पड़्ती है। यात्रा करने की वजह चाहे जो भी हों परन्तु यह ख्वाहिश सभी की रहती है कि जिस उद्देश्य के लिए यात्रा पर जा रहे है वो पूरी हो, मतलब अगर घूमने और आनंद के लिए यात्रा की जा रही है तो आपको कोई असुविधा ना हों और यदि किसी काम के सिलसिले में आप यात्रा कर रहे हैं तो आप चाहेंगे कि आपको लाभ हों। कई बार ऐसा नहीं हो पाता, तो ऐसे में यात्राओं को सफल बनाने के लिए आप निम्न उपाय कर सकते हैं-

रविवार - रविवार के दिन यात्रा पर जा रहे हैं तो घर से शक्कर, घी या फिर दोनों को मिक्स कर थोड़ा सा खाकर निकलें।

सोमवार - दूध या दूध से बनें पदार्थ खाकर, माथे पर तिलक लगाकर और अपना मुख आईने में देखकर निकलें।

मंगलवार - इस दिन यात्रा कर रहे हैं तो आप थोड़ा सा गुड़ खाकर निकलें, संभव हों तो इस दिन उत्तर दिशा में ही यात्रा करें।

बुधवार - बुधवार के दिन यात्रा पर निकलते समय सूखा धनिया मुंह में डाल लें, संभव हों तो उत्तर दिशा में इस दिन यात्रा न करें।

गुरुवार - इस दिन की अपनी यात्रा को शुभ बनाने के लिए आप यात्रा पर निकलने से पहले जीरे के कुछ दाने खाकर निकलें।

शुक्रवार - खीर या दही खाकर यात्रा करना इस दिन की यात्रा को शुभ और सफल बनाएगा।

शनिवार - तिल या तिल से बनी किसी वस्तुओं को खाकर आप इस दिन यात्रा पर निकल सकते हैं।


Previous
Maha Shivratri- Make the best use of this Upsurge in Cosmic Energy

Next
सुषमा स्वराज विदेश मंत्री - ऐ नारी तुझे नमन....