न्याय के कारक शनि करने जा रहें हैं 30 साल बाद मकर राशि में प्रवेश! | Future Point

न्याय के कारक शनि करने जा रहें हैं 30 साल बाद मकर राशि में प्रवेश!

By: Future Point | 18-Jan-2020
Views : 6452
न्याय के कारक शनि करने जा रहें हैं 30 साल बाद मकर राशि में प्रवेश!

इस बदलाव से 6 राशियों की किस्मत होगी बुलंद और बाकी 6 राशियां रहें सतर्क?

कठोर कार्यवाहक और अनुशासनात्मक ग्रह शनिदेव 24 जनवरी को सुबह 9 बजकर 56 मिनट पर 30 साल बाद अगले ढाई साल के लिए मकर राशि में अपना स्थान परिवर्तन करने जा रहे हैं इनका यह राशि परिवर्तन अनेक बदलाव लेकर आने वाला है| शनि को ज्योतिष में न्याय, प्रजातंत्र, परिश्रम, वैराग्य, व्यापार, और राजनीति का कारक ग्रह माना जाता है| जो व्यक्ति बुरे वक्त में भी अच्छाई का दामन थामे रखता है, शनिदेव उसका हाथ कभी नहीं छोड़ते उसे अपनी छत्रछाया में सुरक्षित रखते हैं| जब शनिदेव किसी कुंडली में अनुकूल भाव में होते हैं| तो जातक की संचार शक्ति अच्छी होती है| लेकिन जब यह नकारात्मक होता है, तो इसमें सोने को राख में बदल देने की शक्ति भी होती है| शनि जिनकी कुंडली में अच्छा प्रभाव रखते हैं, उन्हें व्यापार के क्षेत्र में सफलता प्राप्त होती है, वह ऑटो मोबाईल का बिजनेस, मशीनरी, धातु से संबंधित व्यापार, तेल, पेट्रोल, उद्योग, कैमिकल, अधिक परिश्रम करने वाले कार्य, कारखाना, वकालत, अस्पताल, चमड़ा, सीमेंट, भट्टी, लकड़ी, रबर, आदि से संबंधित व्यवसाय करते हैं|

ऐसा माना जाता है कि जो लोग घमंडी और दुराचारी होते हैं और जब उनकी राशि पर शनि की साढ़ेसाती और ढैया आती है तो शनिदेव उनके अहंकार और बुरे कर्मों का फल देते हैं| दूसरी ओर अच्छे व्यक्तियों को मेहनत के पश्चात लाभ भी पहुंचाते हैं| वर्तमान में शनि धनु राशि में हैं, लेकिन 24 जनवरी को मकर राशि में चले जाएंगे| इसके चलते सभी राशियों के जातकों पर पड़ने वाले प्रभाव में भी फेरबदल होगा| जहां वृश्चिक राशि से शनि की साढ़ेसाती और वृषभ तथा कन्या राशियों से शनि की ढैया समाप्त हो जाएगी, वहीं इस बदलाव से कुम्भ राशि में शनि की साढ़ेसाती का प्रथम ढैया शुरू होगा| शनि का राशि परिवर्तन करना ग्रह मंडल की बड़ी घटना है|

वैसे तो सभी ग्रहों का अपना-अपना महत्व है, वह किसी न किसी रूप में चराचर जगत को प्रभावित करते हैं| लेकिन शनि का शुभ-अशुभ प्रभाव खास मायने रखता है| दरसल शनि अच्छे के साथ अच्छे और बुरे के साथ बुरा व्यवहार करते हैं| यह व्यक्ति विशेष पर निर्भर करता है कि उसने शनि कृपा पाने लिए कैसे कर्म करने हैं। शनि समय-समय पर अपनी चाल बदलते रहते हैं। जिस राशि पर साढ़ेसाती और ढ़ैय्या का प्रभाव होता है, उसे अनचाही परेशानियों का सामना करना पड़ता है| जो व्यक्ति बुरे वक्त में भी अच्छाई का दामन थामे रखता है, शनि उसका हाथ कभी नहीं छोड़ते और उसे अपनी छत्रछाया में सुरक्षित रखते हैं| 24 जनवरी शुक्रवार को शनि अपना घर बदलेंगे| वह धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश करेंगे| वर्तमान समय में वह धनु राशि में गोचर कर रहे हैं| धनु राशि में शनि की साढ़ेसाती का अंतिम चरण लाभदायक रहेगा वहीं, मकर राशि में मध्य चरण गृह क्लेश, शारीरिक, मानसिक कष्ट और रोजगार में उतार-चढ़ाव वाला रहेगा| मीन राशि का पहला चरण थोड़ा परेशानी भरा रहेगा| मिथुन और तुला राशि वालों के लिए शनि की ढैया कष्टकारक साबित होगी|

