Sorry, your browser does not support JavaScript!
Leo

मेष राशि

सक्रिय , निर्धारित, प्रभावी, महत्वाकांक्षी

शुभ रत्न: मूंगा
शुभ रंग: लाल
शुभ अंक : 5
शुभ ग्रह: मंगल
   
Share:

Read in english    Eng(Transliterated)

भौतिक लक्षण मेष राशि :

मध्यम कद, पतला मांसल शरीर, लंबा चेहरा और गर्दन, चौड़ा मस्तक, सिर या कनपटी पर निशान, सुदृढ़ दंतपक्ति, गोल आंखें, घुंघराले बाल।

अन्य गुणः

महत्वाकांक्षी, अग्रणी और उत्साही, अड़ियल मगर स्पष्टवादी, व्यावहारिक, सौंदर्य, कला और सुरुचि प्रेमी। साहसिक, वाद-विवाद में रुचि, झगड़ालू। धार्मिक कट्टरपंथी, धैर्यहीन। जल से डर, भ्रमण प्रिय, प्रारंभिक जीवन में संघर्ष रहते हैं। योजना बनाने में निपुण, कार्यगति तीव्र, प्रशासन में सक्षम। दीर्घकालीन कार्यों में अरुचि। संकट का सामना करने की प्रतिभा परंतु दीर्घकालीन कष्टों से लड़ने में अक्षम। दूरदृष्टि, आदर्शवादी, उचित-अनुचित के मापदंडों का स्वयं निर्माता। लघु स्तर के कार्यों में अरुचि, विशालकाय उद्यमों से लगाव। उत्तम स्वभाव और आकर्षण, विपरीत लिंग के व्यक्ति प्रभावित होते हैं। जीवन का स्वयं निर्माता, कामी, प्रेम प्रसंगों में असफल। गृह और परिवार से लगाव, सदा परिवारजनों के मध्य रहना पसंद करते हैं। घर को साफ-सुथरा रखते हैं। सरकार में उच्च पदों पर आसीन।


सौभाग्यशाली वर्ष मेष राशि :

16, 20, 28, 34, 41, 48, 51

कष्टप्रद वर्ष मेष राशि :

1, 3, 6, 8, 15, 21, 36, 40, 45, 56, 63

संभावित रोग मेष राशि :

सिरदर्द, जलना, तीव्र ज्वर, पक्षाघात, मुंहासे, आधा-सीसी का दर्द, चेचक और स्नायविक व्याधियां। अधिक विश्राम और निद्रा, स्वादिष्ट भोजन और सब्जियों में रुचि।

रत्नों के रखने का स्थान, धातु, अग्नि, खनिज पदार्थ, लाल रंग, पाप राशि, मिलनसार, तुनुक मिजाज, झूठ बोलना, पृष्ठोदय, पुरुष राशि, क्रूर राशि, अग्नि तत्व, रजो गुण, दिनबली होती है।

मेष राशि के उपयुक्त व्यवसाय

पुलिस, सेना, खनन, सिविल सेवा, राजनीति, मेडिकल एवं पत्रकारिता

मेष राशि की मित्र राशि

कर्क, सिंह, धनु, मीन, वृश्चिक

मेष राशि का तत्व

आग

मेष राशि का संबद्ध चक्र

मणिपुर


मासिक एवं वार्षिक राशिफल मेष राशि

दिसंबर

मेष

यह मास आपके लिए ग्रह गोचर के अनुसार पूर्वार्द्ध में विशेष लाभ, उन्नतिका रक नहीं रहेगा। बनते-बनते कार्यों में विघ्न-बाधाएं उत्पन्न होंगी। मास के उत्तरार्द्ध में परिस्थितियां धीरे-धीरे अनुकूल होने लगेंगी। पहले से रूके हुए कार्य बनने के संयोग बनेंगे।

स्वस्थ्य:

स्वास्थ्य की दृष्टि से यह मास सामान्य रूप से सकारात्मक रहेगा। सर्दी, जुकाम आदि शीत रोगों से बचने का प्रयास करें। सकारात्मक सोच रखें।

धन-सम्पत्ति:

आर्थिक मामलों में सोच-समझकर निर्णय लें, जल्दबाजी में पूंजी निवेश आदि न करें। पुरानी संपत्ति को बेचने की योजना बनेगी। नवीन संपत्ति के संबंध में भाग-दौड़ करनी पड़ सकती है।

कार्य व्यवसाय:

कार्यक्षेत्र पर गंभीरतापूर्वक ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी। निष्ठापूर्वक अपने कार्यों में लगे रहें। व्यवसाय करने वाले लोगों को धीमी गति से लाभ होगा। नवीन आय स्रोतों की ओर ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी।

प्रेम सम्बन्ध:

प्रेम संबंधों में संतुष्टि नहीं रहेगी। मन में तनाव रहेगा।

दाम्पत्य जीवन :

पति-पत्नी के मध्य घरेलू मसलों को लेकर कुछ मतभेद रहेंगे। अहंकार से बचने की कोशिश करें।

उपाय:

बुधवार के दिन भगवान विष्णु को तुलसी मंजरी अर्पण करें। विष्णु सहस्त्र्रनाम का पाठ करें।

स्वास्थ्य कष्ट:

8, 9, 10, 26, 28

2016

मेष राशि (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)

व्यवसाय:

वर्ष के पूर्वार्द्ध में भाग्येश गुरु अपने भाव से दृष्टि सम्बन्ध बनाकर भाग्य को बल प्रदान कर रहे हैं। इस वर्ष मेहनत और लग्न से किये गये कार्यों में सफलता की प्राप्ति होगी। आय वृद्धि के साथ-साथ व्ययों का भी विस्तार होगा। वर्षांत में स्थिति आपके पक्ष में आ जाएगी। अगस्त माह से गुरु अपनी राशि परिवर्तित कर आपके रोग (षष्ठ) भाव में गोचर करेंगे। गुरु की यह स्थिति स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी नहीं होगी परन्तु आजीविका, विदेश यात्रा, संचित धन के मामले में शुभ फलकारी रहेगी।

