नौकरी में बदलाव होगा या नहीं

By: Future Point | 19-Jun-2018
Views : 13280
नौकरी में बदलाव होगा या नहीं

प्रश्न विचार

  • प्रश्न शास्त्र कहता हैं कि यदि उदित लग्न बली हो तो व्यक्ति की चाहतें पूरी होती हैं। एकादश भाव भी बली हों तो कामनाओं के जल्द पूरा होने के योग बनते हैं। अब हम यहां नौकरी में बदलाव की कार्यसिद्धि की बात कर रहें हैं। इस स्थिति में चर लग्न और नवांश भी चर हों तो सोचा हुआ कार्य पूरा होने के संकेत मिलते हैं। लग्नेश अस्त हों तो व्यक्ति की नौकरी में परिवर्तन प्रयास से होता है।
  • लग्नेश या दशमेश नीच के ग्रहों से संबंधित होने पर नौकरी छूटने के योग बनते हैं। दशमेश तीसरे, पंचम या आठवें भाव में होने पर नौकरी जल्द लग सकती है।
  • दशमेश और लग्नेश की युति कार्यसिद्धि देती है। दशमेश और लग्नेश का शुभ होना, कार्य शीघ्र पूरा होता है। ग्रह वक्री हों तो नौकरी छोड़ी हैं और मार्गी होने पर फिर से नौकरी लग जाती है।
  • चर लग्न हों और अशुभ ग्रहों से दृष्ट हों तो जातक नौकरी में असंतुष्ट रहता है। इसके विपरीत स्थिर लग्न हों और पाप ग्रहों द्वारा देखा जाए तो नौकरी में जल्द बदलाव होता है।
  • प्रश्न कुंडली के अनुसार जब कुंडली में चंद्र बली अवस्था में हों तो नौकरी के बदलाव में व्यक्ति को मानसिक संतुष्टि की प्राप्ति होती है। दूसरा भाव और दूसरे भाव का स्वामी, आय भाव और आयेश का बली हों तो व्यक्ति को मनपसंद नौकरी मिलती है।
  • चतुर्थ भाव में शुभ ग्रह होने पर व्यक्ति को नौकरी में संतोष मिलता है। ऐसे में नौकरी में बदलाव संभव नहीं होता। यदि चतुर्थ भाव में अशुभ ग्रह स्थित हों तो व्यक्ति को अपनी नौकरी से संतुष्टी नहीं मिलेगी और वह स्थान परिवर्तन की चाह रखना चाहेगा।
  • चतुर्थ भाव से आमदनी का आंकलन भी करते हैं इसलिए इसमे शुभ ग्रह स्थित हों तो व्यक्ति को अच्छा लाभ भी प्राप्त होता है।

Previous
The Most Powerful Lal Kitab Remedy for Money

Next
Today Horoscope