जानिये किस उद्देश्य की पूर्ति के लिए रखे कौनसा लाफिंग बुद्धा | Future Point

जानिये किस उद्देश्य की पूर्ति के लिए रखे कौनसा लाफिंग बुद्धा

By: Future Point | 12-Jun-2018
Views : 9676
जानिये किस उद्देश्य की पूर्ति के लिए रखे कौनसा लाफिंग बुद्धा

चीनी ज्योतिष की ज्योतिषीय वस्तुओं को फेंगशुई ज्योतिष के नाम से जाना जाता हैं। फेंगशुई ज्योतिष पद्वति में लाफिंग बुद्धा को प्रसन्नता, सुख-समृद्धि एवं संपन्नता का प्रतीक माना जाता है। लाफिंग बुद्धा को घर या व्यावसायिक स्थल कहीं भी र्खा जा सकता हैं।

फेंगशुई ज्योतिष के अनुसार यह माना जाता है कि जिस स्थान पर लाफिंग बुद्धा होता है वहां खुशी स्वत: निवास करती हैं।इसके अतिरिक्त यह भी माना जाता हैं कि लाफिंग बुद्धा की मुस्कान खुशहाली की प्रतीक हैं। इसे इस प्रकार रखा जाता हैं कि ऐसा लगे, कि यह घर में खुशियां लेकर अंदर की ओर आ रहे हैं।

जिस भी घर या आफिस में लाफिंग बुद्धा होता हैं वहां धन-धान्य और खुशियों की किसी प्रकार की कोई कमी नहीं होती है। यह ठीक उसी प्रकार है जिस प्रकार हिंदू धर्म में श्रीगणेश जी को स्थान दिया जाता हैं। दोनों में यह अंतर हैं कि श्री गणेश का पूजन भी किया जाता हैं परन्तु फेंगशुई आईटमस की पूजा नहीं की जाती हैं। लाफिंग बुद्धा का बाहर निकला हुआ मोटा पेट समृद्धि एवं संपन्नता का सूचक हैं।

विघ्नहर्ता श्रीगणेश जी का भी पेट बाहर निकला हुआ हैं और श्रीगणेश जी शुभता के प्रतीक देव हैं। इसी तरह से लाफिंग बुद्धा को भी शुभता, संपन्नता और सफलतादायक माना जाता हैं। चीनी ज्योतिष का भाग होने के कारण यह चीन देश और भारत में लोकप्रिय हैं। इन दोनों देशों के अतिरिक्त यह जापान देश में भी शुभ देवता के रुप में प्रसिद्ध हैं।

लाफिंग बुद्धा को कभी भी पूजा घर में नहीं रखा जाता हैं और जैसा की ऊपर बताया गया हैं कि इसकी पूजा भी नहीं की जाती हैं। यह शुभता लाते हैं इसलिए इन्हें स्वागत कक्ष के मुख्य द्वार पर प्रवेश करने की मुद्रा में रखें। यहां भी ध्यान देने योग्य बात यह है कि इसे कभी भी जमीन पर नहीं रखा जाता। जहां तक सभव हो इसे जमीन से ऊपर किसी ऊंचे स्थान पर ही रखें। लाफिंग बुद्धा की पाजिशन सबकी नजरों में आने वाली होनी चाहिए। घर में आने मेहमानों पर सबकी नजर पड़े इस प्रकार इसे रखा जाता हैं। इसके रखते ही घर या आफिस के माहौल में प्रसन्नता का अनुभव होने लगता हैं।

व्यवसायिक स्थल पर इसका होना सफलता और उन्नति देता हैं। यह माना जाता हैं कि इसके मोटे पेट पर प्रतिदिन हाथ फिराने से घर में सुख-शांति और धन-संपत्ति बनी रहती हैं। लाफिंग बुद्धा कई रुपों में प्रचलित हैं। इसके 10 प्रकार हैं- सारे लाफिंग बुद्धा अलग-अलग प्रकार के प्रतीक हैं। लाफिंग बुद्धा के विभिन्न रुप किसी न किसी लाभ और उपयोगिता का संकेत देते हैं।

 

  • आंखें बंद किए हुए, ध्यान मुद्रा में बैठे लाफिंग बुद्धा का होना अपार शांति का सूचक हैं। इसके प्रभाव से मानसिक शांति की प्राप्ति होती हैं। कार्यों में एकाग्रता और मन शांत रहता हैं।

 

 

  • जिस प्रतिमा में लाफिंग बुद्धा का कई बच्चों के साथ हों उसे घर में रखने से संतान सुख, संतान प्राप्ति और संतान से जुड़े विषयों में सुख-सफलता की प्राप्ति होती हैं।

 

 

  • जिस प्रतिमा में लाफिंग बुद्धा के हाथ में कमंडल लिए हुए होता हैं उसे भाग्योदय का प्रतीक माना जाता हैं। घर या आफिस में रखने पर घर-परिवार के सदस्यों का सोया हुआ भाग्य जाग जाता हैं।

 

 

  • जिस प्रतिमा में लाफिंग बुद्धा के हाथ में पीले रंग का फूल होता हैं वह प्रतिमा रोग से मुक्ति की सूचक हैं। जिस घर में कोई बीमार हों या कोई न कोई बीमार रहता हों उस परिवार में इस रुप का लाफिंग बुद्धा रखना चाहिए।

 

 

  • जिस प्रतिमा में लाफिंग बुद्धा हाथ में गठरी लिए हो तो ऐसा लाफिंग बुद्धा रखने से प्रसन्नता और सफलता की प्राप्ति होती हैं।

 

 

  • लाफिंग बुद्धा की एक प्रतिमा में लाफिंग बुद्धा ड्रैगन के साथ हैं, यह प्रतिमा नेगेटिव शक्तियों से बचाव करता हैं। इसके प्रभाव से बुरी नजर से बचाव होता हैं। जादू-टोने का प्रभाव भी निष्क्रय रहता हैं।

 

 

  • हंसते हुए लाफिंग बुद्धा की प्रतिमा रखने से आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती हैं। निर्णय शक्ति में सुधार होता हैं और व्यक्ति सहज होकर निर्णय लेता हैं। इस प्रतिमा को दोनों स्थानों पर रखा जा सकता हैं।

 

 

  • लेटे हुए लाफिंग बुद्धा को उपहार स्वरुप देने का विशेष प्रचलन हैं। यह माना जाता हैं कि इसे उपहार में लेना और देना दोनों शुभ हैं।

 

 

  • नाव में बैठे हुए लाफिंग बुद्धा व्यापारिक लाभ के लिए खास माने जाते हैं।

 

 

  • पोटली वाले लाफिंग बुद्धा को दुकान, आफिस या कार्यालय में रखना अनुकूल फल प्रदान करता हैं।

 


Previous
सफेद पुखराज की विशेषताएं तथा धारण करने से लाभ

Next
फेंगशुई में क्रिस्टल कछुए का है बहुत महत्व