Sorry, your browser does not support JavaScript!
Leo

Mesh Rashi

Sakriya , nirdharit, prabhavi, mahatvakankshi

Shubh Ratna: Moonga
Shubh Rang: Lal
Shubh Ank: 5
Shubh Grah: Mangal
   
Share:

Read in english    हिन्दी में पढ़े

Bhautik Lakshan Mesh Rashi

madhyam kad, patla mansal sharir, lanba chehra aur gardan, chaura mastak, sir ya kanpti par nishan, sudrirh dantapakti, gol ankhen, ghunghrale bal.

Anya gun

mahatvakankshi, agrani aur utsahi, ariyal magar spashtavadi, vyavharik, saundarya, kala aur suruchi premi. sahsik, vad-vivad men ruchi, jhagralu. dharmik kattarapanthi, dhairyahin. jal se dar, bhraman priya, praranbhik jivan men sangharsh rahte hain. yojna banane men nipun, karyagti tivra, prashasan men saksham. dirghakalin karyon men aruchi. sankat ka samna karne ki pratibha parantu dirghakalin kashton se larne men aksham. durdrishti, adarshavadi, uchit-anuchit ke mapdandon ka svayan nirmata. laghu star ke karyon men aruchi, vishalkay udyamon se lagav. uttam svabhav aur akarshan, viprit ling ke vyakti prabhavit hote hain. jivan ka svayan nirmata, kami, prem prasangon men asafal. grih aur parivar se lagav, sada parivarjnon ke madhya rahna pasand karte hain. ghar ko saf-suthra rakhte hain. sarkar men uchch padon par asin.


Saubhagyashali Varsh Mesh Rashi :

16, 20, 28, 34, 41, 48, 51

Kashtaprad Varsh Mesh Rashi :

1, 3, 6, 8, 15, 21, 36, 40, 45, 56, 63

Sanbhavit Rog Mesh Rashi :

siradard, jalna, tivra jvar, pakshaghat, munhase, adha-sisi ka dard, chechak aur snayvik vyadhiyan. adhik vishram aur nidra, svadisht bhojan aur sabjiyon men ruchi.

ratnon ke rakhne ka sthan, dhatu, agni, khanij padarth, lal rang, pap rashi, milnsar, tunuk mijaj, jhuth bolna, prishthoday, purush rashi, krur rashi, agni tatva, rajo gun, dinbli hoti hai.

forced sex change stories click nifty.org free sex stories
how to find gps location of phone the-north.com apps tracking cell phone location
keflex sumatriptan 25mg clomiphene 25mg
walgreens store coupons blogs.visendo.com in store walgreens photo coupon

Mesh Rashi Ke upyukt vyawsay

Pulis, Sena, Khanan, Sivil seva, Rajniti, Medikal evan patrakarita

My girlfriend cheated on me riaservicesblog.net percent of women that cheat
the unfaithful husband yodotnet.com all women cheat
celeb beast sex stories dog sex stories stories explicit
prescription discount walgreens codes photo free drug coupons
finasteride mikemaloney.net cephalexin 250mg
walgreen photo deals open walgreens promo code

Mesh Rashi Ki Mitra Rashiyan

Kark, sinh, dhanu, min, vrishchik

Mesh Rashi ka Tatva

Ag

Mesh Rashi Ka sambaddha chakra

manipur


मासिक एवं वार्षिक राशिफल मेष राशि

दिसंबर

मेष

यह मास आपके लिए ग्रह गोचर के अनुसार पूर्वार्द्ध में विशेष लाभ, उन्नतिका रक नहीं रहेगा। बनते-बनते कार्यों में विघ्न-बाधाएं उत्पन्न होंगी। मास के उत्तरार्द्ध में परिस्थितियां धीरे-धीरे अनुकूल होने लगेंगी। पहले से रूके हुए कार्य बनने के संयोग बनेंगे।

स्वस्थ्य:

स्वास्थ्य की दृष्टि से यह मास सामान्य रूप से सकारात्मक रहेगा। सर्दी, जुकाम आदि शीत रोगों से बचने का प्रयास करें। सकारात्मक सोच रखें।

धन-सम्पत्ति:

आर्थिक मामलों में सोच-समझकर निर्णय लें, जल्दबाजी में पूंजी निवेश आदि न करें। पुरानी संपत्ति को बेचने की योजना बनेगी। नवीन संपत्ति के संबंध में भाग-दौड़ करनी पड़ सकती है।

कार्य व्यवसाय:

कार्यक्षेत्र पर गंभीरतापूर्वक ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी। निष्ठापूर्वक अपने कार्यों में लगे रहें। व्यवसाय करने वाले लोगों को धीमी गति से लाभ होगा। नवीन आय स्रोतों की ओर ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी।

प्रेम सम्बन्ध:

प्रेम संबंधों में संतुष्टि नहीं रहेगी। मन में तनाव रहेगा।

दाम्पत्य जीवन :

पति-पत्नी के मध्य घरेलू मसलों को लेकर कुछ मतभेद रहेंगे। अहंकार से बचने की कोशिश करें।

उपाय:

बुधवार के दिन भगवान विष्णु को तुलसी मंजरी अर्पण करें। विष्णु सहस्त्र्रनाम का पाठ करें।

स्वास्थ्य कष्ट:

8, 9, 10, 26, 28

2016

मेष राशि (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)

व्यवसाय:

