घर को पेंट करवाने से पहले पढ़ें ये 5 वास्तु टिप्स | Future Point

घर को पेंट करवाने से पहले पढ़ें ये 5 वास्तु टिप्स

By: Future Point | 04-Aug-2018
Views : 12094
घर को पेंट करवाने से पहले पढ़ें ये 5 वास्तु टिप्स

परिवार के सदस्यों में स्नेह बनाए रखने के लिए यह आवश्यक है कि घर में सकारात्मक ऊर्जा हो। घर की सुख-शांति और सकारात्मक ऊर्जा को बनाए रखने के लिए वास्तु उपायों का सहारा सदैव से लिया जाता रहा है। वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का वास्तु सम्मत होना घर को खुशहाल बनाता है।

यही वजह है कि घर का रख-रखाव वास्तु के अनुसार रखने का प्रयास किया जाता है। यदि घर में किसी भी तरह का वास्तु दोष हो तो घर में रहने वाले सदस्यों का स्वास्थ्य, उन्नति और प्रसन्नता अनुकूल नहीं रहती है। सारे घर को वास्तु सम्मत बनाना सभी के लिए संभव नहीं हैं|

ऐसे में वास्तु के कुछ सामान्य टिप्स का प्रयोग कर भी सुख की सुख-शांति को बेहतर किया जा सकता है। आज इस आलेख में हम आपको ऐसे ही कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं जिनके प्रयोग से आप अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव कर सकते हैं-

घर का मुख्य द्वार यदि पूर्व दिशा में हों तो घर के गेट का रंग सुनहरा या नारंगी होना चाहिए। यदि गेट को इस रंग से रंगवाना संभव ना हों तो गेट पर इस रंग की कोई फोटो भी लगवाई जा सकती है। इससे कुछ सकारात्मक बदलाव अवश्य होगा। दक्षिण दिशा में मुख्य द्वार का गेट होने पर गेट के लिए सही रंग काला, ब्राउन अथवा गहरा बैंगनी होता है।

उत्तर दिशा में मुख्य द्वार होने पर गेट का रंग नीला या आसमानी होना चाहिए। पश्चिम दिशा के गेट को सफेद या पीला रंग करवाना चाहिए। उत्तर-पूर्व दिशा में होने पर गेट की स्थिति हैं तो उसे सफेद या आफ व्हाईट करवाना सही रहेगा।

  • यह तो रही मुख्य द्वार के गेट के रंग की बात। आईये अब जानें कि घर की दीवारें किस रंग की होनी चाहिए|

  • घर के स्वागत कक्ष की दीवारों पर पीला रंग करवाना सही रहता है। कार्यालय्य और स्वागत कक्ष को पीले रंग से सजाना शुभता देता है।

  • घर-परिवार में किसी भी तरह की आर्थिक दिक्कत आ रही हों तो घर के उत्तरी भाग की दीवारों को हरे रंग से रंगवाना चाहिए। यह रंग इस दिशा के लिए बहुत शुभ रहता है।

  • इसके अलावा उत्तर भाग की दीवारों पर आप आसमानी रंग भी करा सकती है।

  • घर में जितने भी दरवाजे और खिड़कियां हों उन सभी को गहरे ब्राउन रंग से सजाना चाहिए।

  • पश्चिम दिशा की दीवारों पर हल्के रंग का प्रयोग करें।

  • दक्षिण पश्चिम दिशा की दीवारों पर गुलाबी या हल्के ब्राउन रंग करायें।

  • घर के मुख्य शयनकक्ष को घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना शुभ माना जाता है। इसके साथ ही इस भाग की दीवारों पर नीला रंग उपयुक्त रहता है।

  • मेहमानों के कमरे के इए सफेद रंग का प्रयोग करना चाहिए और यह कमरा उत्तर-पश्चिम दिशा में सबसे अधिक ठीक रहता है।

  • घर में यदि पढ़ाई करने वाले बच्चे हैं तो अध्ययन कक्ष के लिए घर की उत्तर-पश्चिम दिशा के भाग का प्रयोग करें और उसमें सफेद रंग करायें।

  • रसोईघर की दीवारों पर संतरी अथवा लाल रंग करावायें।

  • उत्तर-पश्चिम दिशा को आप बाथरुम के लिए प्रयोग करें और सफेद रंग करायें।

  • घर के हाल को पूर्व-पश्चिम या पूर्व-दक्षिण दिशा में बनवायें और इस पर पीला या सफेद रंग कराना सही रहेगा।

  • घर की बाहरी दीवारों का रंग हल्का गुलाबी या हल्का पीला हो सकता है।

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार यह माना जाता है कि गहरा नीला, काला या गहरा लाल रंग घर में नहीं कराना चाहिए। इससे पारिवारिक सदस्यों का जीवन बाधित होता है।


Previous
Radical number 6 Venus

Next
Lagna or Ascendant in a Horoscope