Follow us now

कन्या राशि

Virgo


भौतिक लक्षण :

मध्यम कद, काले बाल और आंख, त्वरित चुस्त चाल, वास्तविक आयु से कम के प्रतीत होते हैं, विकसित छाती, सीधी नाक, पतली और तीखी आवाज, धनुषाकार धनी भौंहें, गर्दन या जांधों पर निशान।

अन्य गुण :

बहुत बुद्धिमान, विश्लेषक, विलक्षण बुद्धि वाला अन्य की भावनाओं और त्रुटियों का निंदक। भाषाओं के ज्ञानी होते हैं और किसी प्रक्रिया को समझने में वैज्ञानिक दृष्टिकोण का उपयोग करते हैं। भावनाओं में बह जाते हैं। सोच समझ कर निर्णय लेते हैं। आत्मविश्वास की कमी, घबराये से रहते हैं। सुव्यवस्थित अपने विचार की बारीकियों को समझने में सक्षम होते हैं। स्वयं के स्वार्थ के प्रति जागरूक, मितव्ययी, कूटनीतिज्ञ, चतुर होते हैं। गृहसज्जा में निपुण, गणितज्ञ, परविद्या में रुचि होती है।

उदर रोगों से सावधान रहना चाहिए। पेचिश, टायफायड, पथरी आदि संभाव्य रोग है। विवाह में विलंब, वैवाहिक जीवन सुखी, संतान कम होती है। आय उत्तम, कार्य-व्यवसाय में सफलता, संपत्ति के मालिक होते हैं। नाममात्र की व्याधि होने पर भी डॉक्टर के पास चले जाते हैं। पृथ्वी तत्व की राशि होने के कारण बागवानी और खेती में रुचि लेते हैं। धन संचय में रुचि होती है।

20 से 25 वर्ष की आयु में सफल और साहसी होते हैं। 25 से 35 वर्ष की आयु में स्वयं का मकान होता है। 36 से 48 वर्ष कष्टप्रद होते हैं। 49 से 62 वर्ष सौभाग्यशाली होते हैं, अचानक लाभ होता है। 23 और 24वें वर्ष बहुत उत्तम रहते हैं जबकि 4, 16, 22, 36 और 55 वें वर्ष कष्टप्रद होते हैं। जीवन के अंतिम चरण में टी. बी. हो सकती है।

स्त्री राशि, मनोरंजन के स्थान, चारागाह, शुभ राशि, मध्यम कद शीर्षोदय राशि, पौधों वाली भूमि, कन्धों तथा भुजाओं का झुकना, सच्चा दयालुता, काले बाल, अच्छी मानसिक योग्यता, विधि अनुसार कार्य करने वाली तर्कशील होती है।



View This Page In English



अप्रैल

कन्या

यह मास आपके लिए संघर्ष एवं विघ्न-बाधाओं से युक्त रहेगा। बनते-बनते कार्यों में व्यवधान आयेगा। धैर्य को कम न होने दें, समाज में अपनी मान-प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान रखें। किसी के बहकावे में न आयें। जब तक कार्य पूर्ण न हो जाय तब तक कार्य को सार्वजनिक न करें। पारिवारिक सदस्यों के साथ अचानक मतभेद उभर सकते हैं। किसी भी समस्या का तुरंत समाधान करने की कोशिश करें।

स्वस्थ्य:

स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें अन्यथा स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। पांव में दर्द, पेट तथा रक्त से संबंधित, आंखों से संबंधित बीमारियों के प्रति सावधानी रखें।

धन-सम्पत्ति:

आर्थिक कार्यों के प्रति अभिरूचि बढ़ेगी। आय के नवीन स्रोत को बनाने की कोशिश करें। संपत्ति संबंधी कार्यों के प्रति संवेदनशील रहें। शीघ्र निर्णय न लें।

कार्य व्यवसाय:

कार्य क्षेत्र में आने वाली समस्याओं का समाधान करने का प्रयास करें। व्यवसाय से जुड़े हुए लोगों के व्यापार में धीमी गति से लाभ होगा। धैर्य रखें।

प्रेम सम्बन्ध:

प्रेम प्रसंगों में सावधानी बरतें। आरोप-प्रत्यारोप वाली स्थिति से बचें।

दाम्पत्य जीवन :

जीवनसाथी से मधुर संबंध बढेंगें, परिवार में भौतिक सुख-संसाधनों में वृद्धि होगी।

उपाय:

शुक्रवार के दिन ऊँ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः मंत्र की तीन माला जप करे।सफ़ेद कपडे में चावल रखकर दान करें, क्रोध से बचें।

स्वस्थ्य कष्ट:

11, 12, 21, 30


 
Back

Ashta Vaibhav Laxmi Navratna Gold Locket Coral Locket

Best astrology software leostar

Baglamukhi chowki

Astrology software for android mobile/tab

shop.futurepointindia.com