हाथों के ये 7 रेखाएं खोलती हैं आपके जीवन के कई राज, ऐसे पता करें अपना भविष्य

By: Future Point | 11-Jun-2018
Views : 10217
हाथों के ये 7 रेखाएं खोलती हैं आपके जीवन के कई राज, ऐसे पता करें अपना भविष्य

ज्योतिष शास्त्र (Astrology) के माध्यम से किसी व्यक्ति का भूत, भविष्य और वर्तमान सभी जाना जा सकता हैं। ज्योतिष विद्या में फलादेश का आधार जन्मपत्री होती हैं। जिसमें जन्मसमय, जन्म तिथि, जन्म वर्ष और जन्म स्थान के अनुसार जन्मपत्री का निर्माण किया जाता हैं। कई बार ऐसा होता हैं कि जन्म विवरण की जानकारी नहीं होती हैं।

इस स्थिति में हस्त विद्या का प्रयोग उपयोगी साबित होता हैं। हाथ की रेखाओं का सूक्ष्म अध्ययन जातक को जानने-समझने और भविष्य में घटित होने वाली घट्नाओं की जानकारी देता हैं। हस्त्र रेखाओं की जानकारी के माध्यम से आने वाली घटनाओं को जाना जा सकता हैं। आपके हाथ की मुख्य 7 रेखाओं में कौन से राज छुपे हुए हैं, आज इस आलेख के माध्यम से हम आपको यह बताने जा रहे हैं-

जीवन रेखा

हस्तरेखाओं में सभी रेखाओं में सबसे महत्वपूर्ण जीवन रेखा को माना गया हैं। यह रेखा अपनी खास विशेषता इसलिए रखती हैं क्योंकि अपने नाम के अनुसार यह जीवन की सबसे महत्वपूर्ण पहलू आयु को स्पष्ट करती हैं। जीवन रेखा का लम्बा और गहरा होना, आयु के लम्बे होने का सूचक होता हैं। इसके विपरीत इसके कटे-फटे होने की स्थिति में रोग, दुर्घट्नाओं और स्वास्थ्य में कमी की स्थिति बनी रहती हैं।

ह्रदय रेखा

ह्र्दय रेखा व्यक्ति के ह्रदय की स्थिति, कष्ट और भविष्य में होनी वाली घट्नाओं की जानकारी देती हैं। इस रेखा का अध्ययन जातक के प्रेम संबंधों, रिश्तों और भावुकता की स्थिति स्पष्ट करती हैं। कोई व्यक्ति अपने रिश्तों को निभाने के लिए कितना सक्रिय हैं और कितना नहीं। यह सब ह्र्दय रेखा बताती हैं। हाथ में इस रेखा का गहरा और लम्बा होना प्रेम संबंधों में सफलता और इच्छाओं के प्रबल होने का सूचक होता हैं।

मस्तिष्क रेखा

जातक की बुद्धि, विवेक और बौद्धिक योग्यता की जानकारी प्राप्त करने के लिए मस्तिष्क रेखा का अध्ययन किया जाता हैं। इस रेखा से व्यक्ति की मानसिक स्थिति की जानकारी मिलती हैं। मस्तिष्क रेखा व्यक्ति की नियोजन क्षमता, नियोजन करने का गुण और निर्णय लेने की योग्यता का ज्ञान कराती हैं।

हाथ में मस्तिष्क रेखा का साफ-सुथरा होना का अर्थ हैं कि व्यक्ति की बुद्धि प्रखर हैं। ऐसा व्यक्ति समस्याओं का विवेक और बुद्धिमता से निवारण करता हैं। परन्तु जब यह रेखा छोटी होती हैं तो व्यक्ति महत्वपूर्ण निर्णय लेने में जल्दबाजी से काम लेता हैं। इसमें गलतियां होने की संभावनाएं भी बनती हैं। रेखा का लम्बा होने का अर्थ हैं कि व्यक्ति के निर्णय सोच-विचार और गहराई से विचार करने के बाद ही लिए जाते हैं।

भाग्य रेखा

भाग्य रेखा(Luck Line) अपने नाम के अनुरुप फल देती हैं। यह रेखा हमारे भाग्य की सूचना देती हैं। भाग्य रेखा मजबूत हों तो व्यक्ति को जीवन के बहुत से सुख और सफलताएं प्राप्त होती हैं। हाथ में भाग्य रेखा का गहरा और लम्बा होना अच्छा एवं टूटा-फूटा और हल्का होना भाग्य को कमजोर करता हैं। यह रेखा अनुकूल न हों तो व्यक्ति को बार बार मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं।

सफलता अर्जित करने के लिए सामान्य से अधिक संघर्ष और मेहनत भी करनी पड़ती हैं। जब भी भाग्य रेखा अंगूठे को स्पर्श करती हुई, जीवन रेखा को छूती हैं तो व्यक्ति को अपने परिवार और दोस्तों का पूरा सुख मिलता हैं।

सूर्य रेखा

सूर्य रेखा व्यक्ति की रचनात्मक गुण, आत्मविश्वास और आत्मबल की जानकारी देती हैं। इसके लम्बे होने का अर्थ यह होता हैं कि व्यक्ति आत्मविश्वास से भरपूर हैं। ऐसे व्यक्ति को उच्चाधिकारियों से सहयोग मिलता हैं और सरकारी क्षेत्रों में सफलता भी मिलती हैं। बहुत कम लोगों में यह रेखा लम्बी पाई जाती हैं, सामान्यत: कुंडलियों में इस रेखा का अभाव ही होता है।

हथेली में छोटी छोटी व पतली रेखाएं

हाथ में छोटी छोटी व पतली रेखाओं का बहुतायत में होना सही नहीं पाना जाता हैं। जिन व्यक्तियों के हाथ में ऐसा होता हैं वे व्यक्ति बहुत अधिक भावुक और संवेदनशील होते हैं। इनमें निर्णय लेने की योग्यता कम होती हैं। साथ ही ये दुविधा में भी दिखाई देते हैं। संवेदनशीलता के कारण आप कई बार कष्ट का सामना भी करना पड़ता हैं।

हाथों में बहुत काम रेखाओं का होना

जिन व्यक्तियों के हाथों में रेखाएं बहुत कम और गहरी, लम्बी व साफ सुथरी होती हैं। ऐसे व्यक्ति मेहनती होते हैं। अपने काम के प्रति समर्पित होते हैं। व्यक्ति लगनशील होता हैं। दॄढ़संकल्प की भावना होने के कारण अपने लक्ष्यों को पाए बिना आराम से नहीं बैठता हैं।


Previous
वास्तु : इन यंत्रों के उपयोग से जीवन में आएंगी अधिक खुशियां

Next
सफेद पुखराज की विशेषताएं तथा धारण करने से लाभ