मेष राशि (Aries)

इस राशि परिवर्तन के दौरान मेष राशि वालों के लिए शनिदेव दशवें भाव में गोचर करेंगे| यह भाव विशेष रूप से कर्म को दर्शाता है, और शनि भी कर्म के ही स्वामी हैं| शनि की कृपा से यह गोचर आपके लिए करियर की दृष्टि से बहुत अच्छा रहेगा| शनि के दशम भाव में होने से इसकी तीसरी दृष्टि आपके द्वादश भाव पर, सप्तम दृष्टि चतुर्थ भाव और दशम दृष्टि सप्तम भाव पर पड़ेगी| शनि की यह स्थिति आपको अच्छे परिणाम देने वाली होगी| नये काम के लिए अप्रैल तक का समय बहुत अच्छा है| नौकरी और व्यवसाय में सफलता मिलने के अच्छे योग हैं| इस वर्ष अच्छे परिणामों के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी| 11 मई से शनि के वक्री होने की वज़ह से नये कामों में कुछ रुकावटें आ सकती हैं| प्रेम संबंधों के लिए यह समय बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता| स्वास्थ्य की दृष्टि से भी इस दौरान उतार-चढ़ावों का सामना करना पड़ सकता है|

उपाय-
"शिव पञ्चाक्षरि"
तथा महा मृत्युंजय मंत्र को पढ़ते हुए भगवान शिव की पूजा करें, और शिवलिंग पर जलाभिषेक करें|
उड़द मिली रोटी काले कुत्ते को शनिवार के दिन खिलाएँ।

वृषभ राशि (Taurus)

वृष राशि वालों के लिए शनिदेव नौवें भाव में गोचर करेंगे, नौवें भाव का सम्बन्ध विशेष रूप से व्यक्ति के भाग्य से होता है| शनि आपके भाग्यस्थान से गोचर करते हुए पिछले ढाई साल से चली आ रही परेशानियों का अंत करेंगे, व्यापार में लाभ की स्थितियां रहेंगी, तथा धन का आगमन बेहतर करेगा, जो लोग नौकरी में परिवर्तन चाहते हैं, या नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उनके लिए यह परिवर्तन शुभ रहेगा| आय के साधन बढ़ेंगे, नया व्यापार भी शुरू कर सकते हैं| जिन्हें विदेश जाकर नौकरी या पढ़ाई करनी है,उनके लिए भी यह समय अच्छा है| लंबी दूरी की यात्राएं होने की संभावना है जो अच्छे परिणाम दे सकती हैं, बौद्धिक परिपक्वता में वृद्धि के कारण वैवाहिक और प्रेम जीवन में सुधार होगा, और जीवनसाथी के साथ आप अच्छा वक्त बिता पाएंगे|

उपाय-
शनिवार के दिन जल में कच्चा दूध मिलाकर पीपल की जड़ में अर्पित करें|
शनिवार के दिन काला अथवा नीला कंबल ज़रूरतमंद को दान करें|

Get Shani Sadesati Report Just Rs.399/-

मिथुन राशि (Gemini)

