नौकरी, उपाय और ज्योतिष

By: Future Point | 04-May-2019
Views : 7064
नौकरी, उपाय और ज्योतिष

हम सभी यह जानते है कि किसी व्यक्ति के करियर के विकास के लिए कड़ी मेहनत और धैर्य के साथ प्रतिस्पर्धा करने से बेहतर कुछ नहीं है। प्रत्येक कामकाजी व्यक्ति की सबसे महत्वपूर्ण चिंताओं में से एक है अपने करियर में सफलता हासिल करना और विकास की सीढ़ी पर चढ़ना। आज दुनिया बहुत प्रतिस्पर्धात्मक है और नौकरियां दिन-ब-दिन कठिन होती जा रही हैं। सभी क्षेत्रों में पदोन्नति हो रही है, लेकिन ऐसा नहीं है कि हर किसी को अपने करियर में पदोन्नति मिलती है। इसलिए आखिरकार हम सभी सफलता के लिए किसी न किसी उपाय की तलाश में हैं जो हमारे जीवन में समृद्धि ला सकता है और धन की समस्याओं को दूर कर सकता है। नौकरी में पदोन्नति, नौकरी की सुरक्षा आदि जैसी समस्याएं आम हो गई है। हम इन्हें यह कहकर अनदेखा नहीं कर सकते कि समस्याएं हर जगह है। आज के समय में लोग कई संभावनाओं से युक्त हैं, लेकिन फिर भी वे अपनी नौकरी को लेकर निश्चित नहीं हैं।

नौकरी कम और उम्मीदवार अधिक होने से एक दूसरे की नौकरी छीनने के लिए तैयार बैठे है, दुनिया भर में नौकरी की कोई सुरक्षा नहीं है। प्रत्येक व्यक्ति का सपना एक सुरक्षित भविष्य है जहां वे अपने परिवार के सदस्यों के लिए एक अच्छा जीवन का खर्च उठा सकते हैं। हम सभी को सही अनुकूल क्षण की प्रतीक्षा करनी चाहिए क्योंकि हमें इस तथ्य को समझना चाहिए कि बादल भी समय आने पर ही बरसते है। जब सही समय आएगा तो भाग्य हमारा साथ देगा यदि हम वास्तव में इसके लायक हैं। प्रत्येक व्यक्ति जीवन में परेशानियां आने पर उपाय की तलाश करता है। इन्हीं में से कुछ उपाय लाल किताब के उपाय है।

नौकरी के क्षेत्र में आने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए शनि ग्रह को प्रसन्न किया जाता है। शनि ग्रह को प्रसन्न कर करियर के विकास की बाधाओं को दूर करने मदद मिलती है। भगवान शनि को प्रसन्न करने का सबसे अच्छा तरीका है कि प्रतिदिन नियमित रूप से कौवे को भोजन दें। प्रत्येक व्यक्ति को अपना जीवन लक्ष्य प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होती है।

ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार प्रथम भाव, दूसरे, छ्ठे और सातवें भाव को नौकरी का मुख्य भाव माना जाता है। दशम भाव कर्म भाव है और एकादश भाव कर्म के प्रतिफल का भाव है। हिन्दु धर्म के अनुसार कुंडली का दूसरा भाव कुबेर का भाव है। इसीलिए यह धन का भाव है। स्वसंचित धन के लिए इस भाव का विचार किया जाता है। त्रयोदशी तिथि के दिन प्रात: स्नान करना नौकरी और आजीविका के लिए शुभ माना जाता है। स्नान के बाद व्यक्ति को पीले रंग के कपड़े पहनना होता है और फिर उन्हें पूर्व की ओर एक चटाई पर बैठना होगा और उपाय करने वाले व्यक्ति के सामने एक पीला कपड़ा बिछाना होगा। इस दिन पीले वस्त्र धारण करें।

अपने ईष्ट देव का पूजन करें। सरसों के तेल का दीपक जलायें, दो लौंग और कपूर जलाकर आरती करें। इसके बाद भगवान से प्रार्थना करें कि आपकी समस्याओं का समाधान हो जाए। साक्षात्कार में सफलता प्राप्ति के लिए शिवलिंग का जलाभिषेक करें और पांच बत्ती का दीपक जलाएं। महालक्ष्मी यंत्र और काले हकीक का पूजन करें। जो भी उपाय किए जाते हैं उन्हें पूरे विश्वास और समर्पण के साथ करें। अच्छे कैरियर के लिए कड़ी मेहनत करना आवश्यक है।

