Sorry, your browser does not support JavaScript!
Leo

Vrish Rashi

Suraksha, sukshm shakti, prashansa, nirdesh, junun

Shubh Ratna: Heera
Shubh Rang: Shwet
Shubh Ank: 6
Shubh Grah: Shukra
   
Share:

Read in english    हिन्दी में पढ़े

Bhautik Lakshan Vrish Rashi

madhyam kad, prayah mota sharir, chaura mastak, moti gardan, sundar akarshak chehra, bare kan aur ankhen, chaure kanghe, gathila sharir, gehuna rang, safed dant, bhari janghen, ghunghrale bal, kamar ya bagal men massa.

Anya Gun

prempurn vyavhar, saundarya upasak, sangit aur kala men ruchi. arampsand, prem, suvidhaon aur uttam bhojan men ruchi. uttam sharirik aur mansik shakti. achche mitra, spashtavadi. nishkarsh nikalne se purva bhale-bure ka adhyayan. dhan sanchyi, kharch men savdhan. atmanirbhar, svayan ki vishisht karya pranali aur siddhant. kutnitik vyavhar ke karan inkon samjhna kathin hota hai.

bariki ke kam men maharat, smaran shakti uttam, pratyek karya prasannatapurvak sanpann karte hain. uchchakoti ke padon par karyarat, sukh-suvidhaon ki samagri jaise ilektronik saman, saundarya prasadhan, bag-bagiche, itra, abhushan adi ke vyapar men ruchi. uttam abhineta, sangitagya, film nirmata adi hote hain. kanya vidyalay ya mahila klab men karyarat. bhagyavan, abhushnon aur bagvani par dhan vyay karte hain. viprit ling ke vyakti akarshit hote hain, kanya santan adhik hoti hai. vivahit jivan men talak bahut kam hote hain.

sanbhavit rog vrish rashi :

tonsil, dipthiriya, payriya, jukam, kabj. jivan men ek bar matibhram avashya hota hai. 8 se 16 aur 36 se 47 varsh ki ayu men parivarik samasyaon ke karan mansik kasht hota hai. unhen kathinaiyon men himmat nahin harni chahie.

kathin varsh vrish rashi:

1, 2, 8, 33, 44 aur 61

infidelity signs mdfoosball.com My husband cheated on me
ways to terminate early pregnancy abortion pill how to terminate early pregnancy
how many women cheat wifes who cheat wife who cheated
kamagra 100mg sporturfintl.com sumatriptan 100mg

Vrish Rashi Ke upyukt vyawsay

Sangit aur anya kala ki, Saundarya, midiya, vigyapan, bainking, ilektroniks, vanijya aur vyapar

national abortion federation ways to terminate a pregnancy at home how abortion works
why people cheat in marriage site why women cheat on husbands
walgreen photo deals open walgreens promo code

Vrish Rashi Ki Mitra Rashiyan

Mithun, kanya, tula, makar, kunbh rashi

Vrish Rashi ka Tatva

Prithvi

Vrish Rashi Ka sambaddha chakra

anaht


मासिक एवं वार्षिक राशिफल वृष राशि

दिसंबर

वृष

यह मास आपके लिए सामान्य रूप से सुख तथा उन्नति कारक रहेगा। मास के मध्य में परिस्थितियां कुछ अनुकूल होने लगेंगी। अपनी परिस्थितियों को ध्यान में रखकर ही महत्वपूर्ण कार्यों में निर्णय लें। सामाजिक गतिविधियों के प्रति रूझान बढ़ेगा।

स्वास्थ्य:

स्वास्थ्य पर ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी। रक्तचाप, मधुमेह आदि बीमारियों के प्रति सावधानी बरतें। अपनी जीवनशैली को व्यवस्थित रखें।

धन-सम्पत्ति:

आर्थिक क्षेत्रों में उतार-चढ़ाव जैसी परिस्थितियां रहेंगी। धन की बचत पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी। अपनी महत्वाकांक्षाओं पर नियंत्रण रखें।

कार्य व्यवसाय:

कार्यक्षेत्र में सुधार होने की संभावना बन रही है। स्थानांतरण से लाभ प्राप्ति के योग बनेंगे परंतु इस संबंध में सोच-समझकर निर्णय लें। व्यवसाय करने वाले लोगों के लिए सामान्य लाभ होने के योग बन रहे हैं।

प्रेम सम्बन्ध:

प्रेम संबंधों में परेशानियां बढ़ सकती हैं। आपसी तालमेल से समस्याओं को सुलझाएं।

दाम्पत्य जीवन :

पति-पत्नी के मध्य प्रेम सौहार्द में वृद्धि होगी। परिवारिक सदस्यों के साथ मेलजोल बढ़ेगा।

उपाय:

रविवार के दिन सूर्य बीज मंत्र ऊँ घृणिं सूर्यायः नमः मंत्र का 108 बार जप करें तथा सूर्य नमस्कार करें।

स्वस्थ्य कष्ट:

2, 3, 11, 12, 19, 20, 30

2016

वृष राशि (ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वु, वे, वो))

व्यवसाय:

