कुंडली मिलान (Kundli Milan) - एक स्वस्थ एवं खुशहाल वैवाहिक जीवन

By: Future Point | 19-Aug-2021
Views : 5527
कुंडली मिलान (Kundli Milan) - एक स्वस्थ एवं खुशहाल वैवाहिक जीवन

मानव जीवन को सही मायने में जीने लायक बनाने के लिए बहुत सी चीज़ें ज़रूरी हैं और जिनके बिना जीवन की कल्पना करना भी मुश्किल है। ऐसी ही एक अत्यंत महत्वपूर्ण पहलू है जीवनसाथी का चयन और अपने जीवन साथी के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध।

ना केवल जीवन साथी बल्कि परिवार के सदस्यों, दोस्तों, सहकर्मियों और पड़ोसियों के बीच घनिष्ठ संबंध एक स्वस्थ जीवन शैली में आवश्यक भूमिका निभाते हैं।

भारत में पति और पत्नी के सम्बन्ध को जन्मो- जन्मो का साथ माना गया है और यही कारण है जो पारंपरिक शादियों में, दूल्हा और दुल्हन के बीच कुंडली मिलान को बहुत महत्व दिया जाता हैI 
 
कुंडली मिलान को एक स्वस्थ वैवाहिक जीवन की सुदृढ़ नींव के रूप में देखा जाता है, जो जीवन में सुख और उल्लास सुनिश्चित करती है। मंगनी मुख्य रूप से लड़के और लड़की की कुंडली मिलान करके की जाती है।

दो कुंडलियों के बीच ग्रहों का सामंजस्य यह सुनिश्चित करेगा कि क्या वे एक अच्छे जोड़े साबित हो सकते हैं और एक साथ खुशी से रह सकते हैं। इसके अलावा, पवित्र विवाह की निरंतरता और पति और पत्नी का आपसी सामंजस्य बहुत हद तक कुंडली मिलान पर निर्भर करता है जो एक पारम्परिक विवाह में एक निर्धारक कारक होगा।

फ्यूचर पॉइंट पर इंडिया के बेस्ट एसट्रोलॉजर्स की गाइडेंस आपकी मदद कर सकती है। परामर्श करने के लिये लिंक पर क्लिक करें 

पारंपरिक लोग मानते हैं कि कुंडली मिलान जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव को दूर कर सकता है 

प्राचीन ऋषियों ने ज्योतिष के माध्यम से कुंडली मिलान द्वारा वर और वधु के बीच अनुकूलन क्षमता का आकलन करने के लिए एक विधि विकसित की। कुंडली मिलान को अष्टकूट मिलान के नाम से भी जाना जाता है।

अष्टकूट मिलन या केवल गुण मिलान नक्षत्र (चंद्र नक्षत्र) पर आधारित है और इस का उपयोग कर के कुंडली मिलान किया जाता है। इस पद्धति के अनुसार, कुंडली को अंक दिए जाते हैं जो अलग अलग कारकों को दर्शाती है।

आरम्भ में दशकूट मिलान प्रणाली का भी प्रचलन था जो अब घट कर अष्टकूट तक सीमित हो गयी है, समय की मांग और जीवन स्तर की विभिन्नता ने मिलान पद्धति में यह बदलाव लाया है

अधिक अंक, वैवाहिक सफलता की अधिक संभावना। हालाँकि, यह विधि केवल विवाह तक सीमित नहीं है और मामूली बदलाव के साथ इसके द्वारा लड़के और लड़की के बीच कितना तारतम्य रहेगा का भी निश्चय किया जा सकता है।

अष्ट-कूट कुंडली प्रणाली और मिलान में, अधिकतम अंकों की संख्या 36 है। इसलिए यदि जोड़े को दिए गए अंक 31-36 के बीच कहीं हैं, तो उनकी बीच अच्छी संगतता मानी जाती है। इसी तरह 21 और 30 के बीच का स्कोर बहुत अच्छा है, अगर 17 और 20 के बीच अंक मिले तो मिलान मध्यम है, और 0 और 16 के बीच मिले अंक एक बेमेल विवाह दर्शाते हैं।

यह भी पढ़ें: विवाह रेखा बताती है आपकी लव मैरेज होगी या अरेंज

राशिफल मिलान पर भरोसा करें और अपना जीवन बदलने का प्रयास करें

ज्योतिष एक विज्ञान है जो किसी के जीवन में सभी प्रकार के निर्णय लेने के लिए दिशानिर्देश प्रदान करता है क्योंकि हम सभी ग्रहों और सितारों से जुड़े हुए हैं।

फिर भी, कुछ भी सौ प्रतिशत गारंटी के साथ नहीं बताया जा सकता है। सही गणना, ज्ञान, सामंजस्य और सबसे बढ़कर, व्यक्तिगत अनुकूलन क्षमता और विवेक के साथ, कोई भी रिश्ता सफल बनाया जा सकता है।

आजकल ऑनलाइन वैदिक मिलान बहुत अधिक प्रचलन में है जो मोटे तौर पर किया गया कुंडली मिलान है, यह पूरी तरह से सॉफ्टवेयर गणनाओं पर आधारित है जो किसी भी तरह से एक गहन अध्यन कर पाने में सक्षम नहीं हैI  

एक उपयोगी कुंडली मिलन के लिए अनुभवी ज्योतिषी की आवशयकता है जो सभी तथ्यों का गहन अध्यन कर कुंडलियों का सही सर्वेक्षण कर सके एक मोटा सर्वेक्षण उत्तम परिणाम नहीं दे सकता।

एक सफल और सुखी वैवाहिक जीवन के लिए, कुंडली मिलान को महत्त्व दिया जाता है, लेकिन अनुभवी और जानकार वैदिक ज्योतिषी की मदद के बिना यह कार्य संभव नहीं है।

ऑनलाइन लव मैच, शादी की योजना बनाने का पहला कदम है। माना जाता है कि जोड़ियां स्वर्ग में तय होती है, और यह कहावत सच होती है जब दो बिलकुल अलग-अलग लोग हमेशा के लिए एक साथ खुशी से रहते हैं। इसलिए, शादी के लिए कुंडली मिलान करना हिंदू विवाह का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है।

प्राचीन अष्टकूट पद्धति पर आधारित कुंडली मिलान,  दो लोगों की अनुकूलता को निर्धारित करने का एक माध्यम है। गन मिलान के लिए जन्म तिथि, नाम और स्थान का प्रयोग किया जाता है।

अपनी कुंडली में राजयोगों की जानकारी पाएं बृहत कुंडली रिपोर्ट में

किसी भी शादी के बारे में सोचने से पहले कुंडली मिलान जरूरी

हिंदू परंपरा में शादी से पहले मैच मेकिंग एक जरूरी कार्यविधि है। यह एक जोड़े के जीवन में एक खुशहाल और सफल विवाह का आकलन करने के लिए ग्रहो और नक्षत्रो का प्रयोग करने की एक पारम्परिक विधि है।

आमतौर पर कुंडली मिलान को ऑनलाइन मैच मेकिंग के रूप में जाना जाता है, शादी के लिए जन्म कुंडली मिलान या गुण मिलान कई कारकों पर आधारित होता है जो अंकों को निर्धारित करती है, इन्हें गुण भी कहा जाता है।

वैदिक ज्योतिष में कुंडली मिलान या कुंडली संयोग की अवधारणा मौलिक है। विवाह दो विशिष्ट व्यक्तित्वों के बीच एक पवित्र बंधन है जो उन्हें एक लंबे, सुदृढ़ और स्वस्थ वैवाहिक जीवन के लिए साथ लाता है।

विवाह के लिए अनेक चीज़ों का ध्यान रखा जाता है जैसे राशिफल मिलान, वर एवं वधु के बीच अनुकूलता का आकलन, उनकी  जन्म के समय के ग्रहो की स्थिति आदि। शादी के दौरान इन सभी पहलुओं का सूक्ष्मता से विचार कर के ही विवाह सुनिश्चित किया जाता है।

मांगलिक दोष और उसका निवारण भी कुंडली मिलान प्रक्रिया का एक अहम् हिस्सा है। मांगलिक दोष एक सुखी वैवाहिक जीवन को निगल जाने की क्षमता रखता है और इसीलिए किसी भी विवाह को आगे बढ़ाने से पहले इस दोष का विचार अत्यंत आवश्यक हैI कभी कभी मांगलिक दोष दो या अधिक विवाह का भी संकेत देता है जो किसिस भी मायने में अनदेखा नहीं किया जा सकता है। 

कुंडली मिलान के द्वारा एक लम्बा, खुशहाल और आनंदमयी रिश्ते की नींव रखी जा सकती है जो किसी के भी जीवन की मूलभूत आवश्यकता है। कुंडली के द्वारा आयु निर्धारण भी किया जा सकता है।

आमतौर पर यह अनुभव किया गया है की सब कुछ ठीक होने के बावजूद भी कई बार जीवन साथी एक दूसरे का साथ छोड़ जाते है जो अत्यंत ही दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति मानी गयी है।

कुंडली के माध्यम से आयु एवं अनदेखी दुर्घटना का भी अंदाजा लगाया जा सकता है जो किसी को इस दुर्भाग्य और अकेलेपन की स्थिति से बचा सकता है।

अनुभवी ज्योतिषियों के परामर्श के लिए यहाँ क्लिक करें 

कुंडली मिलान के आठ पहलुओं पर विचार

जन्म तिथि के आधार पर, आठ वर्णों की अनुकूलता ही विवाह के भाग्य का निर्धारण करती है। ये पहलू हैं:


वर्ण - यहाँ मनोवैज्ञानिक अनुकूलता की जाँच की जाती है।
वश्य - यह पहलू यह निर्धारित करने में मदद करता है कि कौन सा साथी अधिक प्रभावशाली, अग्रणी और अन्य को नियंत्रित करेगा।
तारा - तारा या नवविवाहितों के जन्म के सितारे की तुलना स्वास्थ्य के गुणांक और रिश्ते के अनुपात को निर्धारित करने के लिए की जाती है।
योनि - योनि का उपयोग करके यौन अनुकूलता की जाँच की जाती है ।
ग्रह मैत्री - ग्रह मैत्री, पति-पत्नी के बीच बौद्धिक, मानसिक और आध्यात्मिक संबंधों को निर्धारित करती है।
गण - यह पहलू व्यक्तित्व, व्यवहार और दृष्टिकोण के बीच मेल को निर्धारित करने में मदद करता है।
भकूट - यह नवविवाहितों के वित्त का विचार करती है। यह युगल के समृद्ध जीवन के बारे में भी बताता है।
नाडी: अंतिम पहलू में अधिकतम अंक होते हैं, इसलिए यह सबसे महत्वपूर्ण है। यह शादी के बाद पूरे परिवार के स्वास्थ्य और उनके आने वाली सन्तितयों के बारे में बताता है। 

लव और अरेंज मैरिज दोनों के लिए जरूरी है कुंडली मिलान

जब लोग प्रेम विवाह के लिए Online Marriage Matching की बात करते हैं, तो ज्योतिषियों को यह समझने की आवश्यकता है कि प्रेम ज्योतिष में उपयुक्त अनुकूलता न होने पर भी प्रेमी विवाह को नहीं नकारते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे अलग रहने के बजाये एक साथ रह कर जीवन का डट कर सामना करने में विश्वास करते हैं। ऐसे में उन्हें ज्योतिष उपायों का सहारा लेना पड़ता हैी।  

जानिए अपने जीवन में खुशहाली पाने के सटीक उपाय 

यदि कुंडली मिलान के द्वारा विवाह इंगित न होने पर भी विवाह को टालना मुश्किल हो तो जोड़े को चाहिए वह सुझाये गए उपायों का पालन करे और जीवन में मधुरता लाने का प्रयास करे ।  

राशि मिलान से अपने लिए सही राशिफल खोजें

एक कहावत है जो कहती है, "शादी स्वर्ग में होती है"। तो अगर हम देखते हैं कि कुछ लोगों को प्यार हो जाता है, भले ही उनकी मैच बनाने वाली कुंडली संयोग से परेशानी में न हो, फिर भी ऐसी शादियां सुचारू रूप से चलती हैं।

यह मुख्य बिंदु है जहां यह कहा जा सकता है कि ऑनलाइन राशिफल मिलान सॉफ्टवेयर द्वारा की गयी गणनाओं को हमेशा सही नहीं ठहराया जा सकता है। लेकिन ऐसे मामलों में, एक अनुभवी वैदिक ज्योतिषी वैदिक बाधाओं की मदद से विशिष्ट वैदिक समाधान सुझाएगा। यह वैदिक सुझाव प्रेम विवाह को सामंजस्यपूर्ण बनाने के लिए बुरे ग्रह के प्रभाव को दूर कर सुखी जीवन सुनिश्चित करेगा।

कुंडली मिलान कई शताब्दियों से होता आ रहा है और इसने लोगों को कभी निराश नहीं किया है

एक समय था जब ज्योतिषी अपने शोध में सुदृढ़ थे। कुंडली मिलान नहीं होने पर वे सीधे ही विवाहों को अस्वीकार कर दिया करते थे। एक अरेंज मैरिज में यह शर्त फिर भी स्वीकार्य है। लेकिन आज का युवा वर्ग अपने जीवन साथी का चुनाव अपने अनुसार करना चाहता है, उसकी अपनी मान्यताएं और प्राथमिकताएं हैं I

वह अपने जीवन का सबसे महत्वपूर्ण निर्णय बिना किसी दबाव के स्वयं लेना चाहता है और यही वजह है की आज के इस नए युग में विभिन्न सोशल मीडिया साइटों की बाढ सी आयी हुई है। इन साइटों के माध्यम से युवा अपने प्रभावी जीवनसाथी को ऑनलाइन खोजना पसंद करते हैं लेकिन फिर भी "मुफ्त ऑनलाइन वैदिक गेम या अन्य वैदिक गेम" चुनते हैं। यह ग्रहों के अनुसार मैच खोजने में मदद करता है। यहीं हम भारतीय ज्योतिष में विश्वास को समझ सकते हैं।

कई मामलों में, मुफ्त ऑनलाइन मैचिंग सहमति नहीं देता है। इसलिए जोड़े को शादी के लिए ज्योतिषियों की सहमति नहीं मिलती है। लेकिन हर समस्या का एक समाधान होता है, जो खोजा जा सकता है। आइये वैदिक ज्योतिष की सहायता से अपने जीवन को और भी सुन्दर बनाएं और वैदिक उपायों की सहायता से ग्रह के हानिकारक प्रभावों को कम करें।


Previous
Raksha Bandhan and its Astrological Significance

Next
How Mars placed in a particular sign affects your personality


Recent Post

Popular Post

free-horoscope

Categories

Archives




Submit