  • सोमवार को चावल लेकर उसे एक सफेद कपड़े से ढककर देवी महाकाली को अर्पित करें।
  • नौकरी की प्राप्ति में देरी को दूर करने के लिए माता महाकाली का पूजन करें, देवी महाकाली नकारात्मक ऊर्जा का नाश करती है।
  • पक्षियों को दाना दान करना देवल हिन्दू धर्म का ही भाग नहीं है, बल्कि दुनिया भर में इस्लाम धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म, यहूदी धर्म, ईसाई धर्म सहित सभी धर्मों के धर्मग्रंथों में दान करने के महत्व पर प्रकाश डाला गया है। जरूरतमंदों की मदद करने से जीवन में शुभता आती है। निर्दोष जीव भगवान को प्रिय हैं, पक्षी उन निर्दोष प्राणियों में से हैं। इन्हें दाना खिलाना, इनसे आशीर्वाद प्राप्त करने का एक सरल तरीका है और यह जल्द ही नौकरी पाने का एक सफल उपाय है।
  • भगवान हनुमान की पूजा करना नौकरी पाने का एक सरल तरीका है। भगवान हनुमान अपने भक्तों की सभी इच्छाएं पूरा करते हैं। क्योंकि इन्हें ज्ञान और बेहतर एकाग्रता देने के लिए जाना जाता है। प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़ने से व्यक्ति की एकाग्रता बढ़ती है। इनकी पूजा करने की सलाह छात्रों को भी दी जाती है। घर में एक उड़ते हुए हनुमान की प्रतिमा रखें और रोज उनकी पूजा-अर्चना करें। प्रतिदिन "ऊँ शं शनैश्चराय नम:" मंत्र का 108 बार जाप करें। इससे शनि देव जल्द प्रसन्न होते है, और व्यक्ति को जल्द नौकरी मिलने की संभावनाएं बनती है।
  • एक कहावत है कि किसी किसी महत्वपूर्ण कार्य के लिए जाते समय दही में चीनी मिलाकर खाकर जाएं।
  • बाहर जाते समय दाहिना पैर सबसे पहले बाहर बढ़ाएं।
  • साक्षात्कार के लिए बाहर जाते समय कुत्तों या गायों को भोजन दें।
  • गाय को गुड़ और चना अर्पित करें।
  • गाय को गुड़ के साथ एक चपाती देने से भी जल्द ही नौकरी मिल सकती है।

ज्योतिष आचार्य कुलदीप कुमार

कुंडली विशेषज्ञ और प्रश्न शास्त्री

ज्योतिष आचार्य कुलदीप कुमार पिछले 10 वर्षों से सटीक ज्योतिषीय फलादेश और घटना काल निर्धारण करने में महारत रखते है. कई प्रसिद्ध वेबसाईटस के लिए कुलदीप ज्योतिष परामर्श कार्य कर चुके हैं। आचार्य कुलदीप एक बेहतरीन लेखक  भी हैं। इनके लिखे लेख कई बड़ी वेबसाईट, ई पत्रिकाओं और विश्व की सबसे चर्चित ज्योतिषीय पत्रिका फ्यूचर समाचार में शोधारित लेख एवं भविष्यकथन के कॉलम नियमित रुप से प्रकाशित होते रहते हैं। जीवन की स्थिति, आय, करियर, नौकरी, प्रेम जीवन, वैवाहिक जीवन, व्यापार, विदेशी यात्रा, ऋण और शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य, धन, बच्चे, शिक्षा, विवाह, कानूनी विवाद, धार्मिक मान्यताओं और सर्जरी सहित जीवन के विभिन्न पहलुओं को फलादेश के माध्यम से हल करने में विशेषज्ञता रखते हैं।


Previous
परीक्षा में टॉप करने के लिए अपनाएं ये आसान वास्तु टिप्स

Next
रत्न कब शुभ और कब अशुभ