वर्ष 2016 में आप रोजी-रोटी के नये आयाम तलाशने का प्रयास करेंगे जिनमें आपको सफलता भी मिलेगी। रचनात्मक कार्यों के प्रति आपका रुझान बढे़गा। विशेष रूप से यह वर्ष आपके लिये तरक्की, सराहना और बेहतर जीवन स्तर लेकर आ रहा है। राहु का गोचर व्यापारिक क्षेत्र में उन्नति व आर्थिक लाभ देगा। राजनीति से जुडे़ लोगों से आर्थिक लाभ प्राप्त हो सकते हैं। यह आपसे अवांछित माहौल में कार्य करा सकता है। शनि का सप्तम भाव में गोचर आपको स्वतन्त्र व्यवसाय की ओर प्रेरित कर सकता है।

धन-संपत्ति:

वर्ष २०१६ में शनि आपके स्वास्थ्य, भाग्य और सुखों को प्रभावित करेंगे। गुरु जनवरी के प्रथम सप्ताह से लेकर अगस्त माह तक वक्री अवस्था में तथा राहु के साथ युति सम्बन्ध में भी रहेंगे। गुरु इस वर्ष वित्तीय विषयों में बढ़ाएं डालेंगें । धन विनियोजन को प्रबल करने के लिये आपको पराक्रम से काम लेना होगा। विशिष्ठ जनों से वैचारिक मतभेदों के रहते आपको कार्यक्षेत्र में कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। आय में अनियमितता का भाव बना रहेगा।

घर-परिवार-समाज:

पारिवारिक सुख-समृद्धि के प्रबल योग बने हुए हैं। नववर्ष के प्रथम माह के साथ ही आपके संतान भाव से राहु का अशुभ प्रभाव हट रहा है। इससे संतान सुख बढे़गा, संतान के स्वास्थ्य में लाभ होगा। लम्बे समय से चली आ रही संतान संबन्धी दिक्कतों का अन्ततः समाधान हो जायेगा। छुपे हुए शत्रुओं से आपको धन हानि हो सकती है। सावधानी रखना उचित रहेगा।

स्वास्थ्य:

स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव बना रहेगा। अगस्त के बाद स्वास्थ्य संबन्धी कमी दूर होगी। शनि आपके सातवें भाव पर गोचर करेंगे। यहां से शनि आपके स्वास्थ्य भाव को प्रभावित कर आपको नाभि के नीचे के अंगों में रोग दे सकते हैं ।

करियर एवं प्रतियोगी परीक्षाएं:

वर्ष २०१६ में अगस्त माह तक गुरु-राहु की युति चतुर्थ भाव में बन रही है। यह युति माध्यमिक शिक्षा ग्रहण कर रहे शिक्षार्थियों के लिये भ्रम और असमंजस की स्थिति बनायेगी। इस समय माता का स्वास्थ्य व सुख-शान्ति भी प्रभावित रहेगी। शत्रुओं को परास्त करने के लिये आपको नीतियों में बदलाव करना पड़ सकता है।

यात्रा-प्रवास-तबादला:

विदेश यात्राओं के लिए इस साल आप जून-जुलाई माह का चुनाव कर विशेष शुभत्व का लाभ उठा सकते हैं। धर्म-कर्म से संबंधित गतिविधियों में आपकी रुचि आपको कई धार्मिक यात्राएं करा सकती हैं। यदि अपना कार्य करने का विचार बना रहे हैं तो आरम्भ किया जा सकता है।

धर्म-कार्य-ग्रह शांति:

एक मुखी रुद्राक्ष रविवार की प्रातः धारण करने से आपको सूर्य की शुभता प्राप्त होगी।

* These characteristics of Zodiac signs are general and should not be accepted literally because for complete analysis of the personality and nature of a person the Moon sign, ascendant sign and ascendant lord should also be analysed for which horoscope reading is inevitably essential.To get your free personalized horoscope click here

Pramukh Kundli Report

Sabse Adhik Bikane wali kundli prapt karein

Vedic Jyotish par aadharit vibhinna vedic kundli uplabdha hain. Upyogkarta apne pasand ki koi bhi kundli bana sakte hain.

Bhrigu Patrika

Prishtha :  190-191
Free Namoona : Hindi | Angrejee

Kundli Darpan

Prishtha :  90-91
Free Namoona : Hindi | Angrejee

Kundli Phal

Prishtha :  40-45
Free Namoona : Hindi | Angrejee

Matching-M3

Prishtha :  40-42
Free Namoona : Hindi | Angrejee

My Kundli

Prishtha :  21-24
Free Namoona : Hindi | Angrejee

Consultancy

Hamare visheshagya apki samashyayon ko hal karne ke liye taiyar hai.

Bharat ke prasiddha jyotishiyon se bhavishyavaniyan janiye. Jyotish ka uddeshya bhavishya ke sateek bhavishyavanee dene ke liye hai, lekin iski upyogita hamari samashyawon ko sahi aur prabhavi samadhan me nihit hai . Isliye aap apne mitra jyotishi se kewal apna bhavishya janne ke liye nahi balki samashyawon ka prabhavi samadhan prapt karne ke liye paramarsh karen.

Astrologer Arun Bansal

Arun Bansal

Anubhav:   30 Varsh

Vristrit Paramarsh

$ 59.99 Consult

Astrologer Yashkaran Sharma

Yashkaran Sharma

Anubhav:   18 Varsh

Vristrit Paramarsh

$ 39.99 Consult

Astrologer Abha Bansal

Abha Bansal

Anubhav:   15 Varsh

Vristrit Paramarsh

$ 39.99 Consult

free horoscope button