मिथुन राशि वालों के लिए शनिदेव उनकी राशि से आठवें भाव में गोचर करेंगे| इस राशि परिवर्तन से शनि की ढैया आपकी राशि को लगे जा रही है, इसलिए प्रत्येक कार्य को सोच समझ कर करें, परंतु अंतिम परिणाम शुभ रहेगा क्योंकि शनि आपके भाग्येश भी हैं| इस समय के दौरान आलस्य से बचें, नौकरी में विवादास्पद स्थितियों से स्वयं को दूर रखें| यह समय विदेश यात्रा के लिए बेहतर रहेगा और वहां से जुड़े सभी कार्य समय पर बनेंगे| गुप्त विद्याओं में रूचि तथा पुराने धन की प्राप्ति होगी, इस दौरान दुर्घटना होने की संभावना है| विशेष सावधानी बरतें| लंबे समय से चले आ रहे ज़मीन-जायदाद के मामलों का निपटारा होने आसार हैं|

उपाय-
प्रतिदिन दशरथकृत शनि स्तोत्र का पाठ करें|
नदी के किनारे पीपल का पेड़ लगाये,
शनिवार के दिन पीपल वृक्ष की जड़ पर तिल या सरसों के तेल का दीपक जलाएं|

कर्क राशि (Cancer)

कर्क राशि वालों के लिए शनिदेव आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर करेंगे| सप्तम भाव से शनि लग्न को दृष्ट करेंगे| जिसके कारण इस दौरान आपके प्रत्येक कार्य में विलम्ब की स्थिति रहेगी| और आप अधिक आलस्य करेंगे|व्यवसाय और पारिवार से जुड़े कुछ मुद्दे अचानक से आपके लिए एक बड़ी समस्या का कारण बन सकते हैं, इस दौरान किसी महिला मित्र की वज़ह से आपको फायदा होगा| यदि आप बिज़नेस करते हैं, तो यह गोचर आपके लिए बेहतर साबित होगा| इस वर्ष आपको आंखे, कंधे हड्डियों से संबंधित रोग परेशान कर सकते हैं और कुछ मानसिक तनाव भी बना रहेगा| क्रोध अधिक रह सकता है, जिसके कारण सहयोगी और साझेदारों के साथ अनबन अधिक रहने वाली है|

उपाय-
सोमवार के दिन शिवलिंग पर पंचामृत से अभिषेक करें|
गरीबों को चने की दाल से बनी खिचड़ी खिलाएं|

Get Your Personalised Saturn Transit Report Now Comes at FLAT 26% Discount

सिंह राशि (Leo)

सिंह राशि वालों के लिए शनिदेव आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान आप अपने विरोधियों से डटकर सामना कर पाने में सफल होंगे, गुप्त शत्रु इस समय बलवान होकर मानसिक परेशानियां देंगे, पर आपको हरा नहीं पाएंगे| स्वास्थ्य का ध्यान रखना आपके लिए अतिआवश्यक है| इस समय आपको अपनी मेहनत का भरपूर लाभ मिलेगा| नौकरी व व्यवसाय में विशेषरूप से प्रगति होने के योग हैं| धन संबंधित मामलों के निर्णय सोच-समझकर लें| लीवर, किडनी, डायबिटिक के रोग परेशान कर सकते हैं| यात्रा के योग बनेंगे और खर्च भी अधिक रहने वाले हैं|

उपाय-
मंगलवार और शनिवार के दिन हनुमान चालीसा का पाठ करें|
अमावस्या के दिन खीर का दान करें|

कन्या राशि (Virgo)

कन्या राशि वालों के लिए शनिदेव आपकी राशि से पांचवें भाव में गोचर करेंगे| जिसके चलते वह आपके व्यवसाय व यश में वृद्धि करेंगे| किसी नए बिज़नेस की शुरुआत करने जा रहें हैं, तो अच्छी तरह से विचार-विमर्श ज़रुर कर लें| इस समय नए मित्र बन सकते हैं तो कुछ पुराने दोस्तों के साथ विवाद भी उभर सकता है| शिक्षा की दृष्टि से इस गोचर के दौरान अच्छे परिणाम घटित होंगे| नौकरी में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है| माता-पिता का पूर्ण सहयोग मिलेगा, पेट से सम्बंधित परेशानियां व घर के बड़े-बुजुर्गों का स्वास्थ्य खराब हो सकता है| जो दंपति संतान सुख का इंतजार कर रहे हैं उनकी यह मुराद इस गोचर में पूरी होगी|