धन-संपत्ति:

वर्ष २०१६ आपके पुरुषार्थ भाव में वृद्धि करेगा। आप अपनी कर्मठता से अपने सभी लक्ष्यों को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। शनि अष्टम से दृष्टि दे आपके कार्य भार व दायित्वों में वृद्धि कर रहा है। उच्चाधिकारियों और अधीनस्थों से सम्बन्ध प्रभावित हो सकते हैं। सप्तम भाव से मंगल दशम भाव से सम्बन्ध बना रहे हैं। ऐसे में आर्थिक जीवन का सीधा सम्बन्ध परिश्रम, पराक्रम और साहस से बन रहा है। व्यापारिक समझौते करने लाभकारी रहेंगे।

घर-परिवार-समाज:

साल २०१६ आपके दाम्पत्य जीवन में सामान्य उतार-चढ़ाव की स्थिति उत्पन्न कर सकता है। पारिवारिक विषयों को लेकर चिंताएं सिर उठा सकती हैं। पंचम भाव में गुरु वक्री होकर राहु से युति सम्बन्ध बना रहा है। ऐसे में संतान सुख में दिक्कतें आ सकती हैं। पारिवारिक सुख-शान्ति की आपको तलाश रहेगी।

स्वास्थ्य:

वर्ष की शुरुआत में राशि स्वामी मंगल की स्थिति सप्तम भाव में रहेगी। इस वर्ष राहु छठे भाव में रोग और शत्रुओं से कष्ट बनाये रखेंगे। शनि अष्टम भाव में हड्डियों, जोड़ों का दर्द और पुराने रोगों की वापसी करा सकता है। द्वादश भाव में केतु का वास आपको अनिद्रा रोग दे सकता है।

करियर एवं प्रतियोगी परीक्षाएं:

वर्ष के शुरू में राहु षष्ठ भाव और केतु द्वादश भाव में बने रहेंगे। यह शत्रुओं पर आपका प्रभाव बढ़ायेगा व ऋणों में कमी करेगा । आथिर्क पक्ष हेतु यह योग लाभकारी रहेगा। तकनीकी विषयों, औषधि क्षेत्र, कम्प्यूटर साईंस, सिविल सर्विसेज से जुडे़ लोगों को सफलता मिलेगी।

यात्रा-प्रवास-तबादला:

वर्ष के पूर्वार्द्ध में विदेश गमन के कार्यक्रम बाधित हो सकते हैं। अगस्त माह से गुरु आपके षष्ठ भाव से विदेश भाव को दृष्टि देकर, इन बाधाओं को दूर कर रहा है। कार्यक्षेत्र से जुडे़ कार्यों हेतु आपके विदेश जाने के योग बन सकते हैं।

धर्म-कार्य-ग्रह शांति:

स्वास्थ्य लाभ के लिए महामृत्युंजय यन्त्र की स्थापना कराना आपके लिए श्रेयष्कर रहेगा व रोगमुक्ति हेतु ७ मुखी रुद्राक्ष धारण किया जा सकता है।

* These characteristics of Zodiac signs are general and should not be accepted literally because for complete analysis of the personality and nature of a person the Moon sign, ascendant sign and ascendant lord should also be analysed for which horoscope reading is inevitably essential.To get your free personalized horoscope click here

प्रमुख कुंडली रिपोर्ट

सबसे अधिक बिकने वाली कुंडली रिपोर्ट प्राप्त करें

वैदिक ज्योतिष पर आधारित विभिन्न वैदिक कुंडली मॉडल उपलब्ध है । उपयोगकर्ता अपने पसंद की कोई भी कुंडली बना सकते हैं।

भृगुपत्रिका

पृष्ठ :  190-191
फ्री नमूना : हिन्दी | अंग्रेजी

कुंडली दर्पण

पृष्ठ :  90-91
फ्री नमूना : हिन्दी | अंग्रेजी

कुंडली फल

पृष्ठ :  40-45
फ्री नमूना : हिन्दी | अंग्रेजी

मैचिंग-३

पृष्ठ :  40-42
फ्री नमूना : हिन्दी | अंग्रेजी

माई कुंडली

पृष्ठ :  21-24
फ्री नमूना : हिन्दी | अंग्रेजी

कंसल्टेंसी

हमारे विशेषज्ञ अपकी समस्याओं को हल करने के लिए तैयार कर रहे हैं

भारत के प्रसिद्ध ज्योतिषियों से भविष्यवाणियां जानिए। ज्योतिष का उद्देश्य भविष्य के बारे में सटीक भविष्यवाणी देने के लिए है, लेकिन इसकी उपयोगिता हमारी समस्याओं को सही और प्रभावी समाधान में निहित है। इसलिए आप अपने मित्र ज्योतिषी से केवल अपना भविष्य जानने के लिए नहीं बल्कि अपनी समश्याओं का प्रभावी समाधान प्राप्त करने के लिए परामर्श करें |

Astrologer Arun Bansal

अरुण बंसल

अनुभव:   30 वर्ष

विस्तृत परामर्श

$ 59.99 Consult

Astrologer Yashkaran Sharma

यशकरन शर्मा

अनुभव:   18 वर्ष

विस्तृत परामर्श

$ 39.99 Consult

Astrologer Abha Bansal

आभा बंसल

अनुभव:   15 वर्ष

विस्तृत परामर्श

$ 39.99 Consult

free horoscope button