वर्ष के पूर्वार्द्ध में भाग्येश गुरु अपने भाव से दृष्टि सम्बन्ध बनाकर भाग्य को बल प्रदान कर रहे हैं। इस वर्ष मेहनत और लग्न से किये गये कार्यों में सफलता की प्राप्ति होगी। आय वृद्धि के साथ-साथ व्ययों का भी विस्तार होगा। वर्षांत में स्थिति आपके पक्ष में आ जाएगी। अगस्त माह से गुरु अपनी राशि परिवर्तित कर आपके रोग (षष्ठ) भाव में गोचर करेंगे। गुरु की यह स्थिति स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी नहीं होगी परन्तु आजीविका, विदेश यात्रा, संचित धन के मामले में शुभ फलकारी रहेगी।

धन-संपत्ति:

वर्ष २०१६ आपके पुरुषार्थ भाव में वृद्धि करेगा। आप अपनी कर्मठता से अपने सभी लक्ष्यों को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। शनि अष्टम से दृष्टि दे आपके कार्य भार व दायित्वों में वृद्धि कर रहा है। उच्चाधिकारियों और अधीनस्थों से सम्बन्ध प्रभावित हो सकते हैं। सप्तम भाव से मंगल दशम भाव से सम्बन्ध बना रहे हैं। ऐसे में आर्थिक जीवन का सीधा सम्बन्ध परिश्रम, पराक्रम और साहस से बन रहा है। व्यापारिक समझौते करने लाभकारी रहेंगे।

घर-परिवार-समाज:

साल २०१६ आपके दाम्पत्य जीवन में सामान्य उतार-चढ़ाव की स्थिति उत्पन्न कर सकता है। पारिवारिक विषयों को लेकर चिंताएं सिर उठा सकती हैं। पंचम भाव में गुरु वक्री होकर राहु से युति सम्बन्ध बना रहा है। ऐसे में संतान सुख में दिक्कतें आ सकती हैं। पारिवारिक सुख-शान्ति की आपको तलाश रहेगी।

स्वास्थ्य:

वर्ष की शुरुआत में राशि स्वामी मंगल की स्थिति सप्तम भाव में रहेगी। इस वर्ष राहु छठे भाव में रोग और शत्रुओं से कष्ट बनाये रखेंगे। शनि अष्टम भाव में हड्डियों, जोड़ों का दर्द और पुराने रोगों की वापसी करा सकता है। द्वादश भाव में केतु का वास आपको अनिद्रा रोग दे सकता है।

करियर एवं प्रतियोगी परीक्षाएं:

वर्ष के शुरू में राहु षष्ठ भाव और केतु द्वादश भाव में बने रहेंगे। यह शत्रुओं पर आपका प्रभाव बढ़ायेगा व ऋणों में कमी करेगा । आथिर्क पक्ष हेतु यह योग लाभकारी रहेगा। तकनीकी विषयों, औषधि क्षेत्र, कम्प्यूटर साईंस, सिविल सर्विसेज से जुडे़ लोगों को सफलता मिलेगी।

यात्रा-प्रवास-तबादला:

वर्ष के पूर्वार्द्ध में विदेश गमन के कार्यक्रम बाधित हो सकते हैं। अगस्त माह से गुरु आपके षष्ठ भाव से विदेश भाव को दृष्टि देकर, इन बाधाओं को दूर कर रहा है। कार्यक्षेत्र से जुडे़ कार्यों हेतु आपके विदेश जाने के योग बन सकते हैं।

धर्म-कार्य-ग्रह शांति:

स्वास्थ्य लाभ के लिए महामृत्युंजय यन्त्र की स्थापना कराना आपके लिए श्रेयष्कर रहेगा व रोगमुक्ति हेतु ७ मुखी रुद्राक्ष धारण किया जा सकता है।

* These characteristics of Zodiac signs are general and should not be accepted literally because for complete analysis of the personality and nature of a person the Moon sign, ascendant sign and ascendant lord should also be analysed for which horoscope reading is inevitably essential.To get your free personalized horoscope click here

Pramukh Kundli Report

Sabse Adhik Bikane wali kundli prapt karein

Vedic Jyotish par aadharit vibhinna vedic kundli uplabdha hain. Upyogkarta apne pasand ki koi bhi kundli bana sakte hain.

Bhrigu Patrika

Prishtha :  190-191
Free Namoona : Hindi | Angrejee

Kundli Darpan

Prishtha :  90-91
Free Namoona : Hindi | Angrejee

Kundli Phal

Prishtha :  40-45
Free Namoona : Hindi | Angrejee

Matching-M3

Prishtha :  40-42
Free Namoona : Hindi | Angrejee

My Kundli

Prishtha :  21-24
Free Namoona : Hindi | Angrejee

Consultancy

Hamare visheshagya apki samashyayon ko hal karne ke liye taiyar hai.

Bharat ke prasiddha jyotishiyon se bhavishyavaniyan janiye. Jyotish ka uddeshya bhavishya ke sateek bhavishyavanee dene ke liye hai, lekin iski upyogita hamari samashyawon ko sahi aur prabhavi samadhan me nihit hai . Isliye aap apne mitra jyotishi se kewal apna bhavishya janne ke liye nahi balki samashyawon ka prabhavi samadhan prapt karne ke liye paramarsh karen.

Astrologer Arun Bansal

Arun Bansal

Anubhav:   30 Varsh

Vristrit Paramarsh

$ 59.99 Consult

Astrologer Yashkaran Sharma

Yashkaran Sharma

Anubhav:   18 Varsh

Vristrit Paramarsh

$ 39.99 Consult

Astrologer Abha Bansal

Abha Bansal

Anubhav:   15 Varsh

Vristrit Paramarsh

$ 39.99 Consult

free horoscope button