जानिए अक्षय तृतीया पर्व से जुड़ी मान्यताएं एवं 2019 में तिथि व मुहूर्त ।

By: Future Point | 19-Apr-2019
Views : 7967
जानिए अक्षय तृतीया पर्व से जुड़ी मान्यताएं एवं 2019 में तिथि व मुहूर्त ।

वैशाख के हिन्दू महीने में शुक्ल पक्ष के दौरान तीसरे दिन अक्षय तृतीया पड़ती है. अक्षय तृतीया का दिन अगर बुधवार को रोहिणी नक्षत्र के दिन पड़ता है तो इसे अत्यधिक ही शुभ माना जाता है.अक्षय शब्द का मतलब कभी भी कम नही होता है इसलिए अक्षय तृतीया के दिन कोई भी जप, दान, पूण्य आदि करने के लाभ कभी कम नही होते हैं. ऐसा माना जाता है कि अक्षय तृतीया व्यक्ति के जीवन में सौभाग्य सफलता लाती है, कई लोग इस दिन सोना खरीदते हैं क्योंकि ऐसा माना जाता है कि अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने से भविष्य में उसमें समृद्धि बढ़ती है लोगों का मानना है कि इस दिन खरीदा गया सोना कभी कम नही होगा इसमें वृद्धि होती है और इस दिन व्यापारिक उपक्रम शुरू करना भी बहुत शुभ माना जाता है.

अक्षय तृतीया के दिन दान- पूण्य करने से आपके जीवन में सुख समृद्धि की भी वृद्धि होती है।

अक्षय तृतीया को छतीसगढ़ में अक्ति और गुजरात व राजस्थान में अखा तीज के नाम से भी जाना जाता है।

Get your personalized Finance Horoscope Report


अक्षय तृतीया से जुड़ी मान्यताएं -

अक्षय तृतीया के पीछे बहुत सारी मान्यताएं हैं, बहुत सारी कहानियां भी जुड़ी हैं।

अक्षय तृतीया के दिन को भगवान परशुराम जयंती के जन्मदिन यानि परशुराम जयंती के रूप में भी मनाया जाता है। भगवान विष्णु के छठे अवतार परशुराम के अलावा विष्णु के अवतार नर व नारायण के अवतरित होने की मान्यता भी इसी दिन से जुड़ी है। यह भी मान्यता है कि त्रेता युग का आरंभ इसी तिथि से हुआ था. मान्यता के अनुसार इस तिथि को उपवास रखने, स्नान दान करने से अनंत फल की प्राप्ति होती है। यानि व्रती को कभी भी किसी चीज़ का अभाव नहीं होता, उसके भंडार हमेशा भरे रहते हैं। चूंकि इस व्रत का फल कभी कम न होने वाला, न घटने वाला, कभी नष्ट न होने वाला होता है इसलिये इसे अक्षय तृतीया कहा जाता है।

इस अक्षय तृतीया पांये माँ की अपार कृपा अपने और अपने परिवार पर: बुक करें मां लक्ष्मी पूजा


अक्षय तृतीया सर्वसिद्ध अबूझ मुहूर्त तिथि-

मांगलिक कार्यों के लिये इस तिथि को बहुत ही शुभ माना जाता है। एक और जहां मांगलिक कार्यों को करने के लिये अक्षर शुभ घड़ी व शुभ मुहूर्त जानने के लिये पंडित जी से सलाह लेनी पड़ती है वहीं अक्षय तृतीया एक ऐसी सर्वसिद्धि देने वाली तिथि मानी जाती है जिसमें किसी भी मुहूर्त को दिखाने की आवश्यकता नहीं पड़ती। इस तिथि को अबूझ मुहूर्तों में शामिल किया जाता है। इस दिन सोना खरीदने की परंपरा भी है। मान्यता है कि ऐसा करने से समृद्धि आती है। मान्यता यह भी है कि अपनी नेक कमाई में से कुछ न कुछ दान इस दिन जरुर करना चाहिये।

पर्व को और खास बनाने के लिये गाइडेंस लें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से।


अक्षय तृतीया पर्व तिथि व मुहूर्त 2019–

अक्षय तृतीया 2019 में 7 मई को पड़ रही है।

अक्षय तृतीया पूजा का मुहूर्त – 05. 40 से 12. 17 तक रहेगा ।

सोना खरीदने का शुभ समय - 05. 40 से 24. 17 तक रहेगा ।

तृतीया तिथि प्रारम्भ – 03 : 17 ( 7 मई 2019) से प्रारम्भ है।

तृतीया तिथि समाप्ति – 02: 17 (8 मई 2019) तक रहेगी ।


Previous
वर्तमान में देखें अपनी हस्तरेखा और जाने अपना भविष्यफल

Next
माता सती अनुसुइया जयंती