उपाय-
शनिवार और बुधवार के दिन शिवलिंग का शहद से अभिषेक करना श्रेयकर रहेगा|
माता का सम्मान करें और उन्हें कुछ वस्तुएं भेंट दीजिए|

तुला राशि (Libra)

तुला राशि वालों के लिए शनिदेव आपके चौथे भाव में गोचर करेंगे| मकर राशि में शनि के प्रवेश से आपकी राशि पर शनि की ढैय्या चलेगी| जिसके कारण इस गोचर के दौरान आपको मानसिक परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है, नौकरी में कार्य का दबाव अधिक रहेगा| पारिवारिक कारणों से भी व्यवसायिक स्थल पर परेशानियां आ सकती हैं| अगर आप बिज़नेस करने के बारे में सोच रहे हैं तो इस गोचर में अच्छे अवसर मिल सकते हैं| इस समय आपके विदेश यात्रा के भी योग बन सकते हैं, और आर्थिक स्थिति मजबूत हो सकती है| वर्ष के मध्य में शनि के वक्री होने से माता या भाई बहनों के साथ मतभेद हो सकता है, पेट और त्वचा संबंधी रोग परेशान कर सकते हैं|

उपाय-
मंगलवार और शनिवार के दिन सुंदरकाण्ड का पाठ करें|
शनिवार के दिन गरीबों को कंबल, चप्पल और कपड़े का दान करें|

What do your life predictions say: Brihat Horoscope Report

वृश्चिक राशि (Scorpio)

वृश्चिक राशि वालों के लिए शनिदेव तीसरे भाव में गोचर करेंगे| इस दौरान आपके पराक्रम में वृद्धि होगी, और आप अपने स्वबाहुबल से अपनी नौकरी व व्यवसाय में प्रगति करेंगे, रुके हुए कार्य पूर्ण होंगे, समाज में मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी, भाग्य का पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा| किसी काम को परिपूर्ण करने के लिए आलस का त्याग बेहद जरूरी है, मांगलिक कार्यों पर धन खर्च हो सकता है, लंबे समय से रुके हुए कार्यों में सफलता मिलेगी| अपने माता-पिता को आप किसी यात्रा पर भी ले जा सकते हैं| स्वास्थ्य अच्छा रहेगा,और शिक्षा के क्षेत्र में भी सफलता मिलेगी|

उपाय-
आठ मुखी रुद्राक्ष
धारण करें|
सरसों का तेल दान करें।

धनु राशि (Sagittarius)

धनु राशि वालों के लिए शनिदेव दूसरे भाव में गोचर करेंगे| पिछले ढाई साल की अपेक्षा अब के ढाई साल आपके लिए कुछ बेहतर साबित होंगे| आपके लिए मानसिक तनाव थोड़ा कम होने की उम्मीद रहेगी| कुछ लाभ भी होगा जिसका उपयोग आप अपने कर्ज एवं अपने रुके हुए कामों को पूरा करने के लिए कर सकते हैं| इस वर्ष कोई भी कार्य शुरु करना चाहें तो विशेष सतर्कता और मेहनत के साथ कार्य करें, तभी यह शनि आपको सफलता दिलाएगा| आपको कुछ पैसों की तंगी का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए सोच समझ कर खर्च करें| ज़मीन जायदाद से जुड़े मामलों में लाभ प्राप्त होगा| कोई फैसला लेने से पहले अच्छी तरह विचार करें, विदेश जाने का सोच रहे हैं तो इस वर्ष रूकाबटें आपको परेशान कर सकती हैं| आर्थिक क्षेत्र में पिता का सहयोग मिलेगा|

उपाय-
रोज़ाना "शनि स्तोत्र" का पाठ करें, और असहाय लोगों की मदद करें|
शनिवार को साबुत उडद किसी भिखारी को दान करें|

मकर राशि (Capricorn)

मकर राशि वालों के लिए शनिदेव आपकी राशि के स्वामी होकर आपके लग्न भाव में गोचर करेंगे| इस शनि परिवर्तन के कारण आपकी राशि पर साढ़ेसाती का दूसरा चरण प्रारम्भ होगा, व्यापार के लिए यह गोचर नए अवसर लेकर आएगा, और आर्थिक स्थिति में भी लाभ होगा, लेकिन लाभ से अधिक खर्चे बढ़ेंगे, और मानसिक तनाब भी बना रहेगा, जिस वजह से आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है| आपको डायबिटीज, लीवर या अस्थमा जैसी बीमारियां परेशान कर सकती हैं| यदि आप पार्टनरशिप में बिज़नेस कर रहे हैं, तो बिजनेस पार्टनर से थोड़ा सावधान रहें| विदेश में स्थाई रूप से जाकर रहने की इच्छा रखने वालों के लिए समय उत्तम है| प्रेम जीवन में भी परेशानी हो सकती हैं|

उपाय-
हनुमान जी के मंदिर में बैठकर रामरक्षास्त्रोत्र का पाठ करें,
मंगलवार और शनिवार के दिन गुड़ व चने गरीबों और मजदूरों में बांटें|
तेल का दीपक पीपल के वृक्ष के नीचे जलाएं|

कुंभ राशि (Aquarius)

कुम्भ राशि वालों के लिए शनिदेव आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर करेंगे| इस परिवर्तन के कारण आपकी साढ़ेसाती की प्रथम ढैय्या शुरू हो जाएगी| व्यवसाय में किसी बड़े निवेश के लिए सोच समझ कर ही आगे बढ़ें| नौकरी को बदलने के लिए साल के मध्य का समय बेहतर नही है| इस समय अवधि में व्यर्थ की भागदौड़ और वाद विवाद उभर सकते हैं, किसी कानूनी वाद-विवाद में भी उलझ सकते हैं| नये कार्य को करने से पहले किसी सीनियर की सलाह अवश्य लें| पार्टनर को पूर्णरूप से समय नहीं दे पाने के कारण गलतफहमियां बढ़ सकती हैं, वैवाहिक कार्यों में शनि का सहयोग मिलेगा| घुटनों के रोग तथा आँखों से संबंधित रोग परेशान कर सकते हैं, और चोट इत्यादि लगने का भय रहेगा|

उपाय-
सात मुखी रुद्राक्ष
धारण करें, और काले रंग की गाय की सेवा करें|
शिव चालिसा का पाठ 41 दिनों तक लगातार करें|
मिट्टी के बर्तन में सरसों के तेल का दान करें|

मीन राशि (Pisces)

मीन राशि वालों के लिए शनिदेव आपकी राशि से ग्याहरवें भाव मकर राशि में गोचर करेंगे| इस गोचर के दौरान आपकी निर्णय लेने की क्षमता बढ़ेगी| कार्यस्थल पर सबका सहयोग मिलेगा| आय के स्त्रोत बढ़ेंगे| यदि नौकरी बदलना चाहते हैं तो यह उपयुक्त समय है| व्यापार से जुड़े बहुत से नए अवसर आएँगे और आपको आगे बढ़ने का मौका मिलेगा| पैतृक संपत्ति को लेकर अपनों के साथ संबंध तनावपूर्ण हो सकते हैं| आपका वैवाहिक जीवन इस वर्ष खुशहाल बना रहेगा, और किसी नए साथी के जीवन में आने से आपके जीवन में ख़ुशियों की बहार आ सकती है| अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें लापरवाही परेशानी पैदा कर सकती है|

उपाय-
विष्णु भगवान का पूजन
करें|
हर रोज ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्वराय नम:’ का 108 बार जाप करें|
अमावस्या के दिन खीर का दान करें|

आपकी कुंडली के अनुसार ग्रहों की दशा क्या कहती है, जानें फ्यूचर पॉइंट ज्योतिषाचार्यों से। अभी परामर्श करें।

Previous
Saturn Transit in Capricorn: Impact on 12 Zodiac Signs

Next
जानिए, क्यों इतने खास होते हैं जनवरी में पैदा होने वाले लोग...