प्रमोशन चाहिए तो करें यह उपाय

By: Future Point | 18-Jan-2019
Views : 8757
प्रमोशन चाहिए तो करें यह उपाय

आज की भाग-दौड़ की जिंदगी में करियर में बने रहना सहज नहीं है। बढ़ती प्रतियोगिता के युग में सब एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में लगे हुए है। जिसे देखो वो दूसरे को गिरा कर आगे बढ़ने में लगा हैं। इस स्थिति में कई बार कुछ लोगों की बहुत मेहनत करने पर भी करियर में सफलता, उन्नति और पदोन्नति नहीं हो पाती है। प्रत्येक नौकरी पेशा व्यक्ति कार्यक्षेत्र में किसी ना किसी समस्या का सामना कर रहा है। कोई कार्यभार से परेशान हैं तो कोई कम वेतन से। किसी को अनुकूल अवसर की तलाश है तो किसी को अनुकूल माहौल नहीं मिल रहा है। वास्तव में नौकरी करने वाला हर व्यक्ति किसी न किसी कारण से दुखी है। इसी प्रकार की समस्याओं का सामना कर रहे नौकरी पेशा व्यक्तियों को करियर में क्रांति लाने के लिए क्या करना चाहिए। आईये आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं-

भैरों बाबा का पूजन


भैरों बाबा का दर्शन पूजन करने से करियर में बेहतर फल प्राप्त किए जा सकते है। नौकरी पेशा व्यक्तियों को यथासंभव भैरों बाबा के मंदिर में जाकर दर्शन करने चाहिए। यह उपाय आप लगातार 5 शनिवार करें और भैरों बाबा के दर्शन करने के बाद, प्रसाद का वितरण भी अवश्य करना चाहिए। प्रसाद का स्वयं सेवन करने के साथ साथ प्रसाद का वितरण भी अवश्य करें। 5 शनिवार दर्शन-पूजन करने के बाद अपनी प्रार्थना के साथ एक बार फिर से भैरों मंदिर में जाए और अपनी समस्या के समाधान के लिए भैरों देव से विनती करें। ऐसा करने पर आपको शीघ्र ही करियर में लाभ मिलेगा और उन्नति व सफलता का मार्ग खुलेगा।

Astrology Astrology

दशमेश के मंत्रों का जाप


बहुत मेहनत और प्रयास के बाद भी यदि आपको अपने करियर में अनुकूल फल प्राप्त नहीं हो पाते हैं तो आपको अपनी कुंडली किसी योग्य ज्योतिषी को दिखा कर, अपनी कुंडली के कर्म भाव के स्वामी ग्रह का मंत्र मालूम करना चाहिए। मंत्र जानने के बाद आपको प्रात:काल में इस मंत्र का जाप नित्य कम से कम एक माला अवश्य करना चाहिए। मंत्र जाप यदि रुद्राक्ष माला पर किया जाए तो सबसे उत्तम फल प्राप्त होता है। समय समय पर यदि नवग्रहों की शांति के लिए हवन या अभिषेक भी कराते रहना चाहिए। इससे व्यक्ति की ऊर्जा सकारात्मक रुप से प्रयोग होती है और नकारात्मक उर्जा दूर होती है।

शनि देव के उपाय


वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नौकरी के लिए शनि देव का पूजन करना अतिशुभ माना जाता है। शनि ग्रह न्याय, परिश्रम और नौकरी के कारक ग्रह है। जन्मपत्री में यदि शनि किसी भी प्रकार से पीड़ित हों तो करियर में किसी न किसी प्रकार की परेशानियां लगी ही रहती है। इसलिए शनि मंत्र- ऊं प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम: का 5 माला जाप नित्य करने से नौकरी के क्षेत्र में प्रगति होती है और करियर में भी सफलता के योग बनते हैं। शनि मंत्र का जाप रविवार के अतिरिक्त अन्य किसी भी दिन करना चाहिए। शनिवार के दिन प्रात:काल में पीपल के पेड़ को जल देना चाहिए और रात्रि में पीपल के पेड़ की जड़ों के निकट सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए। शनि देव की कॄपया से नौकरी के क्षेत्र में आ रही सभी बाधाएं दूर होती है।

पदोन्नति का उपाय


जो लोग सरकारी क्षेत्रों में कार्यरत हों अथवा जिन्हें अपने उच्चाधिकारियों को प्रसन्न करने में परेशानियां हो रही हों अथवा जिन्हें उच्च पद प्राप्ति की कामना हो उन्हें सूर्य ग्रह को प्रात: अवश्य जल देना चाहिए। उगते सूर्य के सम्मुख गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए। साथ ही ऐसे व्यक्तियों को सूर्यनमस्कार करने से भी लाभ होता है। करियर में उन्नति, उच्च पद, सरकारी क्षेत्रों से अनुकूलता दिलाने में सूर्य ग्रह महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। इनकी शुभता से अधिकारी प्रसन्न रहते हैं और जल्द ही पदोन्नति की संभावनाएं बनती है।

करियर और फेंगशुई उपाय


फेंगशुई ज्योतिष के अनुसार घर की उत्तर दिशा को शास्त्र सम्मत बनाए रखने पर करियर में उन्नति होती है। इस दिशा से संबंधित फेंगशुई उपाय करने पर इस क्षेत्र की शुभता बढ़ती है। उत्तर दिशा में बहते हुए जल का प्रबंध करने और फव्वारा लगाने से व्यक्ति को करियर में पदोन्नति की प्राप्ति होती है। पानी का एक्वरेरियम और उसमें मछलियां रखने से भी करियर में वॄद्धि होती है। उत्तर दिशा की दीवार पर बहते पानी के चित्र लगाने से भी करियर बेहतर होता है।

अन्य उपाय


नौकरी में उन्नति प्राप्ति के लिए नित्य सूर्योदय से पूर्व उठना चाहिए। स्नानादि क्रियाओं से मुक्त होकर, नित्य ईष्ट देव का धूप, दीप और फूल से पूजन करना चाहिए।

शनिवार के दिन सरसों के तेल में तिल और सिक्के डालकर छाया दान करें।

शनिदेव की शुभता बढ़ाने के लिए सात मुखी रुद्राक्ष शनिवार के दिन धारण करें।

उच्च पदोन्नति के लिए - प्रात: काल में तांबे के पात्र में जल भरकर सूर्य ग्रह को अर्घ्य दें। सूर्य यंत्र घर के मंदिर में स्थापित कर, नित्य दर्शन-पूजन करें।


Previous
लव एस्ट्रोलॉजी के बारे में 10 बातें जो आप नहीं जानते

Next
Are you in a dilemma about changing Jobs Or selecting a Career?


2023 Prediction

View all