17वीं लोकसभा चुनाव - बीजेपी को कितनी सीटें मिल सकती हैं | Future Point

17वीं लोकसभा चुनाव - बीजेपी को कितनी सीटें मिल सकती हैं

By: Future Point | 15-May-2019
Views : 7641
17वीं लोकसभा चुनाव - बीजेपी को कितनी सीटें मिल सकती हैं

फरवरी माह 2019 के प्रारम्भ के साथ ही भारतीय लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व की तैयारियां और शोरशराबा शुरु हो गया। खबरें, न्यूजपेपर, न्यूजचैनल और सोशल मीडिया सब ओर लोकसभा चुनावों की ही धूम है। राजनीति से संबंधित प्रत्येक व्यक्ति के लिए यह अहम अवसर है, और आम आदमी इस पर्व का सबसे जरुरी सहभागी है। पूरे पांच साल सत्ता दल ने क्या किया और, क्या किया जाना चाहिए था, इसका तुलनात्मक अध्ययन आम आदमी के वोटिंग निर्णयों को प्रभावित करता है। सरल शब्दों में कहें तो वोटिंग के दिन सत्ता की चाबी वोट करने वाले आम आदमी के पास होती है। आने वाली सत्ता में किसे भागीदार बनाए और किसे रास्ता दिखाएं, यह सब एक आम आदमी अपनी वोट से तय कर सकता है। इसे ही लोकतंत्र की खूबसूरती और शक्ति कहा जा सकता है।

मोदी की कुंडली का सूक्ष्म अध्ययन यह कहता है कि, मोदी जी को 2014 के लोकसभा चुनाव में 282 सीटें मिली थी। इस लोकसभा चुनाव में इन्हें 290 – 310 सीटें मिलने के आसार बन रहे है। इस दिन चंद्र मोदी की कुंड्ली में जन्म लग्न और जन्मराशि दोनों से तीसरे भाव पर गोचर करने वाला है। 11:45 मिनट प्रात: तक दिल्ली स्थान के अनुसार चंद्र धनु राशि में गोचर कर रहे होंगे, इस समय तक चंद्र का यह गोचर मोदी जी और मोदी के समर्थकों के लिए शुभ खबर देने वाला नहीं रहेगा। इसके बाद चंद्र मकर राशि में प्रवेश कर रहे हैं और प्रवेश के साथ ही मोदी के लिए चुनाव परिणाम आशा के अनुरुप रहेंगे। जन्मराशि से जन्मचंद्र का गोचर 1, 2, 3, 6, 7, 10 और 11 वें भाव में शुभ फलदायक होते है। आईये इस दिन की कुंडली और अन्य ग्रहों की स्थिति देखते हैं-

Astrology Consultation

मोदी जी की कुंडली वृश्चिक लग्न और वॄश्चिक राशि की है। वॄश्चिक लग्न पर 23 मई 2019 का गोचर लगाने पर हम पाते हैं कि पराक्रमेश और चतुर्थेश शनि द्वितीय भाव में केतु के साथ युति संबंध में है। विशेष बात यह है कि शनि और केतु दोनों ही इस दिन सप्तमेश शुक्र के नक्षत्र में गोचरस्थ है। द्वितीय भाव सत्ता भाव अर्थात एकादश भाव से चतुर्थ भाव होने के कारण सत्ता सुख का भाव है। यहां चतुर्थेश शनि की स्थिति समाज सेवा, जनसेवा और सेवा भाव से एक बार फिर से सत्ता में आने के प्रबल योग बना रहे हैं। यहां से शनि अपनी दशम दॄष्टि से एकादश भाव को भी सक्रिय कर रहे हैं।

राजनीति, सत्त्ता का कारक ग्रह सूर्य है, और इस दिन सूर्य आयेश बुध के साथ सप्तम भाव में है, सप्तम भाव दशम से दशम भाव होने के कारण सत्ता प्राप्ति में विशेष भाव के नाम से जाना जाता है। व्ययेश शुक्र का व्यय भाव को दॄष्टि देना, अत्यधिक व्ययों के साथ साथ आनंद का अवसर प्राप्त होने के संकेत दे रहा है। चतुर्थ भाव भी चतुर्थेश की दॄष्टि प्राप्त होने के कारण विशेष बली हो गया है। इसी प्रकार से भाग्य भाव को भी भाग्येश चंद्र की दॄष्टि प्राप्त हो रही है। अष्ट्मेश बुध का अपने से द्वादश भाव में स्थित होना, बाधारहित फलों की प्राप्ति के संकेत दे रहा है। राहु के साथ मंगल लग्नेश का होना, स्वास्थ्य में कमी और परिणामों को बेहतर करने के लिए जोड़ तोड़, कूटनीति का सहारा लेना भी दर्शा रहा है। सत्ता प्राप्ति में चातुर्य, जोड़ तोड़ और कूटनीति की भूमिका अहम रहेगी।

आईये अब भारतीय जनता पार्टी की कुंडली का अध्ययन भी कर लेते है -

भारतीय जनता पार्टी की स्थापना

06 अप्रैल 1980, 11:40, प्रात:, दिल्ली

भारतीय जनता पार्टी की कुंडली मिथुन लग्न और वॄश्चिक राशि की है। पराक्रम भाव में शनि, मंगल, गुरु और राहु चार ग्रह स्थित है। राशिश चंद्र षष्ठ भाव में है। भाग्य भाव को केतु और बुध की युति का बल प्राप्त हो रहा है। लग्नेश का भाग्य भाव में स्थित होना, कुंडली के शुभ योगों को बढ़ाता है। एवं द्वादश भाव में शुक्र स्वराशि के स्थित है। इस समय चंद्र महादशा में मंगल की अंतर्द्शा प्रभावी है। मंगल आयेश है और पराक्रम भाव में है। आय भाव को मनोकामनाओं की पूर्ति का भाव कहा जाता है। इस भाव के स्वामी की दशा अवधि में व्यक्ति की मनोकामना पूर्ति के योग बनते है।

शनि इस समय कुंडली के सप्तम भाव पर गोचर कर रहे हैं। गुरु छ्ठे भाव पर गोचर कर शुभ फल प्राप्ति की संभावनाएं बना रहे है। चुनावी परिणाम के दिन चंद्र पार्टी के अष्टम भाव पर गोचर कर रहा होगा, परन्तु इसकी स्थिति जन्मराशि से तृतीय होने के कारण शुभ होगी। राहु और मंगल लग्न भाव मिथुन में गोचर कर रहे होंगे, सप्तम भाव में केतु और शनि, और एकादश भाव पर शुक्र का गोचर होगा। पार्टी की गोचर ग्रह स्थिति मोदी जी कुंडली की तुलना में बहुत अच्छी नहीं कही जा सकती है, परन्तु यह चुनाव भारतीय जनता पार्टी अपने ब्रांड मोदी जी के नाम और मोदी जी की ध्वजा के नीचे लड़ रही है। अत: परिणाम मोदी के पक्ष में और 290 से 310 सीटों के साथ आने के योग बन रहे है।

मोदी जी की कुंडली

सितम्बर 1950, 11:00, मेहसाना

23 मई 2019 प्रात: 7।00 दिल्ली गोचर कुंड्ली

23 मई 2019, 11:48 प्रात: दिल्ली गोचर कुंड्ली

modi_2

modi_1

भारतीय जनता पार्टी की स्थापना कुंडली

bjp_2

bjp_1


Previous
मारक ग्रह - मॄत्युसमान कष्ट

Next
Today's Horoscope Prediction 16th May