कालसर्प दोष से छुटकारा पाने के लिए लाल किताब के अचूक उपाय | Future Point

कालसर्प दोष से छुटकारा पाने के लिए लाल किताब के अचूक उपाय

By: Future Point | 14-Sep-2018
Views : 18436
कालसर्प दोष से छुटकारा पाने के लिए लाल किताब के अचूक उपाय

जब कुंडली में लग्‍न भाव में राहु बैठा हो और सातवें घर में केतु विराजमान हो एवं बाकी सभी ग्रह राहु और केतु के एक और स्थित हों तो ऐसी स्थिति में उस जातक की जन्‍मकुंडली में कालसर्प दोष बनता है।

ज्‍योतिषशास्‍त्र के अनुसार कालसर्प दोष से मुक्‍ति पाने के अनेक चमत्‍कारिक उपाय मौजूद हैं। कालसर्प दोष के प्रभाव से मुक्‍ति पाने के लिए लाल किताब के उपाय भी किए जा सकते हैं।

लाल किताब के उपाय

हज़ारों साल पहले भगवान शिव के परम भक्‍त महाज्ञानी रावण ने लाल किताब की रचना की थी। इस लाल किताब में मनुष्‍य के जीवन को सुखमय और समृद्ध बनाने के सारे उपाय मौजूद हैं। लाल किताब में कालसर्प दोष से मुक्‍ति पाने के उपाय भी उपलब्‍ध हैं।


तो चलिए जानते हैं कि किस तरह लाल किताब के उपायों से कालसर्प दोष से मुक्‍ति पाई जा सकती है।

कालसर्प 12 प्रकार के होते हैं और इनका अलग-अलग प्रभाव होता है। इसके प्रकार के अनुसार आप लाल किताब के उपाय कर सकते हैं।

अनंत कालसर्प योग

जिस जातक की कुंडली में ये योग होता है उसे शारीरिक और मानसिक कष्‍ट झेलने पड़ते हैं। वह सरकारी और कानूनी मसलों में फंसा रहता है। इस योग के प्रभाव से व्‍यक्‍ति साहसी, निडर और स्‍वतंत्र एवं खुले विचारों वाला स्‍वाभिमानी व्‍यक्‍ति होता है। आपको इस दोष से मुक्‍ति पाने के लिए अपने पास ठोस चांदी की गोली रखनी चा‍हिए।

कुलिक कालसर्प योग

ये कालसर्प योग जातक को आर्थिक पीड़ा देता है यानि की इस योग की वजह से जीवन में पैसों की तंगी आ जाती है। पारिवारिक जीवन में भी कलह और झगड़े रहते हैं। समाज में भी मान-सम्‍मान घटता है। इस दोष के निवारण हेतु दो रंग का कंबल दान करें।

वासुकि कालसर्प योग

कालसर्प दोष के इस प्रकार से ग्रस्‍त व्‍यक्‍ति को अपने जीवन में अत्‍यंत संघर्ष करना पड़ता है और नौकरी एवं व्‍यापार में भी मुश्किलें बनी रहती हैं। दोस्‍तों और रिश्‍तेदारों से धोखा मिलता है। आपको चने की दाल नदी या तालाब में प्रवाहित करने से लाभ होगा। स्‍वर्ण के आभूषण पहनें।

शंखपाल कालसर्प योग

इस योग से पीडित जातक को आर्थिक तंगी रहती है। मानसिक तनाव भी परेशान करता है। मां एवं पैतृक संपत्ति के कारण कष्‍ट होता है। चांदी की डिब्‍बी में शहद भरकर घर के बाहर कहीं जमीन में गाड़ दें।

पद्म कालसर्प योग

इस योग के कारण जातक के सम्‍मान में कमी आती है। यौन रोग के कारण व्‍यक्‍ति को संतान सुख नहीं मिल पाता है। शिक्षा के क्षेत्र में भी बाधा आती है और धन का लाभ नहीं मिल पाता है। ये लोग वृद्धावस्‍था में सन्‍यास ले सकते हैं। अपने घर में चांदी का ठोस हाथी रखने से आपको इस दोष से मुक्‍ति मिल सकती है।

महापद्म कालसर्प योग

इस योग में जातक को अपने मामा की ओर से कष्‍ट मिलता है। ये लोग निराशा और हताशा की वजह से व्‍यस्‍न जैसे कार्यों के प्रति आकर्षित हो जाते हैं। इन्‍हें शारीरिक कष्‍ट भी झेलना पड़ता है। इस दोष से मुक्‍ति पाने के लिए आपको अपने घर में कुत्ता पालना चाहिए। बहन की सेवा करने से भी लाभ होगा।

तक्षक कालसर्प योग

इस योग के प्रभाव से वैवाहिक जीवन में अशांति रहती है। व्‍यापार में भी नुकसान होता है जिसकी वजह से मानसिक पीड़ा उठानी पड़ती है। आपको लाल रंग की गोली हमेशा अपने पास रखनी चाहिए। इसके अलावा चांदी की डिब्‍बी में नदी का जल भरकर उसमें चांदी का एक टुकड़ा डालकर अपने घर में रखें।

कर्कोटक कालसर्प योग

अगर कुंडली में ये दोष हो तो उस व्‍यक्‍ति की आयु कम होती है और उसकी अकाल मृत्‍यु भी हो सकती है। आपके लिए जन्‍म से हर आठवां महीना कष्‍टकारी होता है। अपने जन्‍मदिन पर नारियल नदी में प्रवाहित करें।

शंखचूड़ कालसर्प योग

ये जातक अपने जीवन में सुख प्राप्‍त नहीं कर पाते हैं। पिता का सुख भी नहीं मिल पाता है। व्‍यापार में भी हानि होती है। चने की दाल बहते जल में बहा दें।

घातक कालसर्प योग

इस योग से पीडित जातक का पारिवारिक जीवन कलह और अशांति से ग्रस्‍त रहता है। नौकरी और करियर में भी मुश्किलें आती हैं। आपको पीतल के बर्तन में नदी या तालाब का जल भरकर घर के किसी अंधेरे कोने में रख देना चाहिए।

विषधर कालसर्प योग

संतान का कष्‍ट इस योग के कारण झेलना पड़ता है। इनके नेत्र और ह्रदय में कोई विकार होता है। इनकी स्‍मरण शक्‍ति भी अच्‍छी नहीं होती है। समाज में मान-सम्‍मान कम होता है। इस दोष से छुटकारा पाने के लिए 23 दिनों तक किसी मंदिर में मूली का दान करें।

शेषनाग कालसर्प योग

इस योग के प्रभाव में जातक के कई शत्रु बन जाते हैं जो इनके खिलाफ हमेशा षड्यंत्र रचते रहते हैं। ये ज्‍यादातर कानूनी मसलों में उलझे रहते हैं। मानसिक शांति रहती है और मान प्रतिष्‍ठा की हानि उठानी पड़ती है। स्‍वर्ण धारण करने से लाभ होगा।

अगर आपकी जन्‍मकुंडली में उपरोक्‍त में से कोई भी दोष है तो उसे लाल किताब के उपायों से दूर किया जा सकता है।


Previous
Time duration for effect of rudraksha beads

Next
Know your Health Horoscope for Fitness