जानिए, नौ मुखी रुद्राक्ष का महत्व, लाभ एवं धारण करने का मंत्र। | Future Point

जानिए, नौ मुखी रुद्राक्ष का महत्व, लाभ एवं धारण करने का मंत्र।

By: Future Point | 21-Oct-2019
Views : 7284जानिए, नौ मुखी रुद्राक्ष का महत्व, लाभ एवं धारण करने का मंत्र।

Nine Faced Rudraksha को नौ देवियों का स्वरूप कहा जाता है, यह रुद्राक्ष महाशक्ति के नौ रूपों का प्रतीक है, अतः जो लोग नौमुखी रुद्राक्ष धारण करते हैं, वे सभी सुख-सुविधाएं प्राप्त करते हैं। इन लोगों को समाज में मान-सम्मान प्राप्त होता है, समाज में प्रतिष्ठा की चाह रखने वाले लोगों को नौ मुखी रुद्राक्ष पहनना चाहिए। नौ मुखी रुद्राक्ष का मंत्र है- ऊँ ह्रीं हुं नम:। इस मंत्र के साथ यह रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। केतु ग्रह की प्रतिकूलता होने पर भी इसे धारण करना चाहिए। ज्वर, नेत्र, उदर, फोड़े, फुंसी आदि रोगों में इसे धारण करने से अनुकूल लाभ मिलता है। इसे धारण करने स केतु जनित दोष कम होते हैं। यह लहसुनिया से अधिक प्रभावकारी है। ऐश्वर्य, धन-धान्य, खुशहाली को प्रदान करता है। धर्म-कर्म, अध्यात्म में रुचि बढ़ाता है। मकर एवं कुंभ राशि वालों को इसे धारण करना चाहिए।

Nau Mukhi Rudraksha का महत्व -

मां दुर्गा के नौ रूपों का स्वरुप हैं ! नौ मुखी रुद्राक्ष बहुत कठिनता व मुश्किलों से प्राप्त होता हैं ! नौ मुखी रुद्राक्ष धारण करने से माँ श्री दुर्गा और भैरव बाबा की विशेष कृपा प्राप्त होती है ! इसके साथ साथ नवग्रहों तथा नवनाथों एवं नवधा भक्ति से परिपूर्ण माना गया है, अतः नौ मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से जातक अपने समस्त शत्रुओं को परास्त कर विजय प्राप्त करता है तथा वह जातक सहनशीलता, वीरता, साहस तथा शक्ति की वृद्धि होने साथ साथ उसके जीवन में प्रसिद्धि, सम्मान एवं यश की कमी नही रहती हैं ! धारण करने वाले जातक की कुंडली में विदवान आकस्मिक दुर्घटना का भय, अकाल मृत्यु योग़, कालसर्प योग, शकट योग आदि का प्रभाव धीरे धीरे समाप्त होने लगता हैं ! नौ मुखी रुद्राक्ष शक्ति वर्धक रुद्राक्ष माना जाता हैं !


Buy Now Nine Faced Rudraksha

Nine Mukhi Rudraksha धारण करने के लाभ

  • इसको धारण करने से धन सम्पत्ति, मान सम्मान, यश, कीर्ति और सभी प्रकार के सुखों की वृद्धि होती है।
  • इस रुद्राक्ष को बाए हाथ में या कंठ में धारण करना चाहिए।
  • यह रुद्राक्ष आखों की दृष्टि के लिए भी उपयोगी माना गया है।
  • माँ भगवती की असीम अनुकम्पा नौ मुखी रुद्राक्ष पर होने से यह कवच का काम करता है और शरीर को मानसिक एवं भौतिक दुखों से बचाता है और धारक की कीर्ति सर्वत्र फैलाता है।
  • नौ मुखी रुद्राक्ष धारण करने से धीरे धीरे मन शांत हो जाता है और लोगों के कल्याण की कामना करने लगता है।
  • महाशिवपुराण के अनुसार देवी दुर्गा का स्वरुप होने के कारण से विशेष कर महिलाओं के लिए यह रुद्राक्ष अत्यंत उपयोगी है, इसके धारण से इच्छा शक्ति प्रबल होकर कई पापों का नाश होता है।
  • देवी माँ की कृपा इस रुद्राक्ष पर होने से सभी देवताओं की कृपा भी इस रुद्राक्ष के धारक को मिलती है अतः हर पुरुष व् महिला को जो किसी भी रूप में देवी का पूजन करता हो उसे नौ मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए।
  • इसके धारण से मानसिक रोग व् ह्रदय रोग में भी लाभ हो सकता है।
  • इस रुद्राक्ष पर केतु का प्रभाव भी माना गया है, केतु ग्रह का नाम अचानक और अजीब सा फल देने के बारे में जाना जाता है इसलिए इस रुद्राक्ष के धारक को अचानक कई प्रकार के लाभ हो सकते हैं।

Nine Faced Rudraksha धारण करने के स्वास्थ्य लाभ -

नौ मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से या उपयोग में लाने से फेफड़ों से संबंधित समस्याओं, आंखों में दर्द, त्वचा रोग, शरीर में दर्द इत्यादि से मुक्ति दिलाता है।

Nau Mukhi Rudraksha को धारण करने का मंत्र

  • इस रुद्राक्ष को धारण करने का मंत्र है “ॐ ह्रीं हूँ नमः” ।
  • देवी की उपासना करने वाले सभी जातकों को नौ मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए।

Consult the best astrologers in India on Futurepoint.com. Click